आप यहाँ है :

छत्तीसगढ़ के 27 युवाओं को मिलेगा कलेक्टर बनने का मौका

नायक फिल्म की तर्ज पर  छत्तीसगढ़ सरकार एक अनूठी पहल करने जा रही है। सरकार की पहल से छत्तीसगढ़ के 27 युवाओं को 27 जिले का कलेक्टर बनने का मौका मिलेगा।

दरअसल मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के कार्यकाल के 14 साल पूरे होने पर और स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर में ग्रास रूट स्तर पर छत्तीसगढ़ के युवाओं को राज्य सरकार की योजनाओं से जोड़ने के लिए आयोजित किया जा रहा है।  “यूथ स्पार्क- खेलेगा छत्तीसगढ़ जीतेगा छत्तीसगढ़” प्रतियोगिता के सर्वश्रेष्ठ 27 प्रतिभागी हैं। ये प्रतिभागी प्रदेश भर के 519 कॉलेज के लगभग 5 लाख युवाओं से चार चरणों में कड़ा संघर्ष करने के बाद अंतिम पांचवे चरण में पहुंचे हैं|

प्रतियोगिता का अंतिम चरण 9 जनवरी को आयोजित किया जा रहा है | इस चरण में सभी 27 प्रतिभागी एक दिन के लिए शैडो कलेक्टर की भूमिका में जिला कलेक्टर के साथ प्रशासनिक कार्यों में सम्मिलित होंगे। इस दौरान होने वाली बैठक, विभागों की समीक्षा बैठक, विभिन्न कार्यों का निरीक्षण एवं विभिन्न समस्याओं के निदान की प्रकिया में शामिल होंगे | इस हेतु राज्य शासन द्वारा सभी जिला कलेक्टर को निर्देश दे दिए गए हैं।

पांचवे चरण के लिए चयनित सभी प्रतिभागी 9 जनवरी को सुबह 10:30 बजे से अपने- अपने आबंटित जिलों में जिला कार्यालय पहुचकर शैडो कलेक्टर की भूमिका में जिला कलेक्टर के साथ सभी गतिविधियों में भाग लेंगे| दिनभर की गतिविधियों में भाग लेने के बाद सम्बंधित जिले की ताकत क्या है, उसकी समस्या क्या है, कैसे उसका समाधान निकाला जा सकता है| वर्तमान में उपलब्ध संसाधन में ही जिले को कैसे देश का सर्वश्रेष्ट जिला बना सकते हैं? उसकी क्या कार्ययोजना हो सकती है ?  इस पर उन्हें शाम को 5 बजे के बाद 3 मिनट का स्वयं का विडियो बनाकर दिए गए लिंक पर अपलोड करने का टास्क दिया गया है। आपको बता दें कि 27 प्रतिभागियों में से टॉप 3 विजेता का चयन सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी, वरिष्ठ पत्रकार, साहित्यकारों की जूरी 10 जनवरी को करेगी | इस प्रतियोगिता के प्रथम विजेता को 51,000 रूपये , द्वितीय को 31,000 रूपये और तृतीय को 21,000 का पुरस्कार दिए जायेंगे | इन्हें 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर रायपुर के इनडोर स्टेडियम में आयोजित युवा उत्सव में मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह सम्मानित करेंगे।



सम्बंधित लेख
 

Back to Top