ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक द्वारा 70वें स्वतंत्रता दिवस पर ध्वजारोहण

मुंबई। देश का 70वाँ स्वतंत्रता दिवस पश्चिम रेलवे पर पारम्परिक उल्लास के साथ मनाया गया। इस पुनीत अवसर पर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक श्री जी. सी. अग्रवाल ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया, समारोहिक परेड का निरीक्षण किया, मार्चपास्ट की सलामी ली और रेलकर्मियों को सम्बोधित कर उन्हें एवं उनके परिजनों को स्वतंत्रता दिवस की बधाई दी।

श्री अग्रवाल ने बताया कि इस वित्तीय वर्ष के पहले चार महीनों में लगभग 24 मिलियन टन माल का लदान किया है। माल लदान में निजी भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए एक निजी साइडिंग तथा तीन पीएफटी इस वर्ष शुरू किये जाने की सम्भावना है।

उन्होंने कहा कि कनेक्टिविटी को बढ़ाते हुए इस वर्ष इंदौर-कोच्चुवेली एक्सप्रेस और इंदौर-पुणे एक्सप्रेस के साथ ही पुणे-निज़ामुद्दीन एक्सप्रेस बरास्ता नागदा और वसई रोड की शुरुआत की है। इंदौर-महू खंड में गेज परिवर्तन के कार्य को पूरा किया गया तथा इस खंड में 7 जोड़ी डेमू सेवाओं की शुरुआत की गई है। रतलाम-धोसवास स्टेशनों के बीच नवपरिवर्तित ‘क्यू’ ट्रैक जल्द ही शुरू होने जा रहा है, जिससे मालवा और राजस्थान के बीच यात्रा के समय में कमी आने के साथ ही सीधी कनेक्टिविटी भी स्थापित होगी। एमयूटीपी फेज़-II के अंतर्गत मुंबई उपनगरीय सेवाओं में अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी से लैस 44 नये इलेक्ट्रिकल मल्टिपल यूनिटों (ईएमयू) को शामिल किया गया है, जो अधिक आरामदायक होने के साथ-साथ अधिक सुरुचिपूर्ण हैं।

श्री अग्रवाल ने कहा कि यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए हमने इस वर्ष 659 ‘हॉलिडे’ विशेष ट्रेनें चलाई हैं, जो पिछले वर्ष की अपेक्षा 1.7 गुना अधिक हैं। इसके अलावा 5483 अतिरिक्त कोच भी विविध ट्रेनों में अस्थायी/दैनिक आधार पर जोड़े गये। मेल/एक्सप्रेस ट्रेनों की समयपालनता का निष्पादन 94.88 प्रतिशत है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 3.5 प्रतिशत अधिक है। यात्रियों की सुविधा के लिए ट्रेनों के 7 ऑपरेशनल ठहरावों को 01.10. 2016 से वाणिज्यिक ठहरावों के रूप में परिवर्तित किया जा रहा है।

इस वर्ष अप्रैल और मई माह के दौरान उज्जैन में सिंहस्थ कुम्भ मेले का सफलतापूर्वक आयोजन किया गया। इसमें 20 लाख से अधिक भक्तों ने रेल सेवाओं का लाभ उठाया, जो कि गत मेला अवधि की अपेक्षा 33 प्रतिशत अधिक है। श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए 2747 विशेष ट्रेनें चलाई गईं। रेलवे द्वारा किये गये प्रबंधों को सर्वसामान्य द्वारा सराहा गया।

प्रथम चार महीनों में पश्चिम रेलवे की कुल आमदनी रु. 5101.38 करोड़ रही है। भूमि संसाधनों से रु. 379.52 करोड़ की आमदनी हुई, जो रु. 175 करोड़ के वार्षिक लक्ष्य से अधिक है। कठोर नियंत्रण के द्वारा कार्यशील व्यय को आनुपातिक लक्ष्य के भीतर रखने में कमोबेश सफल रहा।

श्री अग्रवाल ने दृढ़तापूर्वक कहा कि ग्राहक हमारे क्रियाकलापों का केंद्र बिन्दु रहे हैं। यात्रियों की सुविधा के लिए चालू वर्ष में एक एस्केलेटर, दो पैदल ऊपरी पुल तथा पाँच लिफ्टें शुरू की गई हैं। इस वर्ष के दौरान 1 पीआरएस, 1 जेटीबीएस, 3 यूटीएस सह आरक्षण कार्यालय, 6 वायटीएसके और 16 एसटीबीए सेवाएँ उपलब्ध कराई गई हैं। उज्जैन स्टेशन पर निःशुल्क वाई-फाई की सुविधा शुरू की गई है।

