ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

पाठक मंच
 

  • तेल की खपत पर लगाम जरुरी

    सऊदी अरब के तेल ठिकानों पर ईरान समर्थित हाउती विद्रोहियों के भीषण हमले के बाद कच्चे तेल के दामों में आया उछाल यही बताता है कि पश्चिम एशिया के विभिन्न देशों के बीच का टकराव किस तरह इस क्षेत्र के साथ-साथ पूरी दुनिया के लिए खतरा बनता है।

  • मारी छोरी छोरा से कम नहीं

    मारी छोरी छोरा से कम नहीं

    यही नहीं उन्होंने चैंपियन शिप में ५ पदक जीतने की बराबरी भी की | सिन्धु ने चीन की पूर्व ओलम्पिक चैंपियन झांग निंग के रिकॉर्ड की भी बराबरी कर ली है |

  • पत्र प्रधानमंत्री जी के नाम

    गत 6 वर्षों में मैने आपको 50 से अधिक पत्र लिखे हैं ,औऱ जब तक मेरी भावना का सम्मान नही होगा ,मेरा लक्ष्य पूरा नही होगा में पत्र लिखती रहूंगी । मेरा विस्वास है मेरे पत्र आपको व , भारत सरकार को मिल रहे होंगे ।

  • एक राष्ट्र एक चुनाव – यानि राष्ट्रीय समय की बचत

    एक राष्ट्र एक चुनाव – यानि राष्ट्रीय समय की बचत

    वर्तमान में हम लोग तक़रीबन आधा राष्ट्रीय-समय चुनावों के हवन-कुण्ड में आहुति बना कर झोंक रहे हैं। अगर इस समय-गणना में सर्वज्ञात छुट्टियाँ एवं टाइम-पास आदि भी जोड़ लिये जायेँ तो शायद हम लोग तीन चौथाई यानि पचहत्तर फीसदी राष्ट्रीय-समय बर्बाद कर रहे हैं।

  • जल से जूझता भारत ,मंडरा रहा सूखे का खतरा

    दुनिया आज जल के संकट से जूझ रही है ।भारत भी इससे अछूता नहीं है। जीवन की उत्पत्ति ही जल में हुई है ।तभी कहा जाता है जल ही जीवन है ।

  • हिंदी को विरोध क्यों ?

    देश के दक्षिणी भाग खासकर तमिलनाडु में रह-रहकर हिंदी के खिलाफ आवाज उठती रहती है। यह आवाज उठाने के लिए तरह-तरह के बहाने इसलिए खोज लिए जाते हैं, क्योंकि कुछ लोगों ने हिंदी विरोध को अपनी राजनीति का जरिया बना लिया है। तमिलनाडु अथवा देश के अन्य राज्यों के लोग हिंदी के विरोध में कुछ […]

  • जन दबाव से झुका चर्च प्रशासन आरएल फ्रांसिस

    पुअर क्रिश्चियन लिबरेशन मूवमेंट ने उन लाेगाें की तरीफ की है जाे कैथोलिक चर्च के भारी दबाव के बावजूद एकजुट होकर ननों काे न्याय दिलाने

  • संवाद काे नकारती कैथोलिक बिशप कॉन्फ्रेंस

    फ्रांसिस ने कहा था कि हम पहले भी ऐसे तबादलों के परिणाम देख चुके है, जिसका एकमात्र उद्देश्य पीड़ित काे दुर्बल करना, उसे अपमानित करना और उसके मनाेबल काे ताेड़ना ही हाेता है।

  • भारतीय स्टेट बैंक द्वारा राष्ट्रपति के आदेशों का खुला उल्लंघन

    भारतीय स्टेट बैंक द्वारा राष्ट्रपति के आदेशों का खुला उल्लंघन

    लगता है कि स्टेट बैंक के मुख्यालय में पदासीन राजभाषा अधिकारी को राजभाषा सम्बन्धी किसी भी प्रावधान का ज्ञान है इसलिए

  • “गई पढ़ाई पानी में…..”

    आज कल मैं अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन नगरी खजुराहो में श्रमदान हथकरघा के विक्रय केंद्र में हूँ।सोचा था कि स्नातक और बीएड पर्यन्त अंग्रेजी विषय की पढ़ाई की,

Back to Top