आप यहाँ है :

 

  • ‘सीआईयू क्रिमिनल्स यूनिफॉर्म’: इसका हर पन्ना किसी फिल्म की तरह आँखों से गुजरता है

    ‘सीआईयू क्रिमिनल्स यूनिफॉर्म’: इसका हर पन्ना किसी फिल्म की तरह आँखों से गुजरता है

    अपराध जगत को लेकर हिंदी और अंग्रेजी में ऐसे तो कई पुस्तकें आई है, लेकिन मुंबई में जाने माने उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के सामने एक अज्ञात वाहन में जिलेटिन रखने और इसके बाद के रोमांचक, खौफनाक, रहस्यमयी और हर पल एक नई साजिश को उजागर करने वाले घटनाक्रम को लेकर जाने माने पत्रकार संजय सिंह और राकेश त्रिवेदी की पुस्तक ‘सीआईयू क्रिमिनल्स यूनिफॉर्म’ एक ऐसी पुस्तक है जो पाठकों को अलपराध जगत से लेकर पुलिस की अंदरूनी व्यवस्था, राजनीतिक षड़यंत्र, घात-प्रतिघात की एक रहस्यमयी दुनिया की सैर कराती है।

  • वैश्विक निवेशकों की पहली पसंद बनता जा रहा है उत्तर प्रदेश

    वैश्विक निवेशकों की पहली पसंद बनता जा रहा है उत्तर प्रदेश

    उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार प्रदेश को अपराध मुक्त, दंगामुक्त तथा भयमुक्त बनाने के बाद आर्थिक विकास के लिए संकल्पवान होकर राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को आकर्षित करने के लिए लगातार कदम उठा रही है जिसका स्पष्ट परिणाम भी दिखाई देता दिखाई दे रहा है।

  • ठुकराया हुआ वीर:हिन्दू जाति की ऐतिहासिक भूलों पर आंसू रुलाने वाली सच्ची घटना

    कंटीले जंगलों और पथरीली पहाड़ियों के बीच अपनी सैकड़ों कोसों की यात्रा पैदल ही पूरी कर वह भागा हुआ कैदी अपनी जन्म भूमि बून्दी दुर्ग के निकट अन्त में पहुंच ही गया। इस संकटमयी यात्रा में कितनी ही रातें इसने पेड़ों पर सोते और जागते हुए बितायी थीं। कितने ही दिन भूखे प्यासे रहकर कंटीली झाड़ियों और नुकीली पथरीली पहाड़ियां, जंगली दरिन्दों की भयानक और डरावनी आवाजें सुनते हुए ही चलते-चलते गुजारे थे। शरीर के कपड़े झाड़ियों के कांटों में उलझ-उलझ कर तार-तार हो गये थे। नंगे पैर कांटों और नुकीले पत्थरों के चुभन से लहूलुहान हो रहे थे। इस भयानक यात्रा में जंगली कंदमूल खा-खाकर इस भागे हुए कैदी को अपने पेट की आग बुझानी पड़ती थी।

  • वैदिक साहित्य और संस्कृति को जन जन तक पहुँचाने के लिए समर्पित डॉ. विवेक आर्य

    वैदिक साहित्य और संस्कृति को जन जन तक पहुँचाने के लिए समर्पित डॉ. विवेक आर्य

    आर्यसमाज से परिचय - मेरे परदादा जी श्री राम-किशन आर्य जी ने स्वामी दयानन्द जी के दर्शन दिसम्बर 1878 से जनवरी 1879 के मध्य रिवाड़ी आगमन के समय किये थे। वही से स्वामी दयानन्द जी के भाषणों को सुनकर एवं उनके प्रतापी तेज से प्रभावित होकर वैदिक धर्मी बन गए। आपने आर्यसमाज हांसी, जिला हिसार की स्थापना 1902 में की थी। आप ग्राम खांडा खेड़ी, जिला जींद में वैदिक विद्वान आर्य मुनि जी एवं पौराणिक पंडितों के मध्य शास्त्रार्थ एवं उत्सव करवाने वाले आर्यों में शामिल थे एवं लाला लाजपत राय के नजदीकी थे। मेरे दादा स्वर्गीय श्री ब्रहमराज आर्य जी आर्यसमाज के हैदराबाद आंदोलन एवं हिंदी आंदोलन के भाग रहे।

