ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

जीवन शैली
 

  • चिंतन, संकल्प और व्यवहार से स्वयं को निखारें युवा

    चिंतन, संकल्प और व्यवहार से स्वयं को निखारें युवा

    शासकीय दिग्विजय महाविद्यालय में अखिल भारतीय युवा जागरण कार्यक्रम के अन्तर्गत गायत्री परिवार के विशिष्ट मार्गदर्शकों ने विद्यार्थियों को श्रेष्ठ जीवन और कर्तव्य निष्ठा का गौरव अर्जित करने की राह बतायी।

  • विवाह का दीया यूं ही जलता रहे

    विवाह का दीया यूं ही जलता रहे

    विश्व विवाह दिवस - 12 फरवरी 2017 पर विशेष विवाह दो महिला-पुरुष के कानूनी, सामाजिक और धार्मिक रूप से एक साथ रहने को मान्यता प्रदान करता है। विवाह मानव-समाज की अत्यंत महत्वपूर्ण प्रथा एवं समाजशास्त्रीय संस्था है।

  • जंकफूड से बीमार हो रहा है समाज

    जंकफूड से बीमार हो रहा है समाज

    दुनिया भर में सबसे ज्यादा लोग खानपान की विकृति की वजह से बीमार हो रहे हैं। खानपान की इस विकृति का नाम है जंकफूड और इससे पैदा हुई महामारी का नाम मोटापा है।

  • ओछी आधुनिकता मानवीय मूल्यों की विध्वंसक है

    ओछी आधुनिकता मानवीय मूल्यों की विध्वंसक है

    'अधुना' यानी यूँ कहें कि इस समय जो कुछ है, वह आधुनिक है. कुछ विचारकों की माने तो आधुनिक शब्द की व्यत्पत्ति पॉचवी शताब्दी के उत्तरार्ध में लैटिन भाषा के 'माँड़्रनस' ( Modernus ) शब्द से हुई, जिसका प्रयोग औपचारिक रूप से तत्कालीन समय में इसाई और गैर-इसाई रोमन अतीत से अलग करने हेतु किया गया था.

  • नज़र नहीं, नजरिया बदलिए

    नज़र नहीं, नजरिया बदलिए

    वास्तव में हम सबके पास प्रभु प्रदत्त अतुलनीय सुन्दर काया और अद्वितीय चिन्तनशील मस्तिष्क है. इसके लिए हम सबको उस परमपिता परमेश्वर को शुक्रिया अदा करना चाहिए. जीवन, मरण, यश, अपयश यह सब तो निश्चित ही है

  • ढ़लती उम्र को पलायनवादी न बनने दे

    ढ़लती उम्र को पलायनवादी न बनने दे

    उम्र के हर लम्हें को जीभर कर जीना चाहिए और उनमें सपनों के रंगों की तरह रंग भरने चाहिए, हर पीढ़ी सपने देखती है और उन सपनों में जिन्दगी के रंग भरती है। ढलती उम्र के साथ विश्वास भी ढलने लगता है, लेकिन कुछ जीनियस होते हैं जो ढलती उम्र को अवरोध नहीं बनने देते।

  • केंसर एक जानलेवा बीमारी कारण और निदान

    केंसर एक जानलेवा बीमारी कारण और निदान

    आधुनिक जीवन शैली और दोषपूर्ण खान-पान के चलते विश्वभर में हर साल लाखों लोग केंसर जैसे बीमारी की चपेट में आ रहे है और असमय ही काल कवलित हो जाते है, विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट के अनुसार दुनिया के बाकी देशों के मुक़ाबले भारत में केंसर रोग से प्रभावितों की दर कम होने के बावजूद यहाँ 15 प्रतिशत लोग केंसर के शिकार होकर अपनी जान गवा देते है।

  • फ्रेंडस दिवस विकास का दिशा-सूचक यंत्र है

    फ्रेंडस दिवस विकास का दिशा-सूचक यंत्र है

    हमारे देश में अन्तर्राष्ट्रीय दिवसों का प्रचलन बढ़ता जा रहा है। प्रायः हर माह का प्रथम रविवार किसी-न-किसी दिवस से जुड़ा होता है। अगस्त का प्रथम रविवार अन्तर्राष्ट्रीय फ्रेंडस दिवस के रूप में मनाया जाता है।

  • भारतीय परिवार में रुसी बहू के अनुभव

    रूसी लड़कियाँ भारतीय लड़कों से विवाह करके भारत जाने के बाद अक्सर भारतीय परिवारों में पारम्परिक भारतीय बहू नहीं बन पातीं, लेकिन इसके बावजूद सँयुक्त परिवार में दूसरे सदस्यों से मिलने वाला प्यार और दुलार उनके मन को काफ़ी भाता है।

  • राजस्थानी जायके का कोई जवाब नहीं!

    राजस्थानी जायके का कोई जवाब नहीं!

    राजस्थान को सांस्कृतिक दृष्टि से भारत के समृद्ध प्रदेशों में गिना जाता है। यहां की संस्कृति जहां त्याग, बलिदान एवं शौर्य की अद्भुत दास्तान है वहीं कला, संगीत, साहित्य एवं सांस्कृतिक प्रतीकों एक विशाल सागर है।

Back to Top