A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Only variable references should be returned by reference

Filename: core/Common.php

Line Number: 257

Hindi Media
header-logo

हिंदी के विश्वदूत - इन्द्रदेव भोला इन्द्रनाथ

यदि मॉरीशस को हिंदी और हिन्दुस्तानियों का द्वीप कहा जाए तो शायद अनुचित न होगा। माना जाता है कि नागरिकों के रूप में मॉरीशस में भारतीयों  का आगमन 1834 के करीब हुआ था लेकिन इसके पूर्व भी फ्रांसिसी काल में वहाँ पर कुछ भारतीयों को कारीगर के रूप में ले जाया गया था और  व्यापारियों, नाविकों व  सिपाहियों के रूप में भारतीयों का आगमन हो चुका था।

readmore
READMORE

कम्प्यूटर और हिन्दी ; नया दौर, नई मंज़िलें

हमारी जनशक्ति देश की और हमारी हिन्दी की भी ताकत है। बहुत साल नहीं हुए जब हम अपनी विशाल आबादी को अभिशाप मानते थे। आज यह हमारी कर्मशक्ति मानी जाती है। भूतपूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम ने सही कहा है: ‘अधिक आबादी अपने आप में कोई समस्या नहीं है, समस्या है उस की ज़रूरियात को पूरा न कर पाना। 

readmore
READMORE

'हिन्‍दीचेतना' का जुलाई-सितम्‍बर 2015 अंक इंटरनेट पर

कैनेडा से प्रकाशित त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका 'हिन्‍दीचेतना' का जुलाई-सितम्‍बर 2015 अंक (वर्ष : 17, अंक : 67) अब इंटरनेट परउपलब्‍ध है। सम्पादकीय, उद्गार, साक्षात्कार: प्रताप सहगल: प्रेम जनमेजय। कहानियाँ: प्रश्न-कुंडली: गीताश्री, काँच की दीवार: नीलम मलकानिया, केस नम्बर पाँच सौ सोलह: माधव नागदा, अग्निपरीक्षा: प्रो. शाहिदा शाहीन। व्यंग्य: जब मैं अमरीका गया, सुधाकर अदीब। 

readmore
READMORE

अंग्रेजी के आगे चूहे बन जाते हैं सरकार चलाने वाले

दिल्ली के एक उच्च शिक्षा-संस्थान के दीक्षांत समारोह में बोलते हुए गृहमंत्री राजनाथसिंह ने वही बात कह डाली, जो हम कभी गांधीजी, लोहियाजी और दीनदयाल उपाध्यायजी के मुंह से सुना करते थे। वे कहते थे कि अंग्रेजी या किसी भी विदेशी भाषा से नफरत करना ठीक नहीं है लेकिन उस भाषा की गुलामी करना अपने आपका पतन करना है।

readmore
READMORE

हिंदी व भारतीय भाषाओं के कार्य से संबंधित सोशल मीडिया समूहों के संबंध में शोध एवं उनका दस्तावेजीकरण ।

पिछले कुछ समय से अन्तर्जाल यानि इंटरनेट पर हिंदी व भारतीय भाषाएँ तेजी से पाँव पसार रहीं हैं । हिंदी व भारतीय भाषाओें के प्रयोग व प्रसार में वृद्धि व इनके साहित्य के विकास व प्रसार में भी सोशल मीडिया महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। 

readmore
READMORE

ऑक्सफोर्ड शब्दकोश में शामिल हुए हिन्दी के शब्द

हिंदी भाषा के कुछ ऐसे शब्दों को जो 1845 से अंग्रेजी भाषा में प्रयोग किए जा रहे हैं, उन्हें अब मशहूर ऑक्सफोर्ड शब्दकोश में शामिल कर लिया गया है। अलग-अलग तरीके से बोले जाने वाले ये शब्द जैसे- अरे यार, चूड़ीदार, भेलपुरी और ढाबा। 

readmore
READMORE

जनरल वी.के.सिंह ने किया दसवें विश्व हिन्दी सम्मेलन के सचिवालय का उद्घाटन

10 से 12 सितम्बर 2015 को भोपाल में होने वाले दसवें विश्व हिन्दी सम्मेलन के सचिवालय का उद्घाटन आज माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय में किया गया। 

readmore
READMORE

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में हिन्दी में ड्रायविंग परीक्षा होगी

संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में अब ड्राइविंग के लिए दिए जाने वाला थ्योरी टेस्ट और इसके लिए होने वाले लेक्चर्स में हिंदी भाषा का विकल्प भी मिलेगा। सरकार ने तीन और भारतीय भाषाओं मलयालम, तमिल और बंगाली को भी सितंबर....

readmore
READMORE

हिन्दी बनाम अंग्रेजी

कुछ मित्रों ने मुझे फिर से सुझाव भेजे कि आप हिन्दी सेंटर चलाते हैं तो सिर्फ हिन्दी में क्यों नहीं लिखते ? आप हिन्दी के आलवा अंग्रेजी और अन्य भाषा में भी क्यों लिखते हो ? इस बात पर मैं अपने विचार प्रकट करना चाहता हूँ।  

readmore
READMORE

केरल के कॉलेज में हिन्दी में राष्ट्रीय संगोष्ठी

केरल राज्य में स्थित  एम्.इ .एस अस्माबी कोलेज के हिंदी विभाग को
भारतीय साहित्य में सिविल  सैनिक संबंध  नमक विषय पर राष्ट्रीय संगोष्टी
चंलाने की अनुमति विश्व विद्यालय अनुदान आयोग ने दिया है .

readmore
READMORE

डॉ. रैणा हिंदी सलाहकार समिति में

प्रसिद्ध साहित्यकार और शिक्षाविद डॉ. शिबन कृष्ण रैणा को भारत सरकार द्वारा  हाल ही में जारी की गयी विज्ञप्ति के अनुसार “विधि एवं न्याय मंत्रालय” की हिंदी सलाहकार समिति में गैर-सरकारी सदस्य के तौर पर मनोनीत किया गया है।

readmore
READMORE

चीन में भी हिन्दी और हिन्दी वालों का जलवा

आप को मालूम है कि चीन में हिंदी पढ़ने-पढाने की शुरुआत सन 1945 में हो गई थी जब पीकिंग युनिवर्सिटी में हिंदी विभाग शुरु हुआ,और एक समय वह भी था जब पीकिंग युनिवर्सिटी के हिंदी विभाग में पांच-पांच छह-छह भारतीय हिंदी अध्यापक थे।

readmore
READMORE
author