ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

पवन अग्रवाल
 

  • केवट की कथा क्षीरसागर का कछुवा

    क्षीरसागर में भगवान विष्णु शेष शैया पर विश्राम कर रहे हैं और लक्ष्मी जी उनके पैर दबा रही हैं। विष्णु जी के एक पैर का अंगूठा शैया के बाहर आ गया और लहरें उससे खिलवाड़ करने लगीं।

Back to Top