ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

पंकज दुबे, रायपुर
 

  • मिट्टी से सोना बना रहे हैं चंदन

    मिट्टी से सोना बना रहे हैं चंदन

    परिवार की आर्थिक स्थिति मिट्टी के बर्तन पर निर्भर थी। घर में दादा की जुबानी अक्सर सुनने को मिलता था कि दाई मरे, दादा मरे, रोजगार मरे... यानी मां-दादा गुजर गए तो रोजगार भी मर गया। दादा का यह दर्द मुझे सालता रहा।

Back to Top