ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

हिन्दी जगत
 

  • गूगल ने दिए हिंदी के 40 नए फोंट्स

    गूगल ने हिंदी भाषा में काम करने वाले, विशेषकर लेखकों और पत्रकारों की एक बड़ी समस्या का समाधान कर दिया है। गूगल ने यूनिकोड के 40 से अधिक फॉन्ट्स उपलब्ध कराए हैं, जोकि पूरी तरह से फ्री हैं। ये फॉन्ट्स आसानी से उपयोग किए जा सकते हैं।

  • हिंदी में ई मेल आईडी बनाने की सुविधा उपलब्ध हुई

    अब देश में हिंदी भाषी और इस भाषा के प्रेमी हिंदी में भी अपना ईमेल आईडी बना सकेंगे। इंफोसिस के पूर्व चेयरमैन मोहनदास पई ने इस बात की जानकारी अपने ट्विटर हैंडल पर साझा की है।

  • महाराष्ट्र राज्य हिंदी साहित्य अकादमी के पुरस्कारों की घोषणा

    मुंबई : महाराष्ट्र राज्य हिन्दी साहित्य अकादमी द्वारा वर्ष 2016-17 के पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में हिन्दी के प्रचार-प्रसार एवं विकास हेतु सतत रूप से प्रयासरत हिन्दी साहित्य अकादमी द्वारा प्रतिवर्ष हिन्दी सेवियों को पुरस्कृत किया जाता है। अकादमी द्वारा दिए जाने वाले ये पुरस्कार अखिल भारतीय, राज्य स्तरीय तथा विधागत होते हैं। सभी पुरस्कृत व्यक्तियों को अकादमी द्वारा आयोजित एक सम्मान समारोह में नगद पुरस्कार, स्मृति चिह्न तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाता है।

  • हिंदी के सबसे लोकप्रिय शब्द के लिए शब्द भेजें

    हिंदी भाषियों के लिए यह गर्व की बात है कि पहली बार ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी 2017 के लिए 'हिंदी वर्ड ऑफ द इयर' यानी हिंदी के सबसे लोकप्रिय शब्द की घोषणा करेगी। ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी ने पूरे देश के हिंदी भाषी लोगों से इसमें मदद की अपील की है। 29 नवंबर तक एंट्रीज जमा करनी होगी। इस शब्द की घोषणा जनवरी 2018 में होगी।

  • हिंदी और बांग्ला में उपलब्ध होंगी ऑक्सफोर्ड की पुस्तकें

    हिंदी समेत भारतीय भाषाओं के बढ़ते महत्व के मद्देनजर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस (ओयूपी) अगले साल जनवरी में भारतीय भाषा प्रकाशन कार्यक्रम की शुरुआत कर रहा है, जिसके तहत शुरुआत में हिंदी एवं बांग्ला भाषाओं में पुस्तकों का प्रकाशन किया जाएगा और भविष्य में अन्य भारतीय भाषाओं को भी इसमें जोड़ा जाएगा। इस कार्यक्रम के तहत हिंदी एवं बांग्ला में नई किताबों के प्रकाशन के साथ ही ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी प्रेस अपनी पूर्व प्रकाशित पुस्तकों का अनुवाद भी प्रिंट और डिजिटल संस्करण में पाठकों को उपलब्ध कराएगा।

  • मुक्तिबोध ने राजनांदगांव में रचा हिंदी कविता

    राजनांदगांव। डॉ. चन्द्रकुमार जैन ने कहा है कि हिंदी कविता के महानतम हस्ताक्षर गजानन माधव मुक्तिबोध का छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव शहर से गहरा नाता रहा है।

  • हिन्दी लेखिका कृष्णा सोबती को मिलेगा साल 2017 का ज्ञानपीठ पुरस्कार

    हिन्दी लेखिका कृष्णा सोबती को मिलेगा साल 2017 का ज्ञानपीठ पुरस्कार

    हिन्दी की प्रख्यात लेखिका कृष्णा सोबती को इस वर्ष का ज्ञानपीठ पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की गई है। भारतीय ज्ञानपीठ के निणार्यक मंडल की बैठक में 92 वर्षीय सोबती का चयन किया गया। यह बैठक हिन्दी के सुप्रसिद्ध मार्क्सवादी आलोचक डॉ. नामवर सिंह की अध्यक्षता में हुई।

  • उमेश नेमा, बिनय षडंगी राजाराम और चरनजीत कुकरेजा का रचना-पाठ सम्पन्न

    भोपाल। साहित्य अकादमी, मध्यप्रदेश संस्कृति परिषद्, संस्कृति विभाग, भोपाल द्वारा आयोजित निरंतर रचनापाठ की शृंखला के अंतर्गत वरिष्ठ साहित्यकार श्री महेश सक्सेना की अध्यक्षता में उमेश नेमा, बिनय षडंगी राजाराम और चरनजीत कुकरेजा का रचना-पाठ स्वराज भवन के सभागार में संपन्न हुआ।

  • मतदाता जागरूकता और लोकतंत्र की मज़बूती पर हुआ जोरदार मंथन

    मतदाता जागरूकता और लोकतंत्र की मज़बूती पर हुआ जोरदार मंथन

    राजनांदगांव। राष्ट्रीय मतदाता जागरूकता अभियान ( स्वीप प्लान ) अंतर्गत शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में निबंध एवं वाद-विवाद की प्रतियोगिताएं अभूतपूर्व उत्साह के साथ सम्पन्न हुई। इन विधाओं के संयोजक डॉ. चन्द्रकुमार जैन ने भारत निर्वाचन आयोग की मंशा और जिला लोक शिक्षा समिति और स्वीप प्लान की अपेक्षा के अनुरूप प्रतियोगिता के उद्देश्य और मतदान के प्रति बहुआयामी जागरूकता की ज़रुरत को प्रेरक शब्दों में समझाया।

  • हिंदी प्रेमियों हिंदी के लिए ये पत्र भेजिये प्रधान मंत्री जी को

    प्रति, श्री नरेन्द्रजी मोदी, प्रधानमंत्री, भारत सरकार, नईदिल्ली विषय- भारत बने भारत महोदय, सर्वविदित है कि संभवत: विश्व में हमारा देश एकमात्र देश है जो दो अलग-अलग भाषाओं और लिपियों में दो अलग-अलग नामों से जाना जाता है- हिन्दी/देवनागरी में भारत, इंग्लिश/रोमन तथा अन्य विदेशी भाषा और लिपियों में India/इंडिया। शर्म आती है, दु:ख होता […]

Back to Top