A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Only variable references should be returned by reference

Filename: core/Common.php

Line Number: 257

Hindi Media
header-logo

महिला आईएएस ने कहा, देश में कोई महिला के रूप में जन्म न ले!

'मैं केवल यही दुआ कर सकती हूं कि इस देश में कोई महिला के रूप में जन्म न ले। देश में महिला के रूप में जन्म लेना किसी गुनाह से कम नहीं है।' यह दर्द मध्यप्रदेश कैडर की ट्रेनी आईएएस का है। यौन उत्पीड़न की शिकार हुई इस अफसर ने कहा, यहां तो हर शाख पर उल्लू बैठा है।

readmore
READMORE

ऑटो में मेरे पीछे कोई चाकू लिए बैठा था, एक यवती के खौफनाक अनुभव

बेंगलुरु की युवती रंजनी शंकर के रात में सुरक्षित घर पहुंचने और एक ऑटो चालक के उसके लिए मददगार साबित होने संबंधी पोस्ट बीते सप्ताह फेसबुक पर वायरल हुआ था। इसके बाद इस घटना के विपरीत बेंगलुरु से ही अब एक ऐसा पोस्ट सामने आया है जो महिलाओं की सुरक्षा पर फिर सवाल खड़े कर रहा है।

readmore
READMORE

गिलगिट बास्टिस्तान को लेकर भारत को आगे आना होगा

गिलगिट बल्टिस्तान को लेकर भारत सरकार को स्पष्ट नीति अपनाना चाहिए, क्योंकि ये क्षेत्र शताब्दियों से भारतीय क्षेत्र रहा है और आज भी यहाँ के लोग चाहते हैं कि उनके बच्चों के लिए भारत के मेडिकल, इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट कॉलेजों में कोटा रखा जाए।

readmore
READMORE

मुंबई रेलः मुंबई की धड़कनों को सुनने और समझने की ज़रुरत

सुचेता दलाल पत्रकारिता के क्षेत्र में एक ऐसा नाम है जिनके नाम की वजह से देश की पत्रकारिता को गौरव और सम्मान की नज़रों से देखा जाता है। आज जहाँ खबरिय़ा चैनल को गला पाड़ू और कान फोड़ू एंकर रिपोर्टर किसी मदारी और बंदर के तमाशे का लाईव शो करते दिखाई देते हैं,...

readmore
READMORE

टुकड़े-टुकड़े हो बिखरती मर्यादा का महीन सवाल

ब्रिटिश अखबार गार्डियन में प्रकाशित अपने लंबे लेख के एक अंश 'वट्स रॉंग विद मॉडर्न वर्ल्ड' में अमेरिकी लेखक जोनाथन फ्रेंजन ने जिन मुद्दों को उठाया, उन पर सलमान रुश्दी ने प्रतिक्रिया क्या दी थी शुरू हो गया एक लिटरेरी ट्विटर वार। आइए देखें, इस झगड़े की जड़ क्या है। आखिर जोनाथन ने कहा क्या-

readmore
READMORE

भ्रष्टाचार का गरलःनिजात नहीं सरल

चाणक्य ने कहा था कि जिस तरह अपनी जिह्ना पर रखे शहद या हलाहल को न चखना असंभव है, उसी प्रकार सरकारी कोष से संबंधित व्यक्ति राजा के धन का उपयोग न करे, यह भी असंभव है।

readmore
READMORE

15 वीं सदी का वो रहस्यमयी रुसी यात्री जो भारत आया था!

15 वीं सदी में भौगोलिक खोजों का युग शुरू हुआ| लोगों ने दुनिया के बारे में जानने की कोशिशें शुरू कीं; निडर यात्री नई दुनिया, नए मार्ग, नए देश तलाशने में जुट गए| यूरोप से अनेक भारत तक पहुँचने की चाह लेकर अनजान और लम्बी समुद्रीयात्राओं पर निकल पड़े| 

readmore
READMORE

अंदाज़-ए-बयां कुछ और …

विक्टर ह्यूगो ने कहा कि उस विचार को रोक पाना नामुमकिन है, जिसका वक्त आ गया हो। 
उनका यह विचार स्वयं अनोखा है। विचारों का संसार भी अनूठा है। कब,कहाँ,किस सन्दर्भ में कौन-सी बात किस तरह सूझ जायेगी और उसे कैसे अभिव्यक्ति का अवसर मिल जाएगा, कहा नहीं जा सकता। 

readmore
READMORE

भारत में जन्म लेने वाले अधिकतर बच्चे और उन्हें जन्म देने वाली गर्भवती माताएँ कुपोषित

विकास के लम्बे-चौड़े दावों और ‘बेटी बचाओ’ जैसे सरकारी नुमायशी अभियानों के बावजूद एक नंगी सच्चाई यह है कि भारत में  जन्म लेने वाले अधिकतर बच्चे और उन्हें जन्म देने वाली गर्भवती माँएँ कुपोषित होती हैं। 

readmore
READMORE

स्मार्ट पुलिस ; परिवर्तनकारी क़दम

भारत देश का मौजूदा दौर कई परिवर्तनकारी क़दमों का हमराह बन रहा है। वह शिक्षा में गुणवत्ता का पहलू हो या स्वच्छ भारत के स्वप्न को साकार करने का सवाल, समयबद्ध परिणाममूलक काम की हिदायत हो या फिर जनता पर भरोसे को मज़बूत करने का ऐलान

readmore
READMORE

घास है तो बाघ हैं ! कान्हा टाइगर रिजर्व में घास प्रबन्धन

एशिया के सर्वश्रेष्ठ टाइगर रिजर्व में से एक कान्हा के मुख्य आकर्षण हैं बाघ। बाघों को पर्याप्त मात्रा में स्वस्थ शाकाहारी जानवर उपलब्ध होते रहे इसके लिए कान्हा कोर जोन के 8 प्रतिशत भाग को घास मैदान के रूप में विकसित किया गया है। घास मैदान विस्थापित वन ग्रामों में हैं।

readmore
READMORE

खिलने दो खुशबू पहचानो,कलियों को मुसकाने दो

हरियाणा सरकार ने भ्रूणहत्या करने वाले की सूचना देने वालों को एक लाख रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है।राज्य में गिरते लिंग अनुपात में सुधार लाने के लिए यह फैसला लिया गया है। 

readmore
READMORE
author