आप यहाँ है :

 

  • वाह भारतीय रेल्वे, जिसे लूटा उसी पर हर्जाने का  मुकदमा दर्ज करा दिया

    वाह भारतीय रेल्वे, जिसे लूटा उसी पर हर्जाने का मुकदमा दर्ज करा दिया

    भारतीय रेल के अधिकारी उस अंग्रेजी शासन की याद दिला रहे हैं जहाँ किसी अंग्रेज का कुछ बोलना ही कानून होता था और आम भारतीयों को उनके शोषण का शिकार होना पड़ता था। भोपाल के रेल अधिकारियों ने नियम,कानून, मानवीयता और शालीनता की तमाम हदें पार करते हुए रेल यात्रा में लूटपाट का शिकार हुई युवती के खिलाफ ही मामला दर्ज कर अंग्रेजी राज के काले किस्सों की हकीकत बयान कर दी है।

  • किसानों के दर्द में ऐसा जुड़िए जैसा जुड़ते हैं शिवराज

    किसानों के दर्द में ऐसा जुड़िए जैसा जुड़ते हैं शिवराज

    किसानों की बदहाली, बाढ़ व सूखा जैसी आपदाएं भारत जैसे देश में कोई बड़ी सूचना नहीं हैं। राजनीति में किसानों का दर्द सुनने और उनके समाधान की कोई परंपरा भी देखने को नहीं मिलती। किंतु पिछले कुछ दिनों में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जिस शैली में अपनी पूरी सरकारी मशीनरी में किसानों के दर्द के प्रति संवेदना जगाने का प्रयास कर रहे हैं वह अभूतपूर्व है।

  • पुरस्कार लौटाने वालों के लिए एक प्राचीन लोक कथा

    एक पिता की युवा औलाद एकदम नकारा थी । तंग आकर पिता ने ऐलान कर दिया की आज से खाना तभी मिलेगा जब 100 रुपये कमाकर लायेंगा । माँ ने नकारे बेटे को चुपचाप 100 रुपये दे दिये और कहा शाम को आकर बोल देना की कमाये है । शाम को लडका घर आया तो पिता को 100 रूपये दिखायें,पिता ने कहा इस नोट को नाली में फेँक आओं.....लडका तुरंत नोट नाली मे फेंक आया ।

  • सलमान की बहन के तलाक लेने की खबरें

    सलमान की बहन के तलाक लेने की खबरें

    सलमान खान की राखी बहन की शादी को लेकर फिल्मी दुनिया में अफवाह है कि पति-पत्नी के रिश्ते तलाक की कगार तक पहुँच गए हैं। सलमान के बहनोई पुलकित सम्राट सलमान की राखी बहन श्वेता रोहिरा के झगड़ों से उनके पड़ोसी तक परेशान हो गए हैं। पिछले साल ही पुलकित और श्वेता शादी हुई थी और खुद सलमान खान ने अपनी बहन का कन्यादान किया था।

  • किसानों को भजन सुनाकर आत्महत्या से बचा रहे हैं वरिष्ठ अधिकारी विजय कुमार

    किसानों को भजन सुनाकर आत्महत्या से बचा रहे हैं वरिष्ठ अधिकारी विजय कुमार

    औरंगाबाद (महाराष्ट्र)। सूखे की चपेट में आने वाले किसान आत्महत्या न करें, इसके लिए एक अधिकारी ने अनोखी तरकीब खोज निकाली है। वे सफेद धोती-कुर्ता पहनकर और सिर पर पगड़ी बांधकर सूखा पीडित गांव में जाते हैं और भक्ति भरे गीत गाकर और वीणा बजाकर लोगों को प्रेरित करते हैं कि उनका जीवन कितना अमूल्य है।

  • जसंख्या असंतुलन पर संघ की चिंता, प्रस्ताव लाया जाएगा

    जसंख्या असंतुलन पर संघ की चिंता, प्रस्ताव लाया जाएगा

    रांची के निकट महिलौंग के सरला बिरला स्कूल परिसर में आज से शुरू हुई संघ के तीन दिवसीय राष्ट्रीय कार्यमंडल की बैठक में देश की नई जनसंख्या रिपोर्ट की विसंगतियों पर एक प्रस्ताव लाया जाएगा। प्रचार प्रमुख ने बताया कि संघ के सबसे बड़े नीति निर्धारक मंडल की 30 अक्तूबर से बैठक शुरू हुई। यह बैठक दिवाली के पहले हर साल होती है।

  • 68 साल में भी हम गुलाम के गुलाम ही रहे

    68 साल में भी हम गुलाम के गुलाम ही रहे

    हमारे देश को आजाद हुए 68 साल हो गए लेकिन हम अभी भी गुलाम के गुलाम ही हैं। इसका प्रमाण है- हमारी शिक्षा पद्धति! आज तक देश में जितनी भी सरकारें बनी हैं, उन सबने अंग्रेजी की गुलामी की और वे सब घर बैठ गईं। आज भी हिन्दुस्तान में चिकित्सा और कानून की पढ़ाई सिर्फ अंग्रेजी में होती है।

  • ‘ये हैं मोहब्बतें’  में नया मोड़

    ‘ये हैं मोहब्बतें’ में नया मोड़

    स्टार प्लस के धारावाहिक ‘ये हैं मोहब्बतें’ में जल्द ही एक और नायकीय मोड़ देखने को मिलेगा। पिछले एपिसोड्स में बम ब्लास्ट, फिर इशिता का मिस कैरिज, रमन भल्ला की बहन रिंकी का मर्डर, शो में शगुन (अनीता हंसनंदानी) सुसाइड कर लेना और इसके बाद शगुन की आत्मा का इशिता को परेशान करना जैसी घटनाओँ के बाद आने वाले एपिसोड में इस बात का खुलासा होगा कि शगुन की जुड़वां बहन भी हैं, शगुन की ये जुड़वां बहन रमन (करन पटेल) और इशिता (दिव्यांका त्रिपाठी) से शगुन की मौत का बदला लेगी।

  • भारतीय पत्रकारों के लिए जर्मनी की फैलोशिप

    मीडिया एंबेसडर इंडिया-जर्मनी फेलोशिप प्रोग्राम के लिए भारतीय पत्रकारों से आवेदन मांगे गए हैं। यह प्रोग्राम रॉबर्ट बॉच द्वारा इंटरनेशनल मीडिया सेंटर हैंबर्ग के साथ मिलकर चलाया जा रहा है। फेलोशिप के लिए चयनित आवेदकों को अप्रैल से जून तक जर्मनी जाना होगा। भारतीय पत्रकार 31 अक्‍टूबर तक इस फे‍लोशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं।

  • ज़ी थिएटर पर देखिये नाटकों की नई दुनिया

    ज़ी थिएटर पर देखिये नाटकों की नई दुनिया

    जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड ने जी थिएटर की शुरुआत के साथ ही थिएटर प्रोडक्‍शन की दिशा में अपने कदम बढ़ा दिए हैं। इसके तहतअर्थात नाटककारों और थिएटर के दिग्‍गजों के साथ भागीदारी कर अगले तीन सालों में 100 से ज्‍यादा नाटक तैयार किए जाएंगे। दर्शकों की सुविधा के लिए इस कवायद के तहत तैयार थिएटर को सभी मंचों पर उपलब्ध कराया जाएगा।

Get in Touch

Back to Top