आप यहाँ है :

अग्रोहा धाम को सौ बड़े शहरों से हर साल मिलेंगे एक करोड़ रु.

अग्रवाल समाज के पितृ पुरुष महाराजा अग्रसेन की जन्म व कर्मभूमि अग्रोहा तीर्थ को समाज के पांचवें धाम के रूप में विकसित करने का निर्णय रविवार को अग्रोहा धाम हिसार में लिया गया। इंदौर अग्रवाल समाज की पहल पर देश के सौ बड़े शहरों द्वारा हर वर्ष एक करोड़ की सहयोग राशि देने का संकल्प पारित किया गया। इसकी शुरुआत कोटा से हुई।

अग्रोहा धाम विकास ट्रस्ट एवं इंदौर अग्रवाल समाज केंद्रीय समिति सहित पांच राज्यों से आए प्रतिनिधियों ने इस संबंध में सुझाव दिए। इंदौर समिति के प्रमुख परामर्शदाता विनोद अग्रवाल ने कहा कि देश के सौ बड़े शहरों के अग्रवाल संगठन प्रति वर्ष एक-एक लाख अग्रोहा विकास ट्रस्ट को दें तो हर वर्ष एक करोड़ जमा हो सकते हैं।

इंदौर समिति के अध्यक्ष किशोर गोयल ने प्रस्ताव का अनुमोदन किया। कोटा के अग्रवाल संगठन ने हाथोहाथ एक लाख जमा भी करवा दिए। अग्रोहा धाम विकास ट्रस्ट के अध्यक्ष नंदकिशोर गोयनका ने कहा कि इससे अग्रवाल बंधुओं की भावना साकार होने में मदद मिलेगी। ट्रस्ट 250 बिस्तरों का एक अस्पताल व मेडिकल कॉलेज भी संचालित कर रहा है। इस पहल पर अमल शुरू होता है तो यहां अन्न् क्षेत्र, आवासीय संकुल का विस्तार, संगठन गतिविधियां और शक्तिपीठ के विकास सहित कई सेवा कार्य शुरू किए जा सकते हैं। संचालन संजय बाकड़ा ने किया। आभार राजेश बसंल ने माना।

ऐसा है अग्रोहा धाम 

हरियाणा के हिसार से 18 किमी दूर 27 एकड़ में फैला है अग्रोहा धाम। यहां पर अग्रवाल समाज की कुलदेवी महालक्ष्मी, महाराजा अग्रसेन का भव्य और आर्कषक मंदिर है। जमीन से 27 फीट नीचे वैष्णव देवी, तिरुपति बालाजी, बाबा अमरनाथ व भैरवनाथ का मंदिर है। हनुमानजी की 90 फीट ऊंची आकर्षक प्रतिमा है। यह स्थान अग्रवाल समाज का शक्तिपीठ कहा जाता है। यहां 51 सौ वर्ष पहले महाराजा अग्रेसन का शासन था।

साभार- http://naidunia.jagran.com/ से 

.

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top