आप यहाँ है :

पश्चिम रेलवे द्वारा एक और नया पैदल ऊपरी पुल ग्रांट रोड स्टेशन पर यात्रियों के लिए खोला गया

अपने सम्माननीय यात्रियों को अधिक से अधिक सुरक्षित और आरामदायक यात्रा अनुभव प्रदान करने के के उद्देश्य से पश्चिम रेलवे द्वारा अपने उपनगरीय रेल खंड पर अधिकाधिक फुट ओवर ब्रिज, एस्केलेटर और लिफ्टों की सुविधा प्रदान करने के हरसम्भव बेहतरीन प्रयास किये जा रहे हैं। ये प्रयास ट्रेसपासिंग और पुलों पर अत्यधिक भीड़ जैसी समस्याओं से निपटने में अहम भूमिका निभाते हैं। इसी क्रम में एक नवीनतम उपलब्धि के अंतर्गत पश्चिम रेलवे के ग्रांट रोड स्टेशन पर दक्षिणी दिशा में नवनिर्मित 10 मीटर चौड़े फुट ओवर ब्रिज को यात्रियों के उपयोग के लिए खोल दिया गया है।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी श्री सुमित ठाकुर द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार नया एफओबी 39 मीटर लम्बा है और इसकी चौड़ाई 10 मीटर है। इस एफओबी का निर्माण लगभग 5.30 करोड़ रु. की लागत से किया गया है। इस अतिरिक्त एफओबी का काम मुंबई रेलवे विकास निगम (MRVC) द्वारा किया गया है। इस नये एफओबी का काम 22 अक्टूबर, 2020 को पूरा हुआ है। यह नया एफओबी यात्रियों के लिए बहुत ही सुविधाजनक होगा, क्योंकि यह स्टेशन के सभी प्लेटफार्मों के साथ-साथ पूर्व की ओर एमसीजीएम स्काईवॉक की सीढ़ी और एस्केलेटर को भी जोड़ता है। इस एफओबी के लिए शुरुआत में दो स्पैन की योजना बनाई गई थी, लेकिन स्थान की कमी के कारण, योजना को बदल दिया गया और फिर प्रतिस्थापन के आधार पर एकल स्पैन एफओबी का निर्माण किया गया।

श्री ठाकुर ने बताया कि पश्चिम रेलवे ने देशव्यापी लॉकडाउन और कोविड-19 महामारी के कारण सीमित कार्यबल के बावजूद विकास के विभिन्न अवसंरचनात्मक कार्य सुनिश्चित किये हैं। ऐसे चुनौतीपूर्ण समय में भी, पश्चिम रेलवे ने यह सुनिश्चित किया है कि इसके विकासात्मक कार्यों में कोई बाधा न आये और सभी कार्य निर्धारित लक्ष्य तिथि के भीतर पूरे हो जायें। पश्चिम रेलवे के उपनगरीय खंड पर इस लॉकडाउन अवधि के दौरान, 9 नये फुट ओवर ब्रिज (नये ग्रांट रोड एफओबी सहित) और एक नए स्काईवॉक को यात्रियों के लिए चालू किया गया है।

गौरतलब है कि आईआईटी-बॉम्बे की ऑडिट रिपोर्ट के अनुसार, असुरक्षित घोषित किये गये 16 एफओबी को डिस्मेंटल किया जाना था, जिनमें से अभी तक 13 एफओबी पश्चिम रेलवे द्वारा डिस्मेंटल किये जा चुके हैं। शेष तीन एफओबी, यानी दादर (दक्षिण), अंधेरी (छह स्पैन में से, मध्य-पूर्व के दो फैले हुए हिस्सों को हटा दिया गया है) और गोरेगांव (मध्य) को डिस्मेंटल करने का कार्य चल रहा है, जिसके पूरा होने की लक्ष्य तिथि 31 दिसम्बर, 2020 तक रखी गई है। विभिन्न स्थानों पर अन्य एफओबी और आरओबी मरम्मत तथा नए एस्केलेटर्स की स्थापना का काम भी प्रगति पर है। यात्रियों की सुरक्षा की बात करें तो पश्चिम रेलवे ने हमेशा इसे सर्वोच्च प्राथमिकता दी है।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top