ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

नन्हें दिलों को बचाने के लिये गुरूग्राम में में जुटे बड़े कारोबारी

गुरूग्राम। मुंबई एवं बेंगलुरू में शानदार संचालन के बाद जेनेसिस फाउंडेशन की फंड जुटाने की चर्चित पहल ‘सीईओज सिंग फॉर जीएफ किड्स‘ दिल्ली-एनसीआर पहुंची और भारत के कुछ सबसे बड़े बिजनेस लीडर्स की शानदार धुनों पर थिरकने पर मजबूर हो गयी। मौका था गुरूग्राम स्थित पंचतारा होटल क्राउन प्लाजा में आयोजित सीईओज सिंग फॉर जीएफ किड्स के 20वें संस्करण का, जहां नन्हें बच्चों को बचाने और दिल जीतने के लिये देश की प्रमुख कंपनियों के 15 कॉर्पोरेट लीडर्स ने मस्ती, फूड, म्यूजिक से भरपूर इस एक नेक कार्य के लिए आयोजित कार्यक्रम में भाग लिया।

विभिन्न कंपनियों के सीईओ‘ज हर साल जेनेसिस फाउंडेशन के इस नेक कार्य के प्रति अपनी प्रतिबद्धता तथा उत्साह दिखाते हैं। जेनेसिस फाउंडेशन द्वारा सुविधा से वंचित बच्चों के हृदय रोगों का उपचार कराया जाता है। ये सीईओ, जिन्हें अपने कारोबार में महारत हासिल है और बेहद आसानी से बोर्ड रूम्स में शिरकत करते हैं, उन्होंने एक साथ आने और कुछ अलग करने का फैसला किया। ये मंच पर परफॉर्म करते हैं और बच्चों के प्रति अपने प्यार की खातिर लोगों के दिलों को जीतते हैं। इसके प्रतिभागियों में पहले भी परफॉर्म कर चुके सीईओ के साथ ही ऐसे सीईओ भी शामिल थे जिन्होंने जो पहली बार परफॉर्म किया। पैसों से योगदान करने के अलावा ये बेहद प्रभावशाली लोग अपने व्यस्त शेड्यूल से समय निकालते हैं और एक साथ गाते हैं, डांस करते हैं तथा ‘‘नन्हें दिलों को बचाने‘‘ के लिये अपनी तरफ से प्रयास करते हैं।

20वें सीईओ सिंग फॉर जीएफ किड्स के इस साल के संस्करण में शामिल लोगों में विकास गुप्ता, (एमडी, रण्विक एक्सपोर्ट्स प्रा. लि.), विपिन रहेजा (सीएमडी, नैपिनो ऑटो एंड इलेक्ट्रॉनिक्स लि.), संजय कपूर (चेयरमैन, आइबस नेटवर्क्स), शिरीष जोशी (संस्थापक सीईओ, प्रिज्म कंसल्टिंग), रंजन चोपड़ा (सीईओ, टीम कम्प्यूटर्स), अजय कौल (पूर्व सीईओ, जुबिलेंट फूड्स), डॉ. हर्ष महाजन (संस्थापक और चीफ रेडियोलॉजिस्ट, महाजन इमेजिंग), अतुल आहूजा (प्रेसिडेंट, लर्निंग पाम), विशाल मलिक (हेड ऑफ ऑपरेशन्स, मैकिन्से इम्प्लीमेंटेशन प्रैक्टिस और मैकिन्से कैपेबिलिटी सेंटर (एमसीसी), भारत), मनीष कपूर (पार्टनर, केपीएमजी इंडिया), लोकवीर कपूर (सीईओ, पाइन लैब्स प्रा. लि.), परमिन्दर चड्ढा (मैनेजिंग डायरेक्टर, कसौली एक्जॉटिका होटल) आदि प्रमुख थे।

कार्यक्रम के बारे में प्रेमा सागर, संस्थापक, जेनेसिस फाउंडेशन ने कहा, “सी.ई.ओ. सिंग फॉर जी.एफ. किड्स की यह यात्रा बेहद उल्लेखनीय है। एक छोटी सी गतिविधि से शुरू होकर आज यह मंच संगीत का बहुत विशाल मंच बन गया है, जो वास्तव में दिल को खुश करता है। लेकिन अब हमें और मेहनत करनी है क्योंकि नन्हें दिलों को बचाने का आगे का सफर और कठिन होगा। बहुत सारे नन्हें दिल फिर से धड़कना चाहते है ऐसा करने के लिए हमें जरूरत है अधिक से अधिक लोग इस मुहिम से जुड़ें और इस लड़ाई में शामिल हों। आज यहां जिस तरह का समां है और जो सहयोग हमें मिला है वह बहुत अच्छा है उम्मीद है भविष्य में भी इसी तरह का साथ और सहयोग मिलता रहेगा।’’

आई बस नेटवर्क के चेयरमैन संजय कपूर ने कहा,‘‘जेनेसिस फाउंडेशन के साथ मेरा चार वर्ष से ज्यादा पुराना साथ है और यह लगातार आगे बढ़ रहा है। सी.ई.ओ. सिंग एक ऐसा कार्यक्रम है, एक ऐसा जश्न है जहां लोग नेचुरल रूप से जुड़े हैं, किसी का कोई निजी स्वार्थ या उद्देश्य नहीं जुड़ा। यहां हमें मौका मिलता है जी.एफ. से जुड़े ऐसे लोगों से मिलने का, उनके प्रति स्नेह व्यक्त करने का साथ ही जी.एफ. किड्स के अनुभवों को साझा करने का जो अपने आप से खास है।‘‘

पी. बालाजी (डायरेक्टर रेगुलेटरी, एक्सटर्नल अफेयर्स एंड सी.एस.आर. वोडाफोन इंडिया) ने बताया कि ‘‘मैं और मेरी बेटी अक्सर घर में एक साथ गाते हैं। ऐसे में हमें बहुत अच्छा लगता है कि हम अपनी कला के माध्यम से एक सकारात्मक पहल के लिए योगदान करें, जहां बच्चों की भी मदद हो रही है। मुझे लगता है यह एक शानदार अवसर है जहां अपने कला-कौशल से लोगों को फायदा मिलता है और सभी को ऐसे कार्यक्रमों से जुड़कर जरूरतमंद लोगों की मदद हेतु आगे आना चाहिए।

संपर्क

Shailesh K. Nevatia
# 9716549754

Print Friendly, PDF & Email


सम्बंधित लेख
 

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top