आप यहाँ है :

जियो तो ऐसे जियो
 

  • श्रीमती चारु हर्षद शेठ – महिला सशक्तिकरण का उदाहरण

    बी ए तक शिक्षा प्राप्त श्रीमती चारु हर्षद शेठ का विवाह 4 मई 1974 को श्री हर्षद शेठ के साथ हुआ था । उनके शादी के बाद की जिंदगी 8’x 8’ के रूम से शुरू हुई । शादी के बाद स्कूल में नौकरी और ट्यूशन , दोनों पति पत्नी ने  कड़ी मेहनत से बच्चो को […]

  • इ्न्दौर के अग्रवाल समाज की अनुकरणीय पहल

    मध्‍यप्रदेश के इंदौर में अग्रवाल महासभा द्वारा आयोजित तीन दिनी परिचय सम्मेलन में स्वस्थ व स्वच्छ शहर के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाया गया। आयोजन में डिस्पोजल ग्लास और प्लेटों का इस्तेमाल नहीं किया गया। आयोजकों के मुताबिक आयोजन में 15 हजार लोग शामिल होते हैं, जो करीब 60 हजार डिस्पोजल ग्लास व प्लेटों का प्रयोग […]

  • ट्रैफिक जाम की समस्या से पैदा हुआ एक समाधान

    काफी समय अमेरिका में बिताने के बाद जब ब्रजराज वाघानी और रवि खेमानी २००८ में भारत लौटे, तो जो बात उन्हें सबसे ज्यादा चुभी, वह थी मुंबई में सड़कों व ट्रैफिक की खस्ता हालत। साथ ही यह भी कि न तो वाहन चालकों और न ही ट्रैफिक पुलिस के जवानों को इस बात की जानकारी […]

  • मां के संघर्ष की सीख से मिला मुकाम

    देश के सबसे बड़े वाणिज्यिक बैंक की सर्वेसर्वा अरुंधति भट्टाचार्य अपने बैंकिंग के सफर के बारे में कहती हैं कि मैंने ऐसा सोचा नहीं था। बैंकिंग में आना महज इत्तेफाक था। मैंने मेडिकल की परीक्षा पास की थी, लेकिन नक्सल आंदोलन की वजह से उस समय कोलकाता में शैक्षणिक सत्र काफी लेट चल रहे थे। […]

  • एक लाचार और गरीब पिता के बच्चे की जान बचाने आगे आये युवक

    राजस्थान पत्रिका ने खबर दी है कि उज्जैन के युवाओं की संस्था  युवा उज्जैन ने सोशल मीडिया वाट्सअप पर एक परिवार के चिराग को बचाने की मुहिम चलाई और संदेश पढ़कर  लोगों ने ऑपरेशन के लिए मदद देना शुरू कर दी। तीन दिन में 30 हजार रूपए जुट गए, अब इलाज के लिए 20 हजार […]

  • फ़िरदौस ख़ान ने किया वंदे मातरम का पंजाबी अनुवाद

    स्टार न्यूज़ एजेंसी की संपादक फ़िरदौस एवं युवा पत्रकार फ़िरदौस ख़ान ने वंदे मातरम का पंजाबी में अनुवाद किया है. वंदे मातरम भारत का राष्ट्रीय गीत है. इसकी रचना बंकिमचंद्र चटर्जी ने की थी. अरबिंदो घोष ने इस गीत का अंग्रेज़ी में और वरिष्ठ साहित्यकार मदनलाल वर्मा क्रांत ने वंदे हिन्दी में अनुवाद किया था. […]

  • वनवासी कल्याण आश्रम द्वारा मेडिकल कैंप का आयोजन

    मुंबई के वनवासी कल्याण आश्रम के श्री सुशील जाजू के प्रयासों से मुंबई क मालड की समाज सेवी संस्था हेतु व डॉ. श्याम अग्रवाल द्वारा संचालित संजीवनी चंद्रभाल अगरवाल चैरिटेबल ट्रस्ट मलाड द्वार मुंबई से 150 किलोमीटर दूर स्थित वनवासी क्षेत्र विलशेत, सोमटा (विक्रमगढ़) में वनवासियों के लिए मेडिकल कैंप का आयोजन किया गया। रविवार, […]

  • आतंक की दुनिया से अध्यात्म में लौटे अहमद अक्कारी

    इस्लाम की रक्षा के नाम पर डेनमार्क के अहमद अक्कारी ने सात साल पहले पूरी दुनिया में ऐसी आग भड़काई जिसमें करीब 200 लोगों की जान चली गई. तब वह 27 साल का था और बदले की आग से धधक रहा था. अब पश्चात्ताप की आंच से पिघलकर वह धार्मिक सद्भावना का भक्त बन गया […]

  • इन्होंने अंधेरी दुनिया को अपने जज्बे से रोशन किया

    कोलकाता के सावित्री गर्ल्स कॉलेज में आलिफिया तुंडावाला को खासे सम्मान के साथ देखा जाता है। वे राजनीति शास्त्र की प्रोफेसर तथा कार्यकारी विभागाध्यक्ष तो हैं ही, सबके लिए प्रेरणास्रोत भी हैं। कारण यह कि उन्होंने अपनी शारीरिक कमी के चलते पेश आई सारी चुनौतियों को ध्वस्त कर दिया और आज मानव जिजीविषा की मिसाल […]

  • एक शिक्षक जो तैरकर छात्रों को पढ़ाने जाता है!

    अब्दुल मलिक पिछले बीस साल से प्रत्येक दिन नदी को तैरकर पार करके एक दूसरे गाँव के स्कूल में पढ़ाने जाते हैं.  भारत के दक्षिण राज्य केरल के एक छोटे से गाँव में रहने वाले गणित के शिक्षक अब्दुल मलिक ने 20 साल में आज तक कभी स्कूल पहुंचने में देरी नहीं की और न […]

Back to Top