आप यहाँ है :

आनंद महिंद्रा ढूँढ रहे हैं “मेरे सपनों की रानी कब आएगी तू…” वाली जीप

उद्योगपति आनंद महिंद्रा अपने ट्वीट्स को लेकर चर्चा में रहते हैं। उनके ट्वीट्स ना सिर्फ लोगों को प्रेरित करते हैं बल्कि कुछ अनोखी चीजें भी समाने लेकर आते हैं। ऐसा ही एक ट्वीट उन्होंने हाल ही में किया है जो आपको मालामाल कर सकता है। दरअसल, आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर अपनी ही कंपनी की बनाई उस जीप की खोज शुरू की है जो राजेश खन्ना ने ‘मेरे सपनों की रानी..’ गाने में चलाई थी। इस ट्वीट के पीछे उनका उद्देश्य कुछ और है लेकिन इसने जहां देश में एक नई बहस छेड़ दी है वहीं एक बार फिर दिवंगत सुपरस्टार राजेश खन्केना जमाने की यादें ताजा कर दी हैं।

दरअसल, दुनियाभर में विंटेज वाहनों को लेकर गजब का क्रेज है। शौकीन लोग ऐसे पुराने वाहनों की मुंहमांगी कीमत लगाने को तैयार रहते हैं। लेकिन भारत में ऐसे वाहनों का संभावित बाजार बहुत बड़ा होने के बावजूद इन्हें सहेजकर रखने की कोशिश नहीं के बराबर दिखती है। दिग्गज कारोबारी और महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने अपनी ही कंपनी की बनाई एक जीप के माध्यम से विंटेज वाहनों की बदहाली पर एक ऐसी बहस छेड़ दी है। इस बहस पर गंभीरता से विचार किए जाने की सूरत में विंटेज और क्लासिक वाहनों का एक बड़ा बाजार खड़ा हो सकता है।

महिंद्रा ने वर्ष 1969 में आई मशहूर बॉलीवुड फिल्म आराधना के सदाबहार गीत “मेरे सपनों की रानी कब आएगी तू…” में प्रयोग की गई जीप के जरिये भारत में हेरिटेज कारों की नीलामी की चर्चा छेड़ दी।

उन्होंने एक ट्वीट के जरिये पूछा कि अगर आराधना फिल्म में राजेश खन्ना द्वारा प्रयोग की गई जीप की नीलामी की जाए, तो इसकी कीमत क्या होगी। उनकी इस जिज्ञासा के जवाब में कई रोचक जवाब देखने को मिले। एक यूजर ने लिखा कि हमारे सुपरस्टार राजेश खन्ना अपने रोमांस के लिए मशहूर थे, कार चलाने के लिए नहीं।


दरअसल महिंद्रा ने न्यूयॉर्क टाइम्स के ट्वीट से प्रभावित होकर भारत के संबंध में हेरिटेज कारों की नीलामी की बात उठाई थी। न्यूयॉर्क टाइम्स ने बताया है कि हॉलीवुड कलाकार स्टीव मैक्क्वीन की “हीरो कार” नीलामी के लिए तैयार है। इसकी नीलामी से करीब 50 लाख डॉलर (करीब 35 करोड़ रुपए) मिलने की उम्मीद है। हीरो कार “बुलिट” फिल्म में प्रयोग की गई थी। वर्ष 1974 में आई इस फिल्म के लिए स्टीव मैक्वीन को 3,500 डॉलर (करीब 2,45,000 रुपए) मिले थे। मैक्क्वीन अपने कार और बाइक स्टंट के लिए मशहूर थे।

न्यूयॉर्क टाइम्स को टैग करते हुए महिंद्रा ने लिखा कि वह “सपनों की रानी” गाने में प्रयोग की गई जीप को खोजने की कोशिश कर रहे हैं। लेकिन अभी तक इसकी कोई खबर नहीं मिल सकी है। इसका जवाब देते हुए एक यूजर ने लिखा कि यह अमेरिका नहीं है…आप जो जीप खोज रहे हैं, वह कब की कबाड़ में बेच दी गई है। यूजर ने महिंद्रा को शर्त लगाने की चुनौती देते हुए कहा कि अगर मैं हारा तो आपको शर्त हारने के टोकन के रूप में 1,111 रुपए दूंगा और अगर आप हारे तो मुझे महिंद्रा एंड महिंद्रा की नवीनतम एसयूवी देंगे। वैसे, यूजर ने यह भी कहा कि वह चाहता यही है कि हार जाए महिंद्रा को वह जीप सही-सलामत हालत में मिल जाए।

एक अन्य यूजर ने तो उन्हें ट्विंकल खन्ना से पूछने तक की सलाह भी दे डाली। यूजर का कहना था कि यह कार कथित तौर पर डिंपल खन्ना ने राजेश खन्ना को उपहार के तौर पर दी थी। इसलिए संभव है कि ट्विंकल खन्ना को इस बारे में जानकारी हो। उनके इस ट्वीट को 115 यूजर्स द्वारा री-ट्वीट किया गया और 1.5 हजार यूजर्स ने इसे लाइक किया।

बालीवुड की फिल्मों में बेहतरीन कारों और मोटरसाइकिल का प्रयोग होता रहा है। चाहे वह पोर्शे हो, शेवरले हो या जावा। आराधना के गाने सपनों की रानी में राजेश खन्ना द्वारा प्रयोग की गई जीप विले सीजे-3बी थी। इसमें स्टीयरिंग बाईं ओर हुआ करता था।

इसके अलावा वर्ष 1955 में आई देवानंद की मशहूर फिल्म “ज्वैल थीफ” में शेवरले बेल एयर कार प्रयोग की गई थी। इस कार पर एक और सदाबहार गीत “ये दिल न होता बेचारा” फिल्माया गया था। शान फिल्म में अमिताभ बच्चन द्वारा प्रयोग की गई पोर्शे को कौन भूल सकता है। अफसोस यह है कि इनमें से कोई भी वाहन सलामत हालत में किसी दावेदार के पास नहीं है।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top