आप यहाँ है :

गाँधी के स्वदेशी अभियान को आगे बढ़ा रहा है बिहार फाउंडेशन

मुंबई। बिहार फाउंडेशन मुम्बई के बांद्रा कार्यालय सभागार में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती मनाई गई I कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में आये बिहार फाउंडेशन के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी सह निवेश आयुक्त रवि शंकर श्रीवास्तव ने बापू को माल्यार्पण कर कार्यक्रम की शुरुआत की। कार्यक्रम में शामिल गणमान्य लोगों ने गाँधी जी को पुष्पांजलि दी और सप्ताह में एक दिन खादी पहनने की शपथ ली। कार्यक्रम में शामिल बुनकर समाज लोग गांधी जी को याद करते हुए भाव विह्वल हो गए और कहा कि सूत कातने और चरखा चलाने से लेकर खादी वस्त्र तैयार करने तक गांधी ने लाखों परिवारों को रोजगार दिया था जो आज खत्म होता जा रहा है, इसपर ध्यान देने की जरूरत है। बिहार औद्योगिक विकास प्राधिकरण के प्रबंध निदेशक का अतिरिक्त कार्य भार सम्भाल रहे रवि शंकर श्रीवास्तव ने कहा कि हम बापू के स्वदेशी अभियान को आगे ले जाने के लिए कटिबंध है। हमने आईडा के साथ मिलकर पटना के गांधी मैदान में ‘ गाँधी – माल ‘ बनवाया गया है जिसका उद्घाटन 3 October को मुख्यमंत्री के हाथों किया जाना था, पटना में आये बाढ़ की वज़ह से फिलहाल इसे टाल दिया गया है, इस माल में खादी के कपड़े,हस्तशिल्प एवं हस्तकला के उत्पादों के के साथ-साथ दर्जी भी उपलब्ध होगा जो आपको कपड़े सिलाई करके भी देगा।

बिहार फाउंडेशन मुंबई चैप्टर के संयुक्त प्रवक्ता मनोज सिंह राजपूत ने बताया कि ‘ देश को अर्थिक रूप से मजबूत करने के लिए बापू के स्वदेशी अभियान को गाँव – गाँव तक पहुचाने की जरूरत है। स्वदेशी वास्तुओ के उत्पाद एवं उपयोग से लोगों को रोजगार के साथ-साथ आर्थिक मजबूती भी मिलेगी इसके लिए हम सभी को स्वदेशी अपनाने की जरूरत है । स्वदेशी अपनाने से इसकी मांग बढ़ेगी तो इसके उत्पादन में लगे मजदूर वर्ग को काफी फायदा पहुंचेगा।’ इस अवसर पर बिहार फाउंडेशन मुंबई के सचिव अहसान हुसैन, बिहार उत्सव समित के चेयरमैन अन्वर कमाल, सचिव सुखदेव शर्मा के अलावा अन्य कई गणमान्य
लोग उपस्थित थे।

मनोज सिंह राजपूत
संयुक्त प्रवक्ता
बिहार फाउंडेशन मुंबई
Contact : 9867311511
E-mail – [email protected]
www.biharfoundationmumbai.in

image_pdfimage_print


Leave a Reply
 

Your email address will not be published. Required fields are marked (*)

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>

सम्बंधित लेख
 

Back to Top