आप यहाँ है :

एअरचीफ मार्शल अर्जन सिंह का जन्म दिन राष्ट्रीय हवाई दिवस के रुप में मनाया जाए

राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर ने वाणिज्य व उद्योग और नागरिक विमानन मंत्री सुरेश प्रभु को पत्र लिखकर 15 अप्रैल को राष्ट्रीय हवाई दिवस के रूप में घोषित किए जाने का अनुरोध किया है।

अपने पत्र में सांसद ने कहा है कि 15 अप्रैल को पद्मविभूषण भारतीय वायुसेना मार्शल अर्जन सिंह का जन्म दिन है। 1965 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में उनकी उल्लेखनीय सेवाओं के कारण भारत सरकार ने उन्हें पद्मविभूषण से सम्मानित किया था। अलावा इसके वह प्रथम वायुसेना अधिकारी थे जिन्हें 1966 में एयरचीफ मार्शल का पद दिया गया। वर्ष 2002 में उन्हें पांच सितारा रैंक प्रदान कर मार्शल बनाया गया। यह सम्मान पाने वाले वह वायुसेना के एकमात्र अधिकारी रहे। लिहाजा भारत के विमानन उद्योग की विरासत और उसकी सफलता का जश्न मनाने के लिए National Aviation Day के रूप में यह दिन एक उपयुक्त विकल्प बनता है।

उन्होंने पत्र में आगे लिखा है कि राष्ट्रीय हवाई दिवस विमानन क्षेत्र में भारत की उत्कृष्टता का उत्सव होगा। साथ ही वैश्विक विमानन उद्योग में हमारी गगनशक्ति और इसके स्तर को पहचानने का अवसर भी होगा।

राष्ट्रीय हवाई दिवस मनाने के लिए जरूरी कारण बताते हुए सांसद चंद्रशेखर ने कहा कि यदि यह दिवस घोषित किया जाता है तो भारतीयों को इस जीवंत उद्योग का साक्षी बनने का मौका मिलेगा। अलावा इसके भारत के युवक इस क्षेत्र में अपना करियर बनाने के लिए प्रोत्साहित होंगे।

उन्होंने कहा कि संयुक्त राष्ट्र ने अंतर्ऱाष्ट्रीय नागरिक विमानन के महत्व के बारे में जागरुकता बढ़ाने के लिए 7 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय हवाई दिवस घोषित किया है। अमेरिका, स्पेन, इजराइल,कोरिया, नार्वे, जर्मनी जैसे कई देश अपने यहां विमानन के इतिहास औऱ उसके विकास का जश्न मनाने के लिए Aviation Day मनाते हैं। भारत को भी इसमें पहल करनी चाहिए।

गौरतलब है कि राज्यसभा सांसद राजीव चंद्रशेखर की पहल से ऐतिहासिक डकोटा विमान पुनः भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया है। कुछ समय पहले एक भव्य कार्यक्रम में उन्होंने अपने पिता एयर कमोडोर एमके चंद्रशेखर की ओर से यह विमान भारतीय वायुसेना को हिंडन एयरफोर्स स्टेशन पर उपहार स्वरूप भेंट किया था।



सम्बंधित लेख
 

Back to Top