ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

74 वां कान फिल्म समारोह -2 : विश्व सिनेमा में स्त्री फिल्मकारों का वर्चस्व

क्या कोई स्त्री कार के साथ संभोग करके चरम सुख प्राप्त कर सकती हैं? जी हां, इस बार कान फिल्म समारोह की सर्वश्रेष्ठ फिल्म ‘ टाइटेन ‘ में यहीं होता है।

शनिवार, 17 जुलाई 2021 की शाम ग्रैंड थियेटर लूमिएर में आयोजित एक भव्य समारोह में जूरी के अध्यक्ष अश्वेत फिल्मकार स्पाइक ली ने 74 वें कान फिल्म समारोह के पुरस्कारों की घोषणा की। जूलिया डूकोर्ना की फ्रेंच फिल्म ‘ टाइटेन’ को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पाम डि ओर अवार्ड दिया गया।कान फिल्म समारोह के 74 सालों के इतिहास में जूलिया डूकोर्ना पाम डि ओर अवार्ड पाने वाली दूसरी महिला फिल्मकार है। इससे पहले 1993 में यह अवार्ड न्यूजीलैंड की महिला फिल्मकार जेन कैंपियों को उनकी फिल्म ‘ द पियानो ‘ के लिए दिया गया था। इसके 28 साल बाद किसी स्त्री फिल्मकार को यह अवार्ड मिला है।

इससे पहले जूलिया डूकोर्ना 69 वें कान फिल्म समारोह (2016) में अपनी पहली फिल्म ‘ रा’ के लिए चर्चित हो चुकी है। इसी साल 13-14 अप्रैल 2021 को भारत में फ्रांस के दूतावास ने जब ‘ सिनेमा में स्त्री ‘ नाम से एक जलसा किया तभी से यह लगने लगा था कि इस बार 74 वे कान फिल्म समारोह में किसी महिला फिल्मकार को सर्वश्रेष्ठ फिल्म का ‘ पाम डि ओर अवार्ड’ मिलेगा। इस कार्यक्रम में भारतीय फिल्म प्रोड्यूसर गुनीत मोंगा को फ्रांस के विदेश मंत्री ज्यां वेस ले ड्रियान ने सम्मानित किया। फ्रेंच फिल्म प्रोड्यूसर सैंड्रिन ब्रिऊआ ने खुलकर कहा था कि वे लोग इस बार 74 वे कान फिल्म समारोह में स्त्री फिल्मकारों के लिए कोशिश करेंगे।

लगता है कि सैंड्रिन ब्रिऊआ और अन्य स्त्रीवादियों की कोशिशें रंग लाई और इस बार जूलिया डूकोर्ना सहित कम से कम पांच महिला फिल्मकारों को विभिन्न खंडों में अवार्ड दिए गए। इनमें भारत की पायल कपाड़िया भी एक है जिन्हें अपनी फिल्म ‘ अ नाइट आफ नोईंग नथिंग ‘ के लिए सहयोगी गतिविधि डायरेक्टर्स फोर्टनाइट खंड में ‘ द गोल्डन आई डाक्यूमेंट्री प्राइज’ प्रदान किया गया। इनके साथ ही शार्ट फिल्म खंड में सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पाम डि ओर अवार्ड हांग कांग के तांग यी को उनकी फिल्म ‘ आल द क्रोज इन द वर्ल्ड ‘ के लिए दिया गया। तांग यी अमेरिका के न्यूयार्क विश्वविद्यालय की छात्रा है। अन सर्टेन रिगार्ड खंड में सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पुरस्कार रूस के कीरा कोवालेंको की फिल्म ‘ अनक्लिंचिंग द फ्रिस्ट्स ‘ को मिला। किसी निर्देशक को पहली फिल्म के लिए दिया जाने वाला ‘ कैमरा डि ओर अवार्ड क्रोएशिया मूल की अमेरिकी फिल्मकार अंटोनेटा अलामत कुसिजानोविक की फिल्म ‘ मुरिना ‘ को दिया गया।