26 मई से 1 जून, 2016 तक पूरे पश्चिम रेलवे पर बड़ी लगन एवं उत्साह के साथ ‘रेल हमसफ़र सप्ताह’ मनाया गया। इस दौरान पश्चिम रेलवे ने यात्रियों की सुख-सुविधा और संरक्षा के लिए की गई पहल और विविध कदमों पर विशेष रूप से प्रकाश डाला। इस दौरान ग्राहकों से सम्बंधित विभिन्न पहलुओं पर बल देने के लिए सप्ताह के दिनों को स्वच्छता दिवस, सत्कार दिवस, सेवा दिवस, सतर्कता दिवस, सामंजस्य दिवस, संयोजन दिवस और संचार दिवस के रूप में मनाया गया। रेल अधिकारियों ने ग्राहकों से व्यापक स्तर पर सम्पर्क कर उनसे महत्त्वपूर्ण फीडबैक और सुझाव प्राप्त किये।

श्री अग्रवाल ने इस बात की तारीफ की कि स्वच्छता के लिए आईआरसीटीसी की ‘ए-वन’ और ‘ए’ कोटि स्टेशनों की सर्वेक्षण रिपोर्ट में पश्चिम रेलवे को उच्च स्थान प्राप्त हुआ है और 10 सर्वोत्तम स्टेशनों की सूची में पश्चिम रेलवे के 5 स्टेशन गांधीधाम, जामनगर, सूरत, राजकोट और अंकलेश्वर शामिल हैं। हमें स्वच्छता के लिए सभी ज़ोनल मुख्यालयों में दूसरा स्थान मिला है, जबकि राजकोट और भावनगर मंडल भारतीय रेल के 10 सर्वोत्तम मंडल मुख्यालयों में शामिल हैं। मैं सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को उनके द्वारा किये गये प्रयास के लिए बधाई देता हूँ और हमारे सम्माननीय यात्रियों को भी इस सम्बंध में उनके द्वारा दिये गये सहयोग एवं प्रोत्साहन के लिए धन्यवाद देता हूँ।

भारतीय रेल के स्वच्छता अभियान ‘स्वच्छ रेल स्वच्छ भारत’ के अंतर्गत यात्री मित्रवत एसएमएस आधारित ऑन-बोर्ड प्रणाली ‘क्लीन माई कोच’ माननीय रेलमंत्री श्री सुरेश प्रभु द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर शुरू की गई, जिसमें पश्चिम रेलवे की लम्बी दूरी की 57 ट्रेनें शामिल हैं। रेल डिब्बों से गंदगी के ज़ीरो डिस्चार्ज के लक्ष्य को प्राप्त करने के तहत हमारी ट्रेनों के 939 डिब्बों में बायो टैंकों की व्यवस्था की गई है। विश्व पर्यावरण दिवस पर चर्चगेट स्टेशन में एक बॉटल क्रशिंग मशीन स्थापित की गई। इससे जहाँ एक ओर बॉटलों के दुरुपयोग पर रोक लगेगी, वहीं इससे प्राप्त सामग्री को रिसायकल किया जा सकेगा। मुंबई के 10 स्टेशनों पर ऐसी 20 मशीनें लगाये जाने की योजना है। स्वच्छता और पर्यावरण सुरक्षा के प्रयासों के समन्वयन के लिए शीघ्र ही प्रधान कार्यालय और वडोदरा मंडल पर पर्यावरण एवं हाउसकीपिंग प्रबंधन (ई एंड एचएम) शाखा कार्य करने लगेगी।

महाप्रबंधक श्री अग्रवाल ने इस बात पर बल दिया कि संरक्षा हमारे प्रमुख सरोकारों में से एक है। वर्ष 2016-17 में 13 मानवयुक्त समपारों और 14 मानवरहित समपारों को बंद किया गया। 4 समपारों को इंटरलॉक किया गया, जबकि 10 समपारों पर स्लाइडिंग बूम की व्यवस्था की गई। बेहतर दृश्यता के द्वारा संरक्षा में वृद्धि करने के लिए 11 स्टेशनों पर एलईडी सिगनल लगाये गये। 237 नये ट्रैक सर्किटों की व्यवस्था की गई। 3 स्टेशनों पर इंटिग्रेटेड पावर सप्लाई उपलब्ध कराई गई। 5 ब्लॉक सेक्शनों में एक्सल काउंटर लगाये गये, जबकि 6 स्टेशनों पर डाटा लॉगर्स की व्यवस्था की गई।

