ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

हर्षिल मेहता
 

  • त्रिकोणमिति में भारत का योगदान

    त्रिकोणमिति में भारत का योगदान

    सूर्यसिद्धांत जैसा की नाम से ही पता चलता है की खगोलशास्त्रीय सिद्धांत-ग्रंथो का समूह है। वर्तमान समय में उपलब्ध ग्रन्थ मध्ययुग रचित लगता है,

Back to Top