A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Only variable references should be returned by reference

Filename: core/Common.php

Line Number: 257

Hindi Media
header-logo

सवाल प्रधानमंत्री पद की गरिमा का?

भारतीय जनता पार्टी के नेताओं में अटल बिहारी वाजपेयी एक ऐसे नेता का नाम है जिन्हें न केवल एक कवि,एक कुशल राजनेता,एक अच्छे कूटनीतिज्ञ तथा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार के सफल प्रधानमंत्री के रूप में जाना जाता है बल्कि देश के अन्य पूर्व प्रधानमंत्रियों की तुलना में उन्हें सबसे कुशल वक्ता के रूप में भी जाना जाता है।

readmore
READMORE

स्वतंत्रता को सार्थक दिशा दें

पन्द्रह अगस्त हमारे राष्ट्र का गौरवशाली दिन है, इसी दिन स्वतंत्रता के बुनियादी पत्थर पर नव-निर्माण का सुनहला भविष्य लिखा गया था। इस लिखावट का हार्द था कि हमारा भारत एक ऐसा राष्ट्र होगा जहां न शोषक होगा, न कोई शोषित, न मालिक होगा, न कोई मजदूर, न अमीर होगा, न कोई गरीब। 

readmore
READMORE

कलयुग के यह स्वयंभू भगवान

भारतवर्ष को पूरे विश्व में विभिन्न प्रकार के धर्मों,आस्थाओं,नाना प्रकार के विश्वास तथा अध्यात्मवाद के लिए जाना जाता है। इस देश की धरती ने जितने महान संत,फ़क़ीर तथा अध्यात्मिक गुरू पैदा किए उतने संभवत: किसी अन्य देश में नहीं हुए। यही वजह है कि भारतवर्ष को राम-रहीम,बुद्ध और नानक की धरती के रूप में जाना जाता है। 

readmore
READMORE

‘…..के भूत’ बातों से नहीं मानते

पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर राज्य के ऊधमपुर में एक बार फिर स्थानीय लोगों के सहयोग से भारतीय सुरक्षा बलों को पाकिस्तान से सीमा पार कर भारत में प्रवेश करने वाले एक आतंकवादी को जीवित गिरफ़तार करने में बड़ी सफलता हाथ लगी। 

readmore
READMORE

नौकरशाही खो रही है आपकी चमकः कुछ करिए सरकार

नरेंद्र मोदी के चाहने वाले भी अगर उनकी सरकार से निराशा जताने लगे हों तो यह उनके संभलने और विचार करने का समय है। कोई भी सरकार अपनी छवि और इकबाल से ही चलती है। चाहे जिस भी कारण से अगर आपके चाहने वालों में भी निराशा आ रही है तो आपको सावधान हो जाना चाहिए।

readmore
READMORE

साहित्य या तमाशा?

पिछले दिनों फ़ेसबुक पर वास्तविकता से भरा हुआ एक व्यंग्य पढ़ने को मिला जो इस प्रकार था-‘एक अंग्रेज़ डॉक्टर भारत में घूम-फिर रहा था। वह एक बुक स्टॉल पर गया और वहां उसकी नजर एक पुस्तक पर पड़ी। मात्र 20 रुपये मूल्य की इस पुस्तक का शीर्षक था-‘मात्र एक महीने में घर बैठे डॉक्टर बनें’।

readmore
READMORE

विरोध इसलिए कि संस्थान में संस्कारवान लोग नहीं चाहिए

मुंबई फिल्म उद्योग के ज्यादातर दिग्गज जहां जहां बाहुबली पर मुंह सिले हुए हैं वहीं वे एफटीआईआई में अध्यक्ष पद पर फिल्म एवं टीवी अभिनेता गजेन्द्र चौहान की नियुक्ति के मामले में खूब मुखर दिखते हैं। ऋषि कपूर और उनके बेटे रणबीर कपूर ने क्या बयान दिए, ये सब जानते हैं। अब कोई इनसे पूछे कि इस संस्था के पद पर कोई भी बैठे, इन्हें क्या फर्क पड़ता है।

readmore
READMORE

प्रधानमंत्री कार्यालय में अंग्रेजी का राज

माननीय प्रधानमंत्री हिंदी को वरीयता देते हैं पर उनके कार्यालय ("प्रमका") के अधिकारियों को राजभाषा हिन्दी से कोई लेना देना नहीं है इसलिए भारत सरकार द्वारा आरम्भ की आम जनता की योजनाओं की जानकारी केवल अंग्रेजी में जारी कर रहे हैं और स्वयं प्रमं के दृष्टिकोण को पलीता लग रहा है और हर योजना -राजकार्य में अंग्रेजी को प्राथमिकता दी जा रही है. 

readmore
READMORE

क्षेत्रवाद की राजनीति से जम्मू-कश्मीर के लोगों के हितों पर कुठाराघात

जम्मू कश्मीर राज्य के निबासी पहले ही ६ दशकों से भी अधिक समय से मानसिक दूविदाओं और विवादों के वातावरण से जूझ रहे है इस लिए क्षेत्रबाद की राजनिति करने बालों को रोकने के लिए इस राज्य के लोगों को एकजुट होना होगा . 

readmore
READMORE

हाईवे पर फैला लूट व ठगी का जाल

लोगों के घरों व दुकानों में जाकर तथा रास्ता चलते राहगीरों को बहला-फुसला कर या उन्हें झांसा अथवा लालच देकर ठगने अथवा लूटने की दास्तानें तो हम अक्सर सुनते ही रहते हैं। कभी कोई शातिर ठग अथवा लुटेरा किसी के आभूषणों को साफ करने के बहाने उसके सोने व चांदी के ज़ेवरात उड़ा ले जाता है। 

readmore
READMORE

भारत के संबिधान के अनुच्छेद 35ए की वैधता ही संदेह के दायरे में

क्या  सिर्फ राष्ट्रपति के एक आदेश संबिधान ( जम्मू कश्मीर को लागु होना) आदेश १९५४ स.आ.४८  मई १४ १९५४ द्वारा संबिधान के अनुच्छेद ३७० के खंड -१ से शक्ति ले कर  भारत के संविधान में संशोधन किया जा सकता है इस पर मैंने लगातार पिछले ५ साल से प्रश्न किए हैं .

readmore
READMORE

सब मेरे चाहने वाले हैं, मेरा कोई नहीं

सब मेरे चाहने वाले हैं, मेरा कोई नहीं
मैं भी इस मुल्क में उर्दू की तरह रहता हूं

readmore
READMORE
author