  • संगीत और नृत्य की अद्भुत और रंजक जुगलबंदी

    संगीत और नृत्य की अद्भुत और रंजक जुगलबंदी

    नृत्य ऐसी विधा है जिसमें कला और कलाकार एकाकार हो जाते हैं। बात अगर भरत नाट्यम जैसे शास्त्रीय नृत्य की हो तो कला और कलाकार को एकाकार होते देखने पर सौंदर्य, संगीत और आंगिक अभिनय का चरमोत्कर्ष प्रकट होने लगता है। नवनृत्यांगना आद्या का भरत नाट्यम अपने आप में एक विलक्षण प्रस्तुति की तरह दर्शकों के दिल और दिमाग में रच बस गई।

  • भारत के संविधान की उपादेयता

    भारत के संविधान की उपादेयता

    राजनीतिक व्यवस्था में राज्य (देश के लिए प्रयुक्त) किया जाता है ।संविधान राज्य की सर्वोच्च विधि होती है अर्थात विधिक संप्रभु (De jure)संविधान ही है ,यह शासक एवं शासित के संबंधों का मौलिक दस्तावेज है। भारत के संविधान को संसार का सर्वाधिक वृहद संविधान कहा जाता है,क्योंकि इसमें 395 अनुच्छेद,22भाग और 12अनुसूची है,इसके आधार पर हम इसको संसार का सबसे बृहद संविधान कहा जाता है। भारत का संविधान भारतीयों का आत्मा है।

  • मामस,भुवनेश्वर शाखा द्वारा मामस की राष्ट्रीय अध्यक्षा नीरा बथवाल का नागरिक अभिनन्दन

    मामस,भुवनेश्वर शाखा द्वारा मामस की राष्ट्रीय अध्यक्षा नीरा बथवाल का नागरिक अभिनन्दन

    भुवनेश्वर । मारवाडी महिला समिति भुवनेश्वर शाखा की अध्यक्षा नीलम अग्रवाल की अगुआई में अखिल भारतवर्षीय मारवाडी महिला समिति की राष्ट्रीय अध्यक्षा नीरा बथावल,उत्कल प्रांतीय अध्यक्षा चंदा संतुका, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ.संध्या अग्रवाल, मामस उत्कल प्रांत की निवर्तमान प्रांतीय अध्यक्षा ललिता अग्रवाल,प्रांतीय सचिव प्रतिमा सिंघी आदि का भुवनेश्वर शाखा की ओर से पुष्प पंखुडियां की बारिशकर,राजस्थानी लोकगीतगायनकर तथा जयकारे के साथ भव्य स्वागत हुआ। सभी मेहमानों को अंगवस्त्र, पुष्पगुच्छ तथा स्मृतिचिह्न आदि भेंट किया गया। सभी ने परम्पारगत दीपप्रज्ज्वलन किया।स्वागत भाषण शाखा अध्यक्षा नीलम अग्रवाल ने दिया।शाखा अध्यक्ष नीलम अग्रवाल ने बताया हर सत्र में प्रांतीय अध्यक्ष एवं राष्ट्रीय अध्यक्षा के द्वारा यह शाखा दौरा होता है और यह दौरा तो शाखा के लिए ऐतिहासिक रहा। इसमें हमें राष्ट्रीय अध्यक्षा से शाखा के कार्यों के बारे में दिशानिर्देश मिला तथा और भी बहुत कुछ उनसे सीखने को मिला। उन्होंने यह भी बताया कि इस शाखा दौरे के अनेक कार्यक्रमों में हमने देवराज स्कूलपीठ में जो प्रतिदिन नृत्य सिखाया जाता है,एवं गोपबंधु स्कूल में जो प्रतिदिन योगा सिखाया जाता है और महिला सशक्तिकरण पर एक नाटक प्रस्तुत किया गया। आज राष्ट्रीय अध्यक्षा एवं प्रांतीय अध्यक्षा के द्वारा एमपी ओल्ड में एक कमरा का निर्माण करवाया गया उसका उद्घाटन एवं बीडीए मिनी मार्केट में वाटर कूलर का उद्घाटन इनके द्वारा कराया गया। एक जरूरतमंद व्यक्ति को व्हीलचेयर दिया गया । राष्ट्रीय अध्यक्षा नीरा बथवाल ने मामस,भुवनेश्वर शाखा के सभी सेवाप्रकल्पों की जानकारी प्राप्तकर शाखा की अध्यक्षा नीलम अग्रवाल और उनकी समस्त सहयोगियों को हार्दिक बधाई दी तथा नये वर्षः2023 की मंगलकामना की। अवसर पर अंचल प्रमुख स्नेहा गुप्ता,प्रांत सेवा प्रमुख मीना अग्रवाल, शाखा की सभी पूर्व शाखा अध्यक्षाएं ,शाखा की बहनें आदि उपस्थित थीं। धन्यवाद ज्ञापन एवं राष्ट्रगान के साथ आगत मामस की राष्ट्रीय अध्यक्षा नीरा बथवाल का शाखा दौरा बडे ही सौहार्दपूर्ण वातावरण में संपन्न हुआ‌।

