A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Only variable references should be returned by reference

Filename: core/Common.php

Line Number: 257

Hindi Media
header-logo

गुड्डू रंगीला (हिंदी ड्रामा )

ज़िंदगी दो बातों से चलती है।एक या तो आप उसे काबू कर लें या फिर उसके काबू में हो जाएँ। बस इतनी सी बात कहती है अरशद वारसी, अमित साध, अदिति राव हैदरी, अमित स्याल, रोनित रॉय, विरेदनृ सक्सेना, संदीप गोयल, अमित स्याल, अरुण वर्मा, विशाल शर्मा,  दिव्यन्दु भट्टाचार्य, राजीव गुप्ता श्री स्वरा  गुप्ता और  बिजेंद्र काला के अभिनय वाली  निर्देशक सुभाष कपूर की नयी फिल्म गुड्डू रंगीला।

readmore
READMORE

थोड़ा लुत्फ, थोड़ा इश्क (हिंदी ड्रामा)

दो टूक: कोई माने या ना माने पर सच है कि इश्क तो करने की चीज ही है लुत्फ़ उठाने की नहीं।  तो सावधान। हितेन तेजवानी, राजपाल यादव, नेहा कपूर, संजय मिश्रा, भाविता आनंद, राकेश बेदी और  सुष्मिता मुखर्जी की मुख्य भूमिकाओं वाली निर्देशन सचिन गुप्ता की फिल्म थोड़ा लुत्फ, थोड़ा इश्क भी यही सबक देती है।

readmore
READMORE

आई लव एन वाई / न्यू इयर (हिंदी ड्रामा )

दो टूक : प्रेम कब होगा पता नहीं। आप कितना भी चाहे इस मामले में  आपकी मर्जी नहीं  चलेगी।  बस इतनी सी बात कहती है राधिका राव-विनय सप्रू जैसी जोड़ी निर्देशकों  की सनी देओल, कंगना रनोट, तनिषा चटर्जी , प्रकाश राज, मनोज जोशी , रीमा लागू , विराग मिश्रा, सुरेखा सिकरी, प्रेम चोपड़ा, लिलिट  दुबे, फर्ज़िल,  माया अलग और  नवीन चौधरी के  अभिनय वाली आई लव एन वाई / न्यू इयर।

readmore
READMORE

ए बी सी डी : २ (थ्री डी ड्रामा )

कहते हैं जीतने के लिए सिर्फ हौंसले और जोश ही काफी नहीं होते बल्कि उनके साथ सोच समझ और सच का होना भी जरुरी है. निर्देशक रेमो डिसूजा की वरुण धवन, श्रद्धा कपूर, प्रभुदेवा, राघव जुयाल, पुनीत पाठक,

readmore
READMORE

हमारी अधूरी कहानी (सस्पेंस ड्रामा )

 रिश्ते कैसे बनते हैं और किस बिनाह पर ज़िंदा रहते हैं। क्या हम किसी ऐसे रिश्ते पर यकीन कर उसके साथ हो सकते हैं जो हमारे वर्तमान को हमारी तरह जीता है या फिर किसी ऐसे भूले रिश्ते के साथ एक याद के सहारे ज़िंदगी बिता दें जिसे न हमारे वर्तमान की परवाह हो और न ही बीते हुए कल की।  

readmore
READMORE

तनु वेड्स मनु रिटर्न्स ( हिंदी ड्रामा )

रिश्तों को  सम्भालना सबको नहीं आता।  उन्हें  भी नहीं जो रिश्तों के लिए अपनी जान तक देने के लिए तैयार रहते हैं।  उन्हें ये तब समझ आता है जब रिश्ते एक नए रास्ते चल पड़ते हैं।  

readmore
READMORE

दिल धड़कने दो (हिंदी ड्रामा )

रिश्तों की कोई तय परिभाषा नहीं होती। न ही वो आपके हिसाब से  चलते हैं।  हाँ, एक बात आपके बस में है और वो है जैसे वो आपको ले जाएँ आपको चलना होगा।  लेकिन रिश्तों की ईमानदारी इतनी जरूर होती है कि अगर आप उन्हें बुलाना चाहे तो वो लौटने की कोशिश जरूर करते हैं।

readmore
READMORE

मार्गरिटा विद ए स्ट्रॉ

जिंदगी संबंधों और भावनाओं की उथल-पुथल का नाम ही है पर अगर उसे कोई आकर संभाल ले तो वो बस एक आगोश में सिमट जाती है निर्देशक शोनाली बोस की कल्कि कोइचलिन, रेवती और  सयानी गुप्ता के अभिनय वाली फिल्म मार्गरिटा विद ए स्ट्रॉ. 

readmore
READMORE

वरिष्ठ फिल्म समीक्षक

रिश्तों की कोई तय परिभाषा नहीं होती. वो कब क्या सूरत अखितियार करेंगे कुछ नहीं कहा जा सकता.  लेकिन  इतना तय है कि अगर उन्हें संभलकर जिया जाए तो फिर उनकी परिभाषा ही नहीं बदलती बल्कि हमारे जीने का सलीका भी बदल जाता है।

readmore
READMORE

सरहद पार सिनेमा: स्त्री अस्मिता का संघर्ष है 'रेज द रेड लैंटर्न'

झांग यिमोउ चीन के सर्वाधिक प्रतिष्ठित फिल्मकारों में से एक हैं। चीनी सिनेमा को विश्व पटल पर स्थापित करने में उनका बड़ा योगदान है। उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अनेक पुरस्कार मिल चुके हैं।

readmore
READMORE

क्लब सिक्सटी [हिंदी कामेडी ] कथा

दो टूक : जो लोग उम्र को सुख और रिश्तों की सीमा मानते हैं या सोचते हैं कि सिर्फ गम उनके हिस्से हैं तो उनके लिए संजय त्रिपाठी की सतीश शाह, टीनू आनंद,..

readmore
READMORE

रा ... राजकुमार [हिंदी एक्शन कथा ]

दो टूक : कौन  कहता है कि पैसा और ताकत ही सबकुछ होता है . प्रेम करके तो देखिये इसकी ताकत इन दोनों से बड़ी मिलेगी .

readmore
READMORE
author