ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

अश्विनी कुमार 'सुकरात'
 

  • हे राष्ट्र के कर्णधारों, देश को इस मानसिक गुलामी से मुक्त करो!

    सेवा में, माननीय राष्ट्रपति महोदय, राष्ट्रपति भवन, नई दिल्ली 110001 । माननीय प्रधानमंत्री महोदय, प्रधानमंत्री कार्यालय, साऊथ ब्लाक , नई दिल्ली, 110001। माननीय कैबिनेट मंत्रीगण, प्रधानमंत्री कार्यालय, साऊथ ब्लाक , नई दिल्ली, 110001। माननीय मानव संसाधन मंत्री, मानवसंसाधन मंत्रालय, नई दिल्ली, 110001। माननीय सांसदगण लोकसभा, संसद भवन, नई दिल्ली, 110001। माननीय सांसदगण राज्यसभा, संसद भवन, नई दिल्ली, 110001। माननीय याचिका समिति, लोकसभा, संसद भवन, नई दिल्ली, 110001। माननीय याचिका समिति, राज्यसभा, संसद भवन, नई दिल्ली, 110001। माननीय नेता प्रतिपक्ष, लोकसभा, संसद भवन, नई दिल्ली, 110001। माननीय नेता प्रतिपक्ष, राज्यसभा, संसद भवन, नई दिल्ली, 110001। संपादक, समस्त निष्पक्ष जनसंचार माध्यम(प्रिंट-इलैक्ट्रोनिक आदि)

  • जनभाषा में सबको मिले ये अधिकार -समान- सार्थक शिक्षा, न्याय और रोजगार

    दुनियाभर के श्रेष्ठ शिक्षाविदों के साथ शिक्षा पर शोध करने वाली एनसीईआरटी के अनुसार भी बच्चों के सीखने का सर्वोत्तम माध्यम बच्चे के परिवेश की भाषा ही है।

  • सरकारी हिन्दी के श्रध्दांजलि दिवस पर विशेष

    सरकारी हिन्दी के श्रध्दांजलि दिवस पर विशेष

    343 (1) में संशोधन हो हिन्दी की जगह समस्त भारतीय भाषाओं को समान स्थान दिया जाए । इससे अखिल भारतीय ‘हिन्दुस्तानी’ भाषा का स्वतः विकास होगा ।

Back to Top