आप यहाँ है :

अनुपम खेर बोले, स्मार्ट सिटी बने पंडितों के लिए

अबिनेता अनुपम खेर ने जम्मू-कश्मीर को स्पेशल स्टेटस देने वाले भारतीय संविधान के आर्टिकल 370 को हटाने और कश्मीरी पंडितों के लिए स्मार्ट सिटी बनाने की मांग की है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों और अलगाववादियों पर कश्मीरी पंडितों की वापसी को लेकर झूठ फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि कश्मीरी पंडित खुद तय करेंगे कि उन्हें कहां और कैसे रहना है।
 
रविवार को 'रूट्स इन कश्मीर' के कार्यक्रम में मीडिया से बात करते हुए खेर ने कहा, 'मुझे व्यक्तिगत तौर पर लगता है कि आर्टिकल 370 को खत्म कर दिया जाना चाहिए।' गौरतलब है कि अनुपम खेर भी मूल रूप से कश्मीरी पंडित हैं।
 
खेर ने कहा कि कश्मीरी पंडित जिन बस्तियों में रहते थे, वे वहां नहीं लौट पाएंगे। उनका कहना था कि ज्यादा संपत्तियां जला दी गई हैं और बाकी में कब्जा कर लिया गया है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की कि पंडितों के लिए नई स्मार्ट सिटी बनाई जाए। खेर ने कहा, 'जब कश्मीरी पंडित घाटी लौटें, तो बेहद जरूरी है कि वे सुरक्षित महसूस करें। ऐसा तभी हो पाएगा, जब वे एक ही टाउनशिप में एकजुट होकर रहेंगे।'
 
श्री खेर ने कहा, 'मैं सरकार से गुजारिश करता हूं कि वहां स्मार्ट सिटी बनाई जाए। देश के बेस्ट डॉक्टर्स, एजुकेशनिस्ट और आईटी प्रफेशनल पंडित कम्यूनिटी से ही आते हैं। अगर टाउनशिप को स्मार्ट सिटी के तौर पर बसाया जाएगा, तो पूरी कश्मीर घाटी को फायदा होगा।'
 
उन्होंने अलगाववादियों और कश्मीर की राजनीतिक पार्टियों की आलोचना करते हुए कहा कि वे कश्मीरी पंडितों की वापसी को लेकर झूठ फैला रहे हैं। उन्होंने कहा, 'कश्मीरी पंडित भारत के आजाद नागरिक हैं और उन्हें यह अधिकार है कि वे कहां और कैसे रहेंगे। किसी और को शर्तें थोपने का अधिकार नहीं है। कम से कम उन अलगाववादियों और आतंकियों को तो बिल्कुल नहीं, जो हमें बाहर निकालने के लिए जिम्मेदार हैं।'

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top