आप यहाँ है :

जियो तो ऐसे जियो
 

  • पत्नी को इलाज के बीच गर्मी लगी थी, पूरे वार्ड में लगवा दिया कूलिंग सिस्टम

    पत्नी देवश्री राय (49) को ब्रेस्ट कैंसर था। इलाज के लिए जवाहरलाल नेहरू कैंसर हॉस्पिटल में भर्ती कराया। डॉक्टरों ने कीमोथेरेपी दी। इसके लिए जिस वार्ड में भर्ती किया, वहां गर्मी से राहत देने की कोई व्यवस्था नहीं थी। कीमोथेरेपी के दौरान पत्नी को गर्मी से हुई तकलीफ का अहसास बीते साल फरवरी 2014 में […]

  • 12 लाख की नौकरी छोड़ खेती मं दिखाया दम

    उत्तम खेती मध्यम व्यापार, नौकरी चाकरी भीख निदान। एक जमाना था, जब खेती को उत्तम माना जाता था। पिछले कुछ अर्से से किसानों के बेटे खेती छोड़कर नौकरी की तरफ भाग रहे हैं। किसानों का मानना है कि खेती घाटे का सौदा बन गई है। निराशा के इस माहौल में बिजनौर के हरेवली का युवा […]

  • गए थे रिपोर्टिंग को, करने लगे ऑपरेशन

    सीएनएन के पत्रकार डॉक्टर संजय गुप्ता ने नेपाल में रिपोर्टिंग के दौरान एक किशोरी की ब्रेन सर्जरी कर मानवता की एक मिसाल पेश की । न्यूरोसर्जन डॉ. गुप्ता सीएनएन की ओर से नेपाल में आए भीषण भूकंप को कवर करने गए थे, लेकिन वहां उन्होंने 15 साल की एक बच्ची संध्या चेलिस का ऑपरेशन किया। […]

  • किसी ने बर्तन मांजे तो किसी ने सब्जी बेची, मगर परीक्षा में अव्वल आए

    राजधानी में कई ऐसे मेधावी छात्र हैं, जिन्हें केवल पढ़ाई की चिंता नहीं, रोटी की भी है। स्कूल में पढ़ाई करने के बाद ये छात्र काम भी करते हैं, दो पैसे कमाते भी हैं इसके बावजूद ये अच्छे नंबर लेकर पास हुए हैं। नईदुनिया ने पड़ताल की तो पाया कि शहर के इन मेधावी छात्रों […]

  • खबर लिखने की कितनी अकल होती है पत्रकारों में!

    बचपन में सड़क के किनारे फुटपाथ पर मजमा लगाने वालों को देखने में बहुत मजा आता था। उनके करतबों से कहीं ज्यादा कौतुहल उनकी बातचीत के तरीके में होता था। वे मुहावरेदार बेतुकी बातें सुनाते थे। जैसे कि एक बार एक मदारी टाइप आदमी ताकत की दवा बेच रहा था। सर्दी की सुबह थी। उसने […]

  • जिंदगी परफेक्ट नहीं हो,तभी चकित करती है

    क्या आप जानते हैं कि उपन्यासकार, इतिहासकार,राजनीतिक विश्लेषक और भारतीय पत्रकारिता की सबसे बुजुर्ग हस्ती खुशवंत सिंह दुनिया से खुद विदा लेना चाहते थे. जी हाँ ! 98 वर्ष के की उम्र में खुशवंत जी ने 18 सितम्बर 2012 को ही नई दिल्ली में कह दिया था कि अब समय आ गया है कि वह […]

  • शिवराज सिंह ने गीता के श्लोक सुनाकर अफसरों को आईना दिखाया

     मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नौकरशाहों के व्यवहार से खुश नही हैं। आईएएस और आईपीएस अफसरों को आइना दिखाते हुए मुख्यमंत्री ने उन्हें अहंकार त्यागने और सरकार को टेम्पररी और खुद को परमानेंट मानने की मानसिकता छोड़ने की सलाह दी। मुख्यमंत्री ने तो यहां तक कहा कि अहंकार में अफसर यह भूल जाते हैं […]

  • किराया देने के पैसे नहीं थे इसलिए पत्रकारिता छोड़ी, मगर अब….

    मीडिया के क्षेत्र में  ऐसे अजीबोगरीब दास्तानें सामने आ सकती हैं, जब किसी को पत्रकारिता जगत का नोबेल पुरस्कार तब मिले, जब वो पैसे की तंगी या कम तनख्वाह के चलते मीडिया की दुनिया को  ही अलविदा कह चुका हो। कैलीफोर्निया के टोरेंस के एक छोटे से अखबार दे डेली ब्रीज के संवाददाता रॉब कुज्नियां […]

  • इस ग्रामीण बुजुर्ग से कुछ सीखेंगे देश के नेता?

    मन में कुछ कर दिखाने की चाहत हो तो मुश्किल काम भी आसान हो जाते हैं। दमोह जिले के मड़ियादो के समीप मदनटोर गांव के एक बुर्जुग ने ऐसी ही एक मिसाल पेश की है। जीवन के अंतिम पड़ाव में कुछ हटकर कर दिखाने की चाहत और आत्म विश्वास से भरे इस बुजुर्ग ने गांव […]

  • मन की कर,सबकी सुन : दूर होगी मानसिक उधेड़बुन

    आजकल दिमागी द्वंद्व या मानसिक संघर्ष आम बात है। यह आदमी को भीतर से तोड़ देता है। उसकी ज़िंदगी की राहों को अनचाही दिशाओं में मोड़ देता है। जीवन की भागदौड़, परेशानी, धार्मिक, सामाजिक व पारिवारिक दबाव आदि के चलते अक्सर व्यक्ति द्वंद्व का शिकार हो जाता है। द्वंद्व है तो यह शरीर और मन […]

Back to Top