आप यहाँ है :

बल्लेबाज़ नीतीश राणा ने अपनी पत्नी के साथ नोकझोंक से भरे रिश्ते के बारे में खुल कर बातें की

केकेआर के बल्लेबाज़ नीतीश राणा ने न सिर्फ अपने टीम के लिए मैच जिताने वाली पारियां खेली हैं बल्कि इन्होंने कुछ जबरदस्त विकेट भी लिए हैं। लेकिन क्रिकबज़ के नए शो स्पाइसी पिच के लेटेस्ट एपिसोड में राणा और उनकी पत्नी साची मारवाह, जो एक इंटीरियर डिजाइनर भी हैं, ने अपने रिश्ते के बारे में खुल कर बात की।

मारवाह बताती हैं, “हमारे आस–पास के सब लोग अब हमें टॉम और जेरी कहने लगे हैं क्योंकि हम अक्सर लड़ पड़ते हैं। जहाँ तक बात है कौन टॉम है और कौन जेरी– तो भूमिकाएं अक्सर बदल जाती हैं।”

अपनी बात जारी रखते हुए वे कहती हैं, “जब हम मिले थे तो बहुत अलग थे– हमारे बैकग्राउंड अलग थे, हमारी लाइफस्टाइल अलग थी। जैसे, मैं पार्टी करना, पार्टी में जाना पसंद करने वाली लड़की थी जबकि ये एक शर्मीले, घर पर समय बिताना पसंद करने वाले लड़का थे।”

“हाल के वर्षों में चीजें बहुत बदल गईं हैं। आज मैं घर पर रहना पसंद करती हूँ जबकि अब ये पार्टी पर्सन बन गए हैं। बीते कुछ वर्षों में हम दोनों की भूमिकाओं का इस तरह बदल जाना बेहद दिलचस्प है।”

राणा एक दिलचस्प किस्से का जिक्र करते हैं। “करीब डेढ़– दो साल पहले, मैं अपने दोस्तों के साथ गोवा गया था। मैं सच में किसी कैसीनो में जाना चाहता था– पीने या जुआ खेलने की बजाए अनलिमिटेड बुफे का लुत्फ उठाने के लिए!”

“साची नहीं चाहती थी कि मैं जाऊं क्योंकि उनके हिसाब से जुआ खेलना अच्छी बात नहीं है। मैंने फोन पर उससे बात की और कहा कि मैं बहुत थक गया हूँ और सोने जा रहा हूँ। और फिर मैंने सुबह साढ़े पांच बजे तक कैसीनो में मस्ती की!”

जब हमने जानने की कोशिश की कि आखिर ये दोनों आपस में किस बात पर इतना लड़ते हैं, तो पता चला कि इनमें अक्सर छोटी– छोटी बातों पर लड़ाई हो जाती है! राणा बताते हैं, “हमारे कमरे में यह एक छोटा तकिया है– मैं और साची दोनों इस बात पर झगड़ पड़ते हैं कि रात को इस तकिए पर कौन सोएगा!”

किस्मत से, ये झगड़े छोटे और मज़ेदार होते हैं और लगता है यह जोड़ा एक दूसरे से बहुत प्यार करता है। राणा के व्यक्तिगत जीवन और उनके क्रिकेटर बनने के सफर के बारे में अन्य दिलचस्प कहानियों के लिए स्पाइसी पिच का लेटेस्ट एपिसोड देखें। यह एपिसोड 30 मई, शनिवार से क्रिकबज़ की वेबसाइट पर देखा जा सकेगा।

लिंक: Nitish Rana Episode

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top