आप यहाँ है :

फिल्म समीक्षा
 

  • सोनाटा

    सोनाटा

    कल मैंने अपर्णा सेन द्वारा निर्देशित फिल्म 'सोनाटा' का प्रीव्यू देखा, यह फिल्म 21 अप्रैल को सिनेमा हाल में रिलीज़ होने जा रही है। अपर्णा एक ज़माने में जानी मानी अभिनेत्री रह चुकी हैं ,

  • ब्लू माउंटेंस-एक फिल्म ही नहीं, सन्देश भी

    ब्लू माउंटेंस-एक फिल्म ही नहीं, सन्देश भी

    आज रिलीज होने वाली ग्रेसी सिंह-रणवीर शौरी अभिनीत ब्लू माउंटेंस महज एक फिल्म नहीं बल्कि बच्चों के नाम एक संदेश है। ऐसा संदेश, जो इस तनावपूर्ण माहौल और हर पल आगे आने की होड़ के बीच बच्चों की जिंदगी बदल सकता है। नन्हे-मुन्ने बच्चे हमारे देश की जनसंख्या का बहुत बड़ा हिस्सा हैं, उनकी भावनाओं एवं समस्याओं को लेकर इनके लायक फिल्में बहुत कम बनती हैं। लेकिन इसके लिये फिल्म के निर्माता के साहस की प्रशंसा की जानी चाहिए। प्लाजा पीवीआर में प्रीमियर शो के अवसर पर ब्लू माउंटेंस की पूरी टीम के साथ दिल्ली के जाने माने हस्तशिल्प निर्यातक और ब्लू माउंटेंस के निर्माता राजेश जैन पूरे उत्साहित थे। आज की तनावपूर्ण जिंदगी में हर बच्चे से मां-बाप ने इतनी उम्मीदें लगा रखी हैं कि कामयाबी से कम उसे कुछ मंजूर नहीं।

  • ए डॉग्स परपज

    ए डॉग्स परपज

    २०१० में जाने माने अमरीकी हास्य और व्यंग लेखक डब्लू ब्रूस कैमरान लिखित उपन्यास ए डॉग्स परपज प्रकाशित हुआ लोगों को यह इतना पसंद आया कि न्यू यॉर्क टाइम्स बेस्टसेलर सूचि के शीर्ष पर ४९ सप्ताह तक रहा. मई २०१२ में कैमरान ने इसी कड़ी में अगला उपन्यास ए डॉग्स जर्नी लिखा. इस के फिल्मांकन के अधिकार ड्रीमवर्ल्ड ने खरीद कर ए डॉग्स परपज फिल्म बनायी है जो भारत में रिलायंस एंटरटेनमेंट ३१ मार्च को रिलीज करने जा रही है.

  • मसान ( हिंदी ड्रामा )

    दो टूक : कोई माने या ना  माने पर हर आदमी मृत्यु से पहले भी अपनी अपनी ज़िंदगी का एक अपना मसान या कहें श्मशान जीता है।  बस वहां तक पहुँचने के रास्ते अलग होते हैं। ये बात भी अलग है कि इस मसान से हमारा वास्ता जिन्दा रहते हुए भी बार बार पड़ता भी […]

  • ऐसा ये जहां ( हिंदी ड्रामा )

    दो टूक : सपनों के पूरे होने की चाहत किसे नहीं होती लेकिन कोई सपना अगर आँख नोचने लगे तो। निर्देशक बिस्वजीत बोरा की पलाश सेन, ईरा दुबे, किमस्लीन खोलियो , प्रिशा और यशपाल शर्मा के अभिनय वाली फिल्म ऐसा ये जहां  भी बस ऐसे ही एक सपने के बनने और बिखरने की कहानी है।  […]

  • बजरंगी भाईजान ( हिंदी ड्रामा)

    दो टूक : देशों की सरहदें चाहे जितनी भी बारूद भरी और कंटीली हों. वो प्रेम और रिश्तों से भरी हवाओं के साथ उड़कर आने वाली नयी शुरुआतों को नहीं रोक सकती. प्रेम का रिश्ता हर सरहद से परे है और उसका सच बन्दूक और गोली से आगे फूलों भरा भी. आप एक कोशिश करके […]

  • आई लव एन वाई / न्यू इयर (हिंदी ड्रामा )

    दो टूक : प्रेम कब होगा पता नहीं। आप कितना भी चाहे इस मामले में  आपकी मर्जी नहीं  चलेगी।  बस इतनी सी बात कहती है राधिका राव-विनय सप्रू जैसी जोड़ी निर्देशकों  की सनी देओल, कंगना रनोट, तनिषा चटर्जी , प्रकाश राज, मनोज जोशी , रीमा लागू , विराग मिश्रा, सुरेखा सिकरी, प्रेम चोपड़ा, लिलिट  दुबे, […]

  • थोड़ा लुत्फ, थोड़ा इश्क (हिंदी ड्रामा)

    दो टूक: कोई माने या ना माने पर सच है कि इश्क तो करने की चीज ही है लुत्फ़ उठाने की नहीं।  तो सावधान। हितेन तेजवानी, राजपाल यादव, नेहा कपूर, संजय मिश्रा, भाविता आनंद, राकेश बेदी और  सुष्मिता मुखर्जी की मुख्य भूमिकाओं वाली निर्देशन सचिन गुप्ता की फिल्म थोड़ा लुत्फ, थोड़ा इश्क भी यही सबक […]

  • गुड्डू रंगीला (हिंदी ड्रामा )

    दो टूक : ज़िंदगी दो बातों से चलती है।एक या तो आप उसे काबू कर लें या फिर उसके काबू में हो जाएँ। बस इतनी सी बात कहती है अरशद वारसी, अमित साध, अदिति राव हैदरी, अमित स्याल, रोनित रॉय, विरेदनृ सक्सेना, संदीप गोयल, अमित स्याल, अरुण वर्मा, विशाल शर्मा,  दिव्यन्दु भट्टाचार्य, राजीव गुप्ता श्री […]

  • टर्मिनेटर जेनेसिस

    दो टूक: दुनिया को तबाह करने और उसे बचाने के लिए दूसरी दुनिया से आने वाले अनजान एलियंस की कहानियों में १९८४ में आई निर्देशक जेम्स कैमरॉन की फिल्म टर्मिनेटर एक मील का पत्थर साबित हुई है। इसी श्रृंखला में टर्मिनेटर जेनेसिस एक नया अध्याय है।  अर्नाल्ड श्वार्ज नेगर, एमिलिया क्लार्क, जेसन क्लार्क, मैट स्मिथ […]

  • Page 1 of 3
    1 2 3

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top

Page 1 of 3
1 2 3