ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

निर्मलकुमार पाटोदी
 

  • इंडिया नहीं, भारत ही कहा जाए।

    इंडिया नहीं, भारत ही कहा जाए।

    सन्दर्भ बताते हैं कि देवश्रवा और देववात इन दो भरतों यानी भरतजन के दो ऋषियों ने ही मन्थन के द्वारा अग्नि प्रज्वलन की तकनीक खोज निकाली थी। भरतों से निरन्तर संसर्ग के कारण अग्नि को भारत कहा गया.

Back to Top