कान फिल्म समारोह में दूसरा सबसे महत्वपूर्ण अवार्ड ग्रैंड प्रिक्स असगर फरहादी की ईरानी फिल्म ‘ अ हीरो ‘ और फिनलैंड के जुहो कौसमानेन की फिल्म ‘ कंपार्टमेंट नंबर 6 ‘ को संयुक्त रूप से प्रदान किया गया। समारोह की उद्घाटन फिल्म ‘ अनेट ‘ के लिए फ्रांस के लेवोस कैरेक्स को सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का पुरस्कार मिला। ‘ ड्राइव माई कार ‘ के लिए जापान के हामागुची युसुके और टाकामासा ओए को सर्वश्रेष्ठ पटकथा का पुरस्कार मिला। थाईलैंड के एपिचैटपोंग वीरासेथाकुल की फिल्म ‘मेमोरिया ‘ और इजरायल के नाडाव लापिड की फिल्म ‘ अहेड ‘ स नी ‘ को जूरी प्राइज दिया गया। नार्वे के जोआचिम ट्रीयर की फिल्म ‘ द वर्स्ट परसन इन दि वर्ल्ड ‘ में उत्कृष्ट अभिनय के लिए रेनेट रेंसवे को सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री और आस्ट्रेलिया के जस्टिन कुरजेल की फिल्म ‘ नीट्राम ‘ में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सेलेब लांड्री जोंस को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के अवार्ड से नवाजा गया।फिल्म स्कूलों के लिए दिया जाने वाला सिनेफौंडेशन खंड में प्रथम पुरस्कार बेल्जियम के थेओ डेगेन की फिल्म ‘ द सालामांडेर चाइल्ड ‘ को मिला।

विश्व सिनेमा में स्त्री फिल्मकारों की भागीदारी बढ़ाने के लिए कान फिल्म समारोह के दौरान पिछले कई सालों से पेरिस की एक संस्था केरिंग फाउंडेशन ‘ वुमन इन मोशन ‘ प्रोजेक्ट चला रही है। यह संस्था कान फिल्म समारोह की आफिशियल पार्टनर भी है। 12 मई 2018 को 71 वें कान फिल्म समारोह के दौरान सिनेमा में स्त्रियों के मुद्दे को लेकर जूरी की अध्यक्ष आस्ट्रेलियाई मूल की मशहूर अमेरिकी अभिनेत्री केट ब्लैंशेट के नेतृत्व में सैकड़ों महिला फिल्मकारों ने रेड कार्पेट पर मार्च किया था। कान फिल्म समारोह के निदेशक थेरी फ्रेमो ने बार बार इस बात को दोहराया है कि उनकी कोशिशों से कान फिल्म समारोह की जूरी में स्त्री फिल्मकारों की भागीदारी लगातार बढ़ती गई है।

74 वेx कान फिल्म समारोह में सर्वश्रेष्ठ फिल्म का पाम डि ओर अवार्ड जीतने वाली जूलिया डूकोर्ना की फिल्म ‘ टाइटेन ‘ सेक्स और हिंसा से भरी हुई जादुई यथार्थ की साई फाई बाडी हारर फंतासी है। इस फिल्म में जेंडर आइडेंटिटी को दार्शनिक आधार बनाया गया है लेकिन अंततः यह एक अतिवादी सिनेमा है जिसके प्रदर्शन से पहले आयोजकों को यह घोषणा करनी पड़ी कि इस फिल्म के कुछ दृश्य गंभीर सदमा पहुंचा सकते हैं। फिल्म के प्रदर्शन के दौरान कई दर्शक बाहर निकल गए और कई तो बाथरूम में उल्टियां करने लगे। दर्शकों के लिए यह कल्पना करना थोड़ा मुश्किल है कि कोई स्त्री एक कार के साथ सेक्स ही नहीं कर सकती, वल्कि चरम सुख प्राप्त कर सकती हैं और इस तरह गर्भवती भी हो सकती है और उसकी योनि से रक्त की जगह काला मोबिल ऑयल निकल सकता है। जिस निर्ममता से वह एक के बाद एक लोगों की हत्याएं करती है, उसे देखकर क्वेंतिन तारंतीनो की मशहूर फिल्म ‘ किल बिल ‘ की सीरीयल किलर नायिका की याद आती है।

बचपन में एक कार दुर्घटना में बुरी तरह घायल हो जाने पर फिल्म की नायिका अलेक्सिया के सिर में डाक्टर आपरेशन कर टाइटेनियम प्लेट लगा देते हैं जिसे फ्रेंच भाषा में ‘ टाइटेन’ कहते हैं। जवान होने पर अलेक्सिया पिता को छोड़कर चली जाती है और कारों की प्रदर्शनियों में सेक्सी डांसर बन जाती है। कारों के साथ आलिंगन, चुंबन, सेक्स, प्रेम, चरम सुख और अंततः गर्भवती होने के दृश्य थोड़े अजीबोगरीब हैं। कई हत्याओं के बाद पुलिस से बचने के लिए अलेक्सिया पुरुष वेष धारण कर एक ऐसे व्यक्ति का बेटा बनने की कोशिश करती है जिसे वह दस साल पहले ही खो चुका है। फिल्म की टैगलाइन उसकी छाती पर टैटू की शक्ल में है जिसपर लिखा है – ” लव इज ए डाग फ्राम हेल ।”

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top