ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

चौथी पास के घर से निकले 11 आईएएस और आईपीएस

भारत में एक परिवार ऐसा है, जिसमें आईएएस और आईपीएस समेत 11 प्रथम श्रेणी के अफसर मौजूद हैं. मूल रूप से ये परिवार हरियाणा के जींद जिले के गांव डूमरखां कलां का है. इन सभी की सफलता का बड़ा क्रेडिट जाता है चौधरी बसंत सिंह श्योंकद एक ऐसा व्यक्ति, जिसे कलम की पॉवर का ख़ूब तकाज़ा था.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, चौधरी बसंत सिंह श्योंकद खुद चौथी क्लास पास थे. बीते महीने मई में उन्होंने 99 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कहा दिया. मगर वह अपने परिवार को इस औहदे तक पहुंचाने के लिए हमेशा याद किये जायेंगे.

अकेले बसंत सिंह के परिवार ने देश को दो आईएएस एक आईपीएस समेत 11 क्लास वन असफ़र हैं. कहा जाता है कि कम पढ़े-लिखे बसंत की दोस्ती हमेशा बड़े अफसरों से रही. उन्होंने ये सब देखते हुए अपने बच्चों को शिक्षा दी और इस तरह के नक़्शे कदम पर चलने के लिए प्रेरित किया. बसंत सिंह के बेटे-बेटी, बहु और पोती भी अफ़सर हैं. उनके चारों बेटे क्लास वन के अफ़सर हैं, जबकि बहु और पोता आईएएस हैं. इसके साथ, उनकी पोती आईपीएस है, तो एक आईआरएस अफसर है.

बसंत सिंह के बड़े बेटे रामकुमार श्योकंद कॉलेज के रिटायर्ड प्रोफेसर हैं, जिनका बेटा यशेंद्र आईएएस है और बेटी स्मिति चौधरी अंबाला में बतौर रेलवे एसपी तैनात हैं. स्मिति के पति बीएसएफ में आईजी हैं.

बसंत सिंह के दूसरे बेटे कॉन्फेड में जीएम थे और उनकी पत्नी डिप्टी डीइओ रही हैं. इस तरह यह लिस्ट बहुत लम्भी है. बहू-बेटे, पोता-पोती किसी न किस बड़े सरकारी पद पर काम कर रहे हैं. बसंत सिंह के लिए इससे ज्यादा गर्व की क्या बात हो सकती थी.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top