आप यहाँ है :

 

  • हिंदी के दुश्मन हिंदी भाषी नेता और हिंदी की कमाई खाने वाले

    हिंदी के दुश्मन हिंदी भाषी नेता और हिंदी की कमाई खाने वाले

    हिंदी पट्टी के राजनेता जनता को यही डर दिखाकर अरसे से उनके वोट अपनी झोली में डालते आए हैं कि वे हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाएंगे ताकि वह अंग्रेजी के महानद में सिमटकर गायब न हो जाए। उत्तर प्रदेश फतह के बाद हिंदी पट्टी का बाजार भाव और भी तेजी से ऊपर उछला तो नेता, राजनीतिक

  • भाजपा चलाएगी दल बदल एक्सप्रेस

    भारतीय जनता पार्टी के सत्ता में आने के बाद जिस तेजी से कांग्रेस से लेकर आप तक के नेता अपनी पार्टी छोड़कर भाजपा में जा रहे हैं और ये सिलसिला रुकने का नाम ही नहीं ले रहा है उसे लेकर भाजपा में इस बात पर चिंतन चल रहा है कि ऐसे लोगों के लिए दल बदल एक्सप्रेस के नाम से विशेष रेल चलाई जाए।

  • कश्मीर में हिंसा और वार्ता नहीं चल सकते एक साथ

    कश्मीर में हिंसा और वार्ता नहीं चल सकते एक साथ

    बड़ा सवाल है कि क्या हिंसा और बातचीत साथ-साथ चल सकती है? कश्मीर में पत्थरबाज़ उपद्रवियों पर पैलेट गन का इस्तेमाल प्रतिबंधित नहीं करने के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने इस सवाल का जवाब दे दिया है कि हिंसा और वार्ता एक साथ नहीं हो सकते। जम्मू कश्मीर बार एसोसिएशन की पैलेट गन के ख़िलाफ़

  • ग्लोबलगिविंग की भारत में संभावनाभरी दस्तक

    ग्लोबलगिविंग की भारत में संभावनाभरी दस्तक

    दुनियाभर के दानदाताओं को भारत में दान के लिये प्रोत्साहित किये जाने की दृष्टि से क्राउडफंडिंग एक सशक्त माध्यम है। भारत के लिए क्राउडफंडिंग भले ही नया हो पर इसकी अपार संभावनाएं हैं। आने वाले समय में क्राउडफंडिंग भारत की विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं, सेवा उपक्रमों एवं धार्मिक कार्यों

  • पाकिस्तानः खिसियानी बिल्ली खम्बा नोंचे

    पाकिस्तान की ये नागवार हरकते इस कहावत को सौ प्रतिशत चरितार्थ करता है ।पाकिस्तान अंतरास्ट्रीय मंच पर अलग थलग पड़ गया है अमरीका की लताड़ सैकड़ो बार पड़ चुकी है चीन की पुचकार से उसका वहम कायम रहता है ।लेकिन चीन के लिए फायदा भारत का आर्थिक साझेदार बनकर है ना कि

  • राष्ट्रीय ख्याति के बीसवें अम्बिकाप्रसाद दिव्य पुरस्कारों हेतु पुस्तकें आमंत्रित

    "साहित्य सदन" भोपाल द्वारा राष्ट्रीय ख्याति के बीसवे अम्बिकाप्रसाद दिव्य स्मृति प्रतिष्ठा पुरस्कारों हेतु साहित्य की अनेक विधाओं में पुस्तकें आमंत्रित की गई हैं । उपन्यास , कहानी , कविता , व्यंग , निबन्ध एवं बाल साहित्य विधाओं पर प्रत्येक के लिए इक्कीस सौ रुपये राशि के पुरस्कार प्रदान किये जायेंगे ।

  • नव निर्माण के लिए हुआ ध्वंस हॉल ऑफ नेशंस

    नव निर्माण के लिए हुआ ध्वंस हॉल ऑफ नेशंस

    दिल्ली की वह मशहूर इमारत जो, राजधानी के प्रगति मैदान को पहचान थी, ढहा दी गयी है. इस हॉल ऑफ नेशंस नामक ऐतिहासिक हॉल में अमिताभ बच्चन और शशि कपूर स्टारर फिल्म त्रिशूल की भी शूटिंग हुई थी।

  • साध्वी से नेता कैसे बनी उमा भारती

    साध्वी से नेता कैसे बनी उमा भारती

    अलौकिक ईश्वरीय प्रतिभा से सुसंपन्न ज्योतिर्मयी, एक सुलझी हुई राजनेत्री के साथ साथ एक प्रखर वक्ता, गंगा की निर्मल धारा के समान पवित्र व्यक्तित्व की धनी, केंद्रीय जल संसाधन और गंगा संरक्षण मंत्री साध्वी उमाश्री भारती का जन्म लोधी राजपूत परिवार में 03 मई 1959 को मध्य प्रदेश के अंतर्गत टीकमगढ़ जिले के डूंडा

  • विभोम स्‍वर का अप्रैल-जून 2017 अंक अब ऑनलाइन

    विभोम स्‍वर का अप्रैल-जून 2017 अंक अब ऑनलाइन उपलब्‍ध है। इस अंक में शामिल है :- सम्पादकीय, मित्रनामा। साक्षात्कार, अंशु जौहरी से सुधा ओम ढींगरा की बातचीत। कहानियाँ- एक कायर दास्ताँ... (हर्ष बाला शर्मा ), माँ और मोबाइल (सुदर्शन वशिष्ठ ), थी, हूँ, रहूँगी (शिवानी कोहली ), इंतज़ार

  • विनोद खन्नाः अभियन की पाठशाला के प्रिसिंपल … .!!

    विनोद खन्नाः अभियन की पाठशाला के प्रिसिंपल … .!!

    अस्सी के दशक में होश संभालने वाली पीढ़ी के लिए उन्हें स्वीकार करना सचमुच मुश्किल था। जिसका नाम था विनोद खन्ना। क्योंकि तब जवान हो रही पीढ़ी के मन में अमिताभ बच्चन सुपर मैन की तरह रच - बस चुके थे।

Get in Touch

Back to Top