Thursday, July 25, 2024
spot_img
Homeमीडिया की दुनिया सेबाल भारती की वेबसाईट कविता-कहानियाँ भी सुनाएगी

बाल भारती की वेबसाईट कविता-कहानियाँ भी सुनाएगी

बालभारती की वेबसाइट पर जल्‍द ही इसकी बोलती हुई पुस्‍तकें ऑनलाइन की जाएंगी। इनमें गद्य और पद्य पठन के तरीके का ऑडियो उपलब्‍ध होगा। यानी यह पुस्‍तकें बच्‍चों को खुद बताएंगी कि उन्‍हें कैसे पढ़ना है। पुस्‍तकों को पूर्ण रूप से ऑनलाइन करने के साथ ही टॉकिंग बुक्‍स उपलब्‍ध कराने की बालभारती की योजना है। शै‍क्षणिक सत्र 2015-16 में पांचवी कक्षा के पाठ्यक्रम में बदलाव भी किया गया है। इसके साथ ही बालभारती की वेबसाइट का नाम भी बदल दिया गया है। अब इसका नाम www.balbharati.in से बदलकर ebharti  कर दिया गया है।
 
बालभारती की इस योजना का फायदा स्‍कूली विद्यार्थियों के साथ ही बड़े लोगों को भी मिलेगा। बड़े लोग भी किताबों के माध्‍यम से बचपन की यादें ताजा कर सकेंगे। बालभारती के निदेशक चंद्रमणि बोरकर ने बताया कि बालभारती की योजना ऑनलाइन टॉकिंग बुक्‍स उपलब्‍ध कराने की है। उन्‍होंने बताया कि इसका उद्देश्‍य यह है कि बड़े होने के साथ ही पुरानी कविताओं व गद्यों के पठन का तरीका हम भूल जाते हैं। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा और वे टॉकिंग बुक्‍स की सहायता से उन्‍हें पढ़ने का फिर अभ्‍यास कर सकेंगे।
 
साभार- समाचार4मीडिया से 

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -

वार त्यौहार