आप यहाँ है :

 

  • ‘श्रीराम संस्कृति की झलक’ पुस्तक का विमोचन

    ‘श्रीराम संस्कृति की झलक’ पुस्तक का विमोचन

    रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अपने निवास पर ‘श्रीराम संस्कृति की झलक’ पुस्तक का विमोचन किया। इस पुस्तक के लेखक पूर्व विधायक श्री राजेश्री डॉ. महंत राम सुन्दर दास हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि 946 पृष्ठों की इस पुस्तक में छत्तीसगढ़ के सभी मंदिरों की स्थापत्य कला, मंदिर के रख-रखाव, पूजा के विधान तथा छत्तीसगढ़ के विभिन्न धार्मिक पर्वों और व्रतों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है।

  • छत्तीसगढ़ की कई रेल परियोजनाओँ को स्वीकृति मिली

    छत्तीसगढ़ की कई रेल परियोजनाओँ को स्वीकृति मिली

    रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और रेल एवं कोयला मंत्री श्री पीयूष गोयल के बीच आज मुख्यमंत्री निवास में आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में छत्तीसगढ़ से संबंधित अनेक रेल परियोजनाआंे को स्वीकृति दी गई। रेल मंत्री श्री गोयल ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के आग्रह पर जगदलपुर-विशाखापट्नम ट्रेन को किरंदुल तक बढ़ाने की स्वीकृति प्रदान की। उन्होंने बैठक में मौजूद रेल अधिकारियों को तत्काल इस पर अमल करने के निर्देश दिए। इससे नक्सल प्रभावित क्षेत्र में रेल आवागमन की सुविधा बढ़ेगी। रेल मंत्री ने चिरमिरी होते हुए नागपुर रोड हॉल्ट और मनेन्द्रगढ़ के बीच साढ़े दस किलोमीटर नई रेल लाईन को भी मंजूरी प्रदान की। इस पर होने वाला व्यय 50 प्रतिशत रेलवे और 50 प्रतिशत राज्य सरकार वहन करेगी।

  • छत्तीसगढ़ राज्योत्सव में लोक कलाकारों ने समाँ बांधा

    छत्तीसगढ़ राज्योत्सव में लोक कलाकारों ने समाँ बांधा

    रायपुर। छत्तसीगढ़ राज्योत्सव के प्रथम दिवस शुभारंभ के अवसर पर नया रायपुर में पंडित श्यामा प्रसाद मुखर्जी उद्योग एवं व्यापार परिसर में कार्यक्रम स्थल पर छत्तीसगढ़ सहित विभिन्न राज्य के कलाकारों ने मनभावन सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी। पार्श्व गायक सुखविंदर सिंह और उनकी टीम ने शानदार फिल्म नृत्य संगीत प्रस्तुत किया, जिससे दर्शकों को रोमांचित कर दिया। वहीं पर छत्तीसगढ़ के कलाकारों की परम्परागत लोकवाद्यों के साथ मनमोहक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। स्कूली और कॉलेज के विद्यार्थियों ने छत्तीसगढ़ का लोक प्रिय सुआ नृत्य और पंथी, नृत्य की प्रस्तुतियों को दर्शकों ने खूब सराहा। बस्तर बैंड के कलाकारों की बस्तर की संस्कृति पर आधारित सांस्कृति प्रस्तुतियां प्रस्तुत की। एक भारत श्रेष्ठ भारत योजना के तहत गुजरात राज्य से आये वहां के लोगों ने गुजरात की संस्कृति एवं ऐतिहासिक रंगारंग प्रस्तुतियों ने समां बांधा। इस अवसर पर गणमान्य नागरिक एवं भारी जनसमुदाय मौजूद रहा।

  • डॉ. सुभाष चन्द्रा के जन्म दिन पर जानिये उनके बहुआयामी व्यक्तित्व को

    डॉ. सुभाष चन्द्रा के जन्म दिन पर जानिये उनके बहुआयामी व्यक्तित्व को

    डॉ. सुभाष चंद्रा आज किसी परिचय को मोहताज नहीं है। डॉ. चंद्रा एक ऐसी शख्स़ियत हैं जिन्होंने इस देश में सबसे पहले निजी क्षेत्र सैटेलाईट चैनल लाकर देश में मनोरंजन से लेकर मीडिया जगत तक में क्रांति कर दी। आज से दस साल पहले किसी ने सोचा भी नहीं था कि देश में सैकड़ों सैटैलाईट चैनल हो जाएंगे जो घर घर में हर भाषा और हर समुदाय की रुचि के अनुसार मनोरंजक और शैक्षणिक कार्यक्रमों का प्रसारण करेंगे। देश में इस सैटेलाईट क्रांति के जनक डॉ. सुभाष चंद्रा हैं जिन्होंने देश के लोगों को घर बैठे मनोरंजक कार्यक्रम दिखाने का एक सपना देखा और उसे हक़ीकत में बदल कर भी दिखा दिया।

  • भारत के संविधान ने देश के लोगों को दिया अपना भाग्य  आप लिखने का अनोखा अधिकार – डॉ. चन्द्रकुमार जैन

    भारत के संविधान ने देश के लोगों को दिया अपना भाग्य आप लिखने का अनोखा अधिकार – डॉ. चन्द्रकुमार जैन