इसके साथ ही 12 स्थायी गति प्रतिबंधों में छूट दी गई, जिसके परिणामस्वरूप यात्रा समय में बचत हुई है। हमने 2 पुलों का पुनःनिर्माण, 34 पुलों की पुनःस्थापना और 67.47 कि.मी. रेलपथ का नवीनीकरण किया है। 7 सड़क ऊपरी पुलों और 25 सड़क निचले पुलों का निर्माण किया गया। यात्रियों की संरक्षा के लिए उपनगरीय खंड में 88 प्लेटफॉर्मों की ऊँचाई बढ़ाई गई है।

श्री अग्रवाल ने रेल सुरक्षा बल द्वारा यात्रियों की सुरक्षा के साथ-साथ रेल सम्पत्तियों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने के लिए रेल सुरक्षा बल की प्रशंसा की। चालू वर्ष के दौरान चोरी के 105 मामले पकड़े गये तथा रु. 9.81 लाख से अधिक मूल्य की रेल सम्पत्ति बरामद की गई। यात्रियों के सामान चोरी होने के 127 मामले भी पकड़े गये तथा रु. 63 लाख मूल्य के सामान को लौटाया गया। घर से भागे हुए 257 बच्चों को उनके परिवार से पुनः मिलाया गया।

श्री अग्रवाल ने गर्व के साथ कहा कि रियो ओलम्पिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए हमारे पाँच खिलाड़ियों का चयन किया गया है। श्री कांगुजम चिंग्लेंसाना का चयन पुरुष हॉकी टीम के लिए तथा सुश्री दीप ग्रेस, सुश्री नमिता टोप्पो तथा सुश्री लिलिमा मिंज का चयन महिला हॉकी टीम के लिए किया गया है। श्री मयूर व्यास डाइविंग स्पर्धा के तकनीकी जज हैं। हॉकी खिलाड़ी श्री मनप्रीत सिंह ने दक्षिण एशियाई खेल 2016 में रजत पदक विजेता टीम में प्रतिनिधित्व कर हमारा गौरव बढ़ाया है। मैं सभी खिलाड़ियों को उनकी शानदार उपलब्धियों के लिए बधाई देता हूँ।

श्री अग्रवाल ने कहा कि ये सभी सफलताएँ रेलकर्मियों के कार्य के प्रति समर्पण के कारण प्राप्त हुई। उन्होंने कहा कि आगे आने वाली चुनौतियाँ कठिन है, किन्तु असम्भव कदापि नहीं है। उन्होंने मान्यताप्राप्त ट्रेड यूनियनों और एसोसिएशनों की भूमिका की सराहना की उनके निर्बाध समर्थन तथा सम्पूर्ण सहयोग के लिए मैं उन्हें धन्यवाद देता हूँ। उन्होंने कर्मचारियों से अपील की कि उत्कृष्टता की चाह में हमेशा आगे बढ़ने के लिए हमें प्रेरित होना होगा, ताकि हममें से प्रत्येक अपना सर्वोत्तम योगदान रेल सेवा में देने को तत्पर रहे। मुझे विश्वास है कि इस समर्पित श्रमशक्ति द्वारा हम न केवल अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल होंगे, बल्कि हमारे सम्माननीय ग्राहकों द्वारा हमारे प्रति व्यक्त किये गये विश्वास को और भी मजबूत कर सकेंगे।

फोटो कैप्शनः

15 अगस्त, 2016 को स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर चर्चगेट स्थित पश्चिम रेलवे मुख्यालय में पश्चिम रेलवे महाप्रबंधक श्री जी. सी. अग्रवाल समारोहिक परेड का निरीक्षण तथा राष्ट्रध्वज का अभिवादन करते हुए। साथ में दिखाई दे रहे हैं पश्चिम रेलवे के मुख्य सुरक्षा आयुक्त श्री उदय शुक्ल।

Print Friendly, PDF & Email


सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top