आप यहाँ है :

शिबन कृष्ण रैणा
 

  • श्राद्ध पक्ष और एक दयालु बुजुर्ग का साथ

    श्राद्ध पक्ष और एक दयालु बुजुर्ग का साथ

    प्रायः लोग कहते हैं कि अपने दुःख को बांटने से कोई फायदा नहीं है।लोग एक कान से सुनते हैं और दूसरे से निकाल देते हैं।ऐसे लोग रहीम का वह दोहा भी कोट करते हैं जिसमें रहीम कहते हैं कि ‘रहिमन निज मन की बिथा, मन ही राखो गोय।

  • हिंदी को अभिलाषा से जोड़ना होगा

    हिंदी को अभिलाषा से जोड़ना होगा

    हिंदी-दिवस हर वर्ष १४ सितंबर को मनाया जाता है। .सरकारी कार्यालयों में,शिक्षण-संस्थाओं में,हिंदी-सेवी संस्थाओं आदि में हिंदी को लेकर भावपूर्ण भाषण व व्याख्यान,निबन्ध-प्रतियोगिताएं,कवि-गोष्ठियां पुरस्कार-वितरण आदि समारोह धडल्ले से होते है।

  • दुष्ट का यशोगान क्यों?

    दुष्ट का यशोगान क्यों?

    दरअसल,बुधवार को यासीन मलिक को अदालत में उसके दुष्कर्मों की सजा सुनाई जानी थी।दुर्दांत आतंकी यासीन मलिक पर कई आरोप थे। उस पर यूएपीए की धारा के तहत आतंकवादी गतिविधियों में शामिल होने से लेकर उन गतिविधियों के लिए धन जुटाने का आरोप लगा था।

  • कश्मीर  में कब थमेगा खूनी खेल

    कश्मीर में कब थमेगा खूनी खेल

    12 मई गुरुवार शाम को चडूरा गांव में स्थित तहसील ऑफिस में घुसकर जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों ने 36 साल के राहुल भट्ट पर गोलियां बरसा दी थीं। राहुल को हमले के तुरंत बाद अस्पताल पहुंचाया गया था,

  • वह भी एक दौर था, ये भी एक दौर है

    वह भी एक दौर था, ये भी एक दौर है

    मेरी कई सारी रचनाएं पिछले दो-तीन दशकों के दौरान हिंदी की प्रसिद्ध पत्रिकाओं में छपी हैं।कुछ आज भी उतनी ही प्रासंगिक हैं जितनी अपने समय में थीं।उनको अगर आज के पाठक के लिये पुनः प्रस्तुत किया जाय तो वह आनंदित ही होगा।

  • आतंकवादियों के साथ भाई चारे के गीत गाने से कुछ नहीं होगा

    आतंकवादियों के साथ भाई चारे के गीत गाने से कुछ नहीं होगा

    समय आ गया है जब हमारे खुफिया तंत्र को और मज़बूत बनाया जाय और जिहादियों से निपटने के लिए कोई और कारगर योजना बनाई जाए।जिहादियों को प्रश्रय देने या फिर उनसे सहानुभूति रखने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाय।

  • कश्मीरी हिंदुओं का विशेष पर्व है नवरेह

    कश्मीरी हिंदुओं का विशेष पर्व है नवरेह

    कश्मीरी पंडितों का पंचाग (जिसे ‘जंत्री’) कहते हैं, पहले तो कश्मीर में छपता था, अब विस्थापन के बाद जम्मू से छपने लगा है।मैं ने यह पंचाग कई सप्ताह पूर्व फेसबुक में विज्ञापन देखकर जम्मू से ऑनलाइन मंगवाया था।मेरे खूब याद दिलाने पर भी भेजने वाले धर्मप्राण-बन्धु ने आज तक न तो पैसों की बात की

  • ‘द कश्मीर फाइल्स’ ने तो सबको रुवा दिया

    ‘द कश्मीर फाइल्स’ ने तो सबको रुवा दिया

    दरअसल,फिल्म का आधिकारिक ट्रेलर कुछ दिनों पहले रिलीज किया गया था और इसमें दिखाये गये मर्मस्पर्शी दृश्यों को लेकर इस फिल्म की काफी तारीफ भी हुई थी। ट्रेलर में दिखाया गया है कि कश्मीर में आजादी की मांग को लेकर उस वक्त अलगाववादी ताकतें चरम पर थीं

  • रूस भारत का पुराना मित्र है

    रूस भारत का पुराना मित्र है

    यूक्रेन पिछले तीन दशकों से पाकिस्तान को हथियार बेचने वाले सबसे बड़ा देश बना हुआ है। यानी पाकिस्तान की हथियारों की जरूरत यूक्रेन ही पूरा करता है। एक सूचना के मुताबिक पिछले 30 वर्षों में पाकिस्तान यूक्रेन से 12 हजार करोड़ रुपये के हथियार खरीद चुका है।

  • विचारों की इस सुवास में कितनी ताज़गी है?

    विचारों की इस सुवास में कितनी ताज़गी है?

    उसे अपने यहाँ स्थापित पूरे आतंकी ढांचे को खत्म करना होगा, जैसा कि दो दशक पहले भारत के साथ शिखर सम्मेलन की बैठकों में पाक वादा कर चुका है। शांति और मैत्रीपूर्ण संबंधों के सपनों को साकार करने के लिए पाकिस्तान के लिए शांति स्थापना के विशेष संदर्भ में नए सिरे से सोचना और कार्य करना उचित होगा।

Get in Touch

Back to Top