आप यहाँ है :

कौशल और स्वावलम्बन का ‘युवा बजट’ प्रदेश की नई इबारत

————————————————
राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ में एक ऐतिहासिक कदम के तहत घोषित पृथक युवा बजट को लायंस केबिनेट एडवाइज़र, डिस्ट्रिक्ट एजुकेशन चेयरमैन और राज्य अलंकरण से सम्मानित दिग्विजय कालेज के प्राध्यापक डॉ.चन्द्रकुमार जैन ने क्रांतिकारी निरूपित किया है। उनका मंतव्य है कि इससे प्रदेश के युवाओं में नई उम्मीद के साथ कुछ नया कर दिखाने का नया ज़ज़्बा पैदा होगा। उनके कौशल उन्नयन से छत्तीसगढ़ की युवा शक्ति को राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नई प्रतिष्ठा मिलेगी। उनकी सृजनात्मकता को नया आयाम और नया आकाश भी मिल सकेगा। डॉ.जैन का मानना है कि यह युवा बजट स्वयं प्रदेश के स्वावलम्बी कौशल और कौशल से स्वावलम्बी प्रदेश के नव निर्माण का उज्ज्वल प्रतीक है। 

डॉ.जैन ने कहा कि प्रदेश के बजट में युवाओं पर ख़ास फ़ोकस से उनकी अहमियत को लेकर हमारी जागरूकता और युवा शक्ति के प्रति हमारी निष्ठा का सन्देश भी प्रसारित हुआ है। यह विशेष गौरवशाली राज्य निर्माण की दिशा में एक लाज़वाब कदम है। 

डॉ.जैन कहा कि बजट में युवा क्षमता विकास योजना और कौशल उन्नयन कार्यक्रम, नवीन विश्वविद्यालय की स्थापना, बस्तर, कांकेर, रायपुर, दुर्ग तथा राजनांदगांव में आदर्श आवासीय महाविद्यालय की स्थापना, 36 महाविद्यालयों में नवीन स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम का आगाज़, अंबिकापुर तथा राजनांदगांव चिकित्सा महाविद्यालय के लिए विशेष राशि का प्रधान, महाविद्यालयों में निःशुल्क वाई-फाई सुविधा,17 नवीन आई.टी.आई. तथा 03 नवीन पॉलिटेक्निक की स्थापना, रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग में कामकाजी महिला हॉस्टल निर्माण, आजीविका महाविद्यालयों के भवन एवं छात्रावास निर्माण के लिए प्रावधान सहित जनवरी, 2016 में राष्ट्रीय युवा उत्सव आयोजन जैसे फैसले साफ़ तौर पर छत्तीसगढ़ की अभिनव युवा उड़ान का सन्देश लेकर आये हैं। युवा विकास के नए संकल्प को शासकीय प्रयत्नों के साथ-साथ तमाम सामाजिक-सांस्कृतिक-स्वयंसेवी क्षेत्रों का भरपूर सहयोग मिलेगा। 
———————————————-
———————————————-

.

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top