A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Only variable references should be returned by reference

Filename: core/Common.php

Line Number: 257

Hindi Media
header-logo

सांस्कृतिक प्रहार एक जिहादी मानसिकता

चर्चित व विवादित फ़िल्म "पी. के." में शिव जी को टॉयलेट में दिखाओ तो भावनाये आहत नहीं और  आतंकवादियो को मॉकड्रिल में  गोल टोपी (जो कि प्रायःसत्य है )में दिखाना अपराध हो गया ..? 

readmore
READMORE

आतंकवाद नहीं यह जिहाद है... समझो

हम पेशावर या अन्य कही पर हुए आतंकवादी आक्रमणों को कब तक आपके समाचार पत्रो  में छपे लेखो "दहला देने वाला हमला" , "पागलपन की पराकाष्ठा", "आतंक का कहर" ,"मानवता के हत्यारे " "इंसानियत के दुश्मन"आदि आदि को पढ़ कर इसके  वीभत्स चेहरे को कोसते रहेंगे ?  

readmore
READMORE

क्रेडिट ट्रांसफर : कालेज में अब चुन सकेंगे मनचाहे विषय

पंडित रविशंकर विश्वविद्यालय, रायपुर में एक क्रांतिकारी फैसले के अनुसार च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम ( सीबीसीएस ) लागू किया जा रहा है। इस योजना का लाभ आगामी सत्र यानी 2015-16 के विद्यार्थियों को मिलेगा। इससे विषय चुनाव के बंधन से मुक्ति मिलेगी। लिहाज़ा विद्यार्थी एक कोर्स के साथ इस सिस्टम के तहत अन्य मनचाहे विषय भी पढ़ सकेंगे।

readmore
READMORE

भारतीय संविधान –आम जनता के साथ एक सुनियोजित और संगठित धोखाधड़ी

हमारा नेतृत्व भारतीय संविधान की भूरी-भूरी प्रशंसा करता है और जनता को अक्सर यह कहकर गुमराह करता रहता है कि हमारा संविधान विश्व के विशाल एवं विस्तृत संविधानों में से एक होने से यह एक श्रेष्ठ संविधान है| दूसरी ओर इसके निर्माण के समय ही इसे शंका की दृष्टि से देखा गया था|

readmore
READMORE

असभ्यताओं के संघर्ष का समय !

फ्रांस से लेकर सीरिया, ईराक, अफगानिस्तान, पाकिस्तान से लेकर दुनिया के तमाम देशों में बहता खून आखिर क्या कह रहा है? मानवता के शत्रु, पंथ की नकाब पहनकर मनुष्यों के खून की होली खेल रहे हैं। वे यह सारा कुछ ‘पंथ राज्य’ की स्थापना के लिए हो रहा है।

readmore
READMORE

ये है इस्लाम का घृणित चेहरा

सीरिया और इराक में ‘इस्लामी राज्य’ के लिए लड़ रहे मुजाहिदों ने अपने मुंह पर चौथी बार कालिख पोत ली है। एलान हेनिंग की गर्दन काटने के पहले भी वे तीन गोरों की गर्दन काट चुके हैं। गर्दन काटने के वीभत्स वीडियो भी वे जारी कर रहे हैं। इन चार लोगों में से दो अमेरिकी हैं और दो ब्रिटिश। दो पत्रकार थे और दो समाजसेवी।

readmore
READMORE

मोहन भागवत और मोदीजी के आव्हान में गलत क्या है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और संघ प्रमुख मोहन भागवत ने भारत की जनता के नाम जो आह्वान किए हैं, वे अत्यंत प्रशंसनीय हैं लेकिन क्या वे सिर्फ सांकेतिक नहीं हैं? खादी पहनना, साफ सफाई करना, स्वदेशी वस्तुओं और स्वभाषा का प्रयोग करना, गोरक्षा, नशामुक्ति भारत बनाना आदि ऐसे काम हैं, जो सिर्फ सरकार और नौकरशाही के जरिए नहीं हो सकते।

readmore
READMORE

हम अपने देश की संस्कृति और परंपराओं पर गर्व करना सीखें

एक वर्ष पश्चात फिर से हम सब विजयादशमी के पुण्यपर्व पर यहां एकत्रित हैं, परंतु इस वर्ष का वातावरण भिन्न् है, यह अनुभव हम सभी को होता है। भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा पहले ही प्रयास में मंगल की कक्षा में यान का सफल प्रवेश कराकर हमारे संबंध में विश्व में गौरव तथा भारतीयों के मन में आत्मविश्वास की वृद्धि में चार चांद जोड़ दिए हैं। 

readmore
READMORE

कश्मीर की प्राकृतिक आपदा में छुपे संदेश

प्राय: धरती के तराई वाले क्षेत्रों में अथवा मैदानी इलाकों में बाढ़ आने के समाचार सुनाई देते हैं। पहाड़ी क्षेत्रों में यदा-कदा बादल फटने अथवा भूस्खलन की खबरें ज़रूर आती हैं।

readmore
READMORE

काबुल से खुश-खबर

अशरफ गनी और डॉ. अब्दुल्ला के बीच समझौता हो गया है। चार माह पहले हुए राष्ट्रपति के चुनाव-परिणाम का भी फैसला हो गया है। फैसला यह हुआ है कि गनी तो राष्ट्रपति होंगे लेकिन अब एक प्रधानमंत्री की तरह मंत्री-प्रमुख भी होगा। उसका निर्णय अब्दुल्ला करेंगे।

readmore
READMORE

भाजपा का शीर्ष नेतृत्व इन गुंडों को सबक सिखाएगा?

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार ने जिस तत्परता से कश्मीर पर आए संकट में आगे बढ़कर मदद के हाथ बढ़ाए,अपनी संवेदना का प्रदर्शन किया। उसकी सारे देश में और सीमापार से भी सराहना मिली।

readmore
READMORE

राजनाथ को सराहौं या सराहौं आदित्यनाथ को!

भारतीय जनता पार्टी में लंबे समय से एक चीज मुझे बहुत चुभती रही है कि आखिर एक ही दल के लोगों को अलग-अलग सुर में बोलने की जरूरत क्या है? क्यों वे एक सा व्यवहार और एक सी वाणी नहीं बोल सकते? माना कि कुछ मुद्दों पर बोल नहीं सकते तो क्या चुप भी नहीं रह सकते? 

readmore
READMORE
author