आप यहाँ है :

एमसीडी चुनाव में भाजपा को मिली भारी सफलता पार्टी के विचारों की जीत – अमरजीत मिश्र

मुम्बई बीजेपी के महामंत्री अमरजीत मिश्र ने दिल्ली महानगर पालिका के चुनाव में मिली भारी सफलता का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यों की बढ़ती स्वीकार्यता , बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रणनीति और दिल्ली प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष सांसद मनोज तिवारी के कर्मठ नेतृत्व के अलावा दिल्ली के कार्यकर्ताओं के अपार मेहनत को दिया है। साथ ही उन्होंने इसके लिए दिल्ली में रहनेवाले उत्तरप्रदेश , बिहार ,झारखंड के पूरबियों (उत्तरभारतीयों ) का भी आभार माना है कि श्रम संस्कृति के वंशजों ने बीजेपी के पक्ष में जमकर मतदान किया।

दिल्ली में भोजपुरी के सुपरस्टार व बीजेपी नेता मनोज तिवारी पूरबियों को यह विश्वास दिलाने में कामयाब रहे कि दिल्ली में विकास का काम सिर्फ बीजेपी ही कर सकती है।पार्लियामेंट से पंचायत तक बीजेपी का संकल्प अब देश का मतदाता पूरा करेगा।श्री मिश्र ने कहा कि दिल्ली म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन में हैट्रिक लगानेवाली बीजेपी पिछली बार के 138 के मुकाबले इस चुनाव में 185 सीट जीती। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के इलाके पटपड़गंज में भी बीजेपी को बड़ी सफलता मिली।

श्री मिश्र ने कहा कि दिल्ली की जनता आम आदमी पार्टी की हिपोक्रेसी से भी तंग आ चुकी थी। सरकार के लाखों रूपये के समोसे खा जानेवाले, अपने प्रमुख कार्यकर्ताओं को सरकारी सचिव का पद देकर करोड़ों रूपये की तनख्वाह देनेवाले, गरीबों के पैसों से 12 हजार रूपये की थाली खानेवाले और अपनी गाड़ियों में वीआईपी नंबर प्लेट लगानेवाले आम आदमी पार्टी के नेताओं की कथनी करनी का फर्क लोगों को समझ आ गया है। राजनीति में सुचिता की बात करनेवाले आप के नेता दो वर्षों में ही एक्सपोज हो गए।श्री मिश्र ने आप में बढ़ते असंतोष पर कहा कि अब कभी भी दिल्ली विधानसभा का मध्यावधि चुनाव हो सकता है।

मुम्बई के भाजपा नेता श्री मिश्र ने कहा कि देश की राजनीति से अप्रासंगिक हो चली कॉंग्रेस जैसे तैसे अपनी इज्जत बचा पायी। दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष अजय माकन ने इस्तीफा देकर कॉंग्रेस के अन्य नेताओं को भी उनकी विफलताओं के लिए पद छोड़ने के लिए मजबूर किया है।

भारतीय जनता पार्टी के महामंत्री अमरजीत मिश्र ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का इस बात के लिए आभार माना कि उन्होंने भोजपुरी भाषा का मान बढ़ाया है।बनारस से लोकसभा सदस्य श्री मोदी ने जिस तरह से भोजपुरी सुपरस्टार व सांसद मनोज तिवारी के हाथ में कमान सौंपी और अभिनेता रवि किसन ने जिस तरह दिल्ली मनपा चुनाव में खुद को झोंका , इससे भोजपुरिया समाज और उनकी भाषा का रुतबा बढ़ा। यही कारण था कि कई राष्ट्रीय टीवी चैनल के एंकरों को चुनाव परिणाम वाले दिन मनोज तिवारी व रवि किसन से भोजपुरी में प्रश्न पूछने पड़ रहे थे। प्रधानमंत्री ने आजादी के बाद पहली बार भोजपुरिया समाज को यह इज्जत बख्शी है। इससे पहले कॉंग्रेस तो पूर्वांचल के लोगों को सिर्फ वोट बैंक बनाकर रखती थी और उनके साथ मजदूरों सा व्यव्हार कर बस उनका भावनात्मक शोषण करती रही है। श्री मिश्र ने कहा कि भाजपा ने भोजपुर के बेटे मनोज तिवारी को सम्मान देकर समस्त पूर्वांचलियों का दिल जीतकर दिल्ली जीत ली।



सम्बंधित लेख
 

Back to Top