    राजनांदगांव। शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय के राष्ट्रपति सम्मानित प्राध्यापक और सतत सृजनरत प्रखर वक्ता डॉ. चन्द्रकुमार जैन ने संविधान दिवस पर आयोजित विशिष्ट व्याख्यान-सत्र में भारत के संविधान की प्रस्तावना पर मर्मस्पर्शी और ज्ञानवर्धक विचार व्यक्त किया। महाविद्यालय के राजनीति विज्ञान विभाग के इस गरिमामय आयोजन में बड़ी संख्या में उपस्थित छात्र-छात्राओं को डॉ. जैन ने बहुत सरल शब्दों में अपनी सुपरिचित तथा प्रभावशाली शैली से संविधान की प्रस्तावना के आदर्श, उद्देश्य और प्रभाव की जानकारी दी। एक-एक शब्द को एक-एक पल पूरी जिज्ञासा के साथ मंत्रमुग्ध होकर सुनने के बाद विद्यार्थियों ने एकमतेन स्वीकार किया कि उन्हें अपने संविधान और राष्ट्र पर गर्व करने नया फलसफ़ा मिल गया।

  • सुरेंद्र मिश्रा और राज शर्मा को पत्रकारिता कोश का श्रेष्ठ सूचना ब्यूरो सम्मान

    सुरेंद्र मिश्रा और राज शर्मा को पत्रकारिता कोश का श्रेष्ठ सूचना ब्यूरो सम्मान

    मुंबई। लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज भारत की प्रथम मीडिया डायरेक्टरी "पत्रकारिता कोश" के 17वें अंक का विमोचन शनिवार, दि. 25 नवंबर, 2017 को शाम 5.00 बजे यशोदा हॉल, पंडित इस्टेट, जोशी बाग, कल्याण (पश्चिम) में संपन्न हुआ. ऊँ शिवम सत्संग ट्रस्ट एवं सोनावणे कॉलेज, कल्याण के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित इस समारोह की अध्यक्षता के.जे. सोमैया कॉलेज के हिंदी विभागाध्यक्ष डॉ. सतीश पांडेय ने की.

  • महाराष्ट्र राज्य हिंदी साहित्य अकादमी के पुरस्कारों की घोषणा

    मुंबई : महाराष्ट्र राज्य हिन्दी साहित्य अकादमी द्वारा वर्ष 2016-17 के पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में हिन्दी के प्रचार-प्रसार एवं विकास हेतु सतत रूप से प्रयासरत हिन्दी साहित्य अकादमी द्वारा प्रतिवर्ष हिन्दी सेवियों को पुरस्कृत किया जाता है। अकादमी द्वारा दिए जाने वाले ये पुरस्कार अखिल भारतीय, राज्य स्तरीय तथा विधागत होते हैं। सभी पुरस्कृत व्यक्तियों को अकादमी द्वारा आयोजित एक सम्मान समारोह में नगद पुरस्कार, स्मृति चिह्न तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है।

  • कार हुई बेकार, साईकिल की सवारी बचा रही है एक घंटा

    तकनीकी रणनीतिकार सत्य शंकरन हफ्ते में दो दिन साइकल चलाते हुए अपने दफ्तर तक जाते हैं। उनके घर से दफ्तर की दूरी करीब 20 किलोमीटर है और इस तरह वह आने-जाने में 40 किलोमीटर का सफर साइकल से ही तय करते हैं। उत्तर बेंगलूरु से दक्षिण बेंगलूरु तक के अपने सफर में वह शहर की कई व्यस्त सड़कों से होकर गुजरते हैं। लेकिन कार के बजाय साइकल से जाने पर वह कम-से-कम एक घंटे का समय बचा लेते हैं। शंकरन को अब साइक्लिंग करना इस कदर रास आने लगा है कि वह इसके मुरीद बन चुके हैं। वह कहते हैं, 'साइकल एक तरह से हमारे शरीर का ही हिस्सा बन जाती है। इससे हमें काफी लचीलापन मिल जाता है।'

  • अगर एटीएम से पैसे नहीं निकले तो बैंक आपको 100 रु. रोज देगा

    अगर आप एटीएम से पैसे निकाल रहे हैं और पैसे निकालते वक्त आपके खाते से तो पैसे कट गए लेकिन एटीएम से पैसे नहीं निकले तो बैंक आपके पैसे 7 दिन के अंदर-अंदर अपने आप आपके अकाउंट में जमा कर देता है। आरबीआई के नियम के मुताबिक जिस बैंक में आपका अकाउंट है वह बैंक 100 रुपए रोजाना पेनल्टी के तौर पर देगा।

  • मुंबई में 4-4 पीढ़ियों से रहने वाले लोग दूसरे राज्य के नहीं हो सकते- मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस

    मुंबई में 4-4 पीढ़ियों से रहने वाले लोग दूसरे राज्य के नहीं हो सकते- मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस

    मुंबई। घाटकोपर में शिक्षण महर्षि आई डी सिंह चौक का उद्‌घाटन करते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि उत्तर भारतीयों ने मुंबई का गौरव बढ़ाया है। उत्तर भारत की गंगा-जमुना तहबीज मुंबई में पूरी तरह से घुल-मिल गई है। यहां अलग-अलग राज्यों से आने वाले लोग अलग-अलग बोलियां बोलते हैं। मुंबई में चार-चार पीढ़ियों से रहने वाले लोग मराठी हैं, चाहे वे कोई भी भाषा बोलते हों। हम लोग एक दूसरे से नाता रखने वाले लोग हैं। मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया कि मुंबई विश्वविद्यालय परिसर में डॉ. राममनोहर त्रिपाठी हिंदी भाषा भवन बनेगा और उनके नाम पर बीकेसी की सड़क भी बनेगी।

Back to Top