  • कीट को मिला फिक्की इण्डिया स्पोर्ट्स अवार्ड

    कीट को मिला फिक्की इण्डिया स्पोर्ट्स अवार्ड

    26 नवंबर को भुवनेश्वर स्थित कीट डीम्ड विश्वविद्यालय को नई दिल्ली में फेडरेशन ऑफ इण्डियन चैंबर्स ऑफ कमर्स की ओर से फिक्की इण्डिया स्पोर्ट्स अवार्ड प्रदान किया गया।कीट जीम्ड विश्वविद्यालय की ओर से यह अवार्ड कीट के महानिदेशक डॉ.गगनेंदु दाश ने ग्रहण किया।गौरतलब है कि कीट विगत लगभग 20 वर्षों से खेल के क्षेत्र में अनेक ओलंपियन समेत अनेक उल्लेखनीय और प्रशंसनीय स्थान प्राप्त किया है

  • विजय जोशी मुंशी प्रेम चंद कथाकार सम्मान और श्यामा शर्मा सुभद्रा कुमारी चौहान बाल साहित्य सम्मान

    विजय जोशी मुंशी प्रेम चंद कथाकार सम्मान और श्यामा शर्मा सुभद्रा कुमारी चौहान बाल साहित्य सम्मान

    कोटा । युवा उत्कर्ष साहित्यिक मंच, दिल्ली के द्वारा नवें अखिल भारतीय साहित्य महोत्सव, सम्मान समारोह, गीतांजलि हाल, दिल्ली पब्लिक लाइब्रेरी, दिल्ली में आयोजित किया गया।

    • By: डॉ. प्रभात कुमार सिंघल
    •  ─ 
    • In: खबरें
  • पश्चिम रेलवे पर 73वां संविधान दिवस मनाया गया

    पश्चिम रेलवे पर 73वां संविधान दिवस मनाया गया

    मुंबई। 26 नवंबर, 2022 को हमारे देश का 73वां संविधान दिवस पश्चिम रेलवे पर बड़े उत्साह के साथ मनाया गया। आज ही के दिन 26 नवंबर, 1949 को संविधान सभा द्वारा भारत के संविधान को अपनाया गया था। पश्चिम रेलवे के अपर महाप्रबंधक श्री प्रकाश बुटानी द्वारा पश्चिम रेलवे मुख्यालय कार्यालय, चर्चगेट में रेलवे अधिकारियों और कर्मचारियों को प्रस्तावना का वाचन करवाया गया।

Get in Touch

Back to Top