A PHP Error was encountered

Severity: Notice

Message: Only variable references should be returned by reference

Filename: core/Common.php

Line Number: 257

Hindi Media - स्वछता श्रमदान व संवाद जल जनित रोगो पर चिंता
header-logo

स्वछता श्रमदान व संवाद जल जनित रोगो पर चिंता

स्वछता श्रमदान व संवाद जल जनित रोगो पर चिंता

उदयपुर ,16 अगस्त, झील मित्र  संस्थान, झील संरक्षण समिति एवं डॉ मोहन सिंह मेहता मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा आयोजित पिछोला  हनुमान घाट के पास स्वछता श्रमदान  का आयोजन किया गया  ı झील क्षेत्र से शराब की बोतले,घरेलु कचरा , अवांछित वनस्पति ,जलकुम्भी  व् अन्य गन्दगी को निकıला गया ı
श्रमदान में भावेश पुरोहित,हर्षुल कुमावत,प्रियांशी ,गरिमा,दीपेश सोनी, रमेश चन्द्र राजपूत,मोहन सिंह चौहान,दुर्गा शंकरव पुरोहित,अजय सोनी,अम्बालाल नक्वळ,रामलाल गेहलोत,कुलदीपक पालीवाल,तेज शंकर पालीवाल, डॉ अनिल मेहता व् नन्द किशोर शर्मा ने भाग लिया ı

इस अवसर पर आयोजित संवाद में जल जनित रोगो खास कर पीलिया तथा टाइफॉइड पर चिंता व्यक्त की गयी ı

तेज शंकर पालीवाल ने कहा कि सीवरेज  प्रदुषण से भू जल खराब हुआ है जिससे पीलिये का प्रकोप बढ रहा है  ı पालीवाल ने कई मोहल्लो में मटमैले पानी की आपूर्ति पर भी चिंता जताई तथा इसे गंभीर लापरवाही बताया ı

झील विज्ञानी डॉ अनिल मेहता ने कहा कि झील किनारो तथा घाटो पर शौच विशर्जन भरी मात्रा में हो रहा है ı एक ग्राम मानव मल में दस लाख हानिकारक जीवाणु होते है  ı मानव स्वास्थ्य सुरक्षा  के लिए खुले आम शौच विसर्जन पर रोक जरुरी है  ı

नन्द किशोर शर्मा ने कहा कि जल जनित रोगो  से बचने के लिए नागरिको को स्वयं जागरूक  होना होगा  ıहमारे द्वारा फैलाई गन्दगी पुनः हमारे शरीर में ही पहुंच रही है ,गन्दगी पर नियंत्रण ही जल जनित रोगो का बचाव है ı
अनिल मेहता


 संपर्क
Dr. Anil Mehta
Ph.D(Civil Engineering)IWRM
M.E.(Irr.Water Management Engineering)
University Gold Medalist
Principal - Vidya Bhawan Polytechnic Udaipur(Raj)India
Joint Secretary-Jheel Sanrakshan Samiti(Lake Conservation Society)

author