आप यहाँ है :

पाठक मंच
 

  • कत्लखानों पर अंकुश अभिनंदनीय

    कत्लखानों पर अंकुश अभिनंदनीय

    युवा राजनेता योगी आदित्यनाथ ने १९ मार्च २०१७ को उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री की शपथ ली। अगले ही दिन से उन्होंने अपने राज्य में विभिन्न व्यवस्थाओं में सुधार हेतु अनेक अच्छे कदम उठाने शुरू किये। उनके अच्छे कदमों में एक है - यांत्रिक तथा अवैध (गैर-कानूनी) बूचडखानों और मांस की दुकानों को बन्द करवाना। उन्होंने अधिकारियों को प्रदेशभर में बूचडखाने बन्द करने की कार्य-योजना (एक्शन-प्लान) तैयार करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने गौ-तस्करी पर पूर्ण पाबन्दी के निर्देश भी दिये हैं। मौजूदा हिंसामय परिवेश में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री का यह महत्त्वपूर्ण और साहसिक निर्णय है।

  • इस देश में न्याय मिलता नहीं निपटाया जाता है

    ऑस्ट्रेलिया में उच्च न्यायालयों के लिए निर्णय लिखने का एक प्रारूप निर्धारित है किन्तु भारत में ऐसा कुछ नहीं है और यह न्यायाधीशों को मनमाने ढंग से निर्णय लिखने का निरंकुश अवसर प्रदान करता है| मैंने विभिन्न देशी और विदेशी न्यायालयों के निर्णयों का अध्ययन किया है और पाया है कि अधिकांश भारतीय निर्णय “निर्णय” की बजाय “ निपटान” की परिधि में आते हैं| दोनों पक्षों द्वारा प्रस्तुत तथ्यों, साक्ष्यों , न्यायिक दृष्टान्तों और तर्कों में से चुनकर मात्र वही सामग्री निर्णयों में समाविष्ट होती है जिसके पक्ष में निर्णय दिया जाना है |

  • एक पाती राष्ट्रपति के नाम, आम जनता की ओर से

    राष्ट्रपति सचिवालय की पिछले दो वर्षों अर्थात 2015, 2016 में आयोजित की गई राजभाषा कार्यान्वयन एवं हिंदी सलाहकार समिति की बैठकों का विवरण निम्न प्ररूप में सूचित करें

  • हिंदी की चिंदी करने में लगे हैं भारत सरकार के बाबू

    नीति आयोग अभी तक अपना नाम हिंदी में तय नहीं कर पाया है पर वेबसाइट बदलते भारत के लिए राष्ट्रीय संस्थान लिखा है.

  • देश का डाक विभाग अभी भी अंग्रेजी के गुलामों के कब्जे में

    देश का डाक विभाग अभी भी अंग्रेजी के गुलामों के कब्जे में

    राजभाषा अधिनियम 1963 के अधीन सन 1972 में भारत सरकार ने निर्देश जारी किया था कि भारत सरकार के अधीन के सभी विभागों और कार्यालयों द्वारा प्रयोग में लाये जा रहे प्रतीक-चिह्न डिगलॉट (द्विभाषी) बनाने होंगे.

  • नकली मुद्रा का महाजाल

    आज सरकार को आईएसआई के वर्षो पुराने "जाली मुद्रा" से सम्बंधित षडयंत्रो की विस्तृत जानकारी देश की जनता के सामने रखनी चाहिये। जिससे सामान्य जनता 'नोटबंदी' के कारण जो कष्ट पा रही है उसे राष्ट्रीय हित में कड़वी दवाई या मीठा जहर समझ कर कंठ में धारण कर सकें।

  • मोदीजी हिंदी बोलते हैं, पूरी सरकार अंग्रेजी की गुलाम

    मोदीजी हिंदी बोलते हैं, पूरी सरकार अंग्रेजी की गुलाम

    आज लगभग २ वर्ष बीत गए हैं, इन दो वर्षों में यह मेरी तीसरी शिकायत है और 5 बार अनुस्मारक भी भेज चुका हूँ पर फिर भी भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम'' ने न तो संज्ञान लिया है न ही ऑनलाइन सेवाओं तथा वेबसाइट में हिंदी को शामिल करने के लिए कोई कदम उठाया है।

  • रोहिंग्या के मुस्लिम घुसपैठियों को जम्मू में शरण क्यों

    यह अत्यंत दुखद व निंदनीय है कि म्यंमार से भागे रोहिंग्या मुसलमान घुसपैठियों को सरकार जम्मू में 'बसाने' की अनुमति दे रही है। इस प्रकार जम्मू क्षेत्र में जनसंख्या अनुपात को बिगाड़ कर निज़ामे-मुस्तफा कायम करने के घीनौने षड्यंत्र को क्यों रचा जा रहा है ?

  • कांग्रेसी की वंशवादी राजनीति

    लोकतांन्त्रिक मूल्यों पर आधारित राजनीति करने वाले नेताओं व विरासत में मिली नेतागिरी में अंतर समझना हो तो राहुल गांधी के नित्य नये नये बचकाने बयानो को समझों।

  • रेल मंत्रालय में हिन्दी में काम क्यों नहीं होता

    मेरा विषय देश उन करोड़ों लोगों से जुड़ा है जो अंग्रेजी नहीं समझते हैं इसलिए आप से एक आम नागरिक के नाते प्रार्थना कर रहा हूँ आशा है आप निराश नहीं करेंगे.

  • Page 1 of 14
    1 2 3 14

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top

Page 1 of 14
1 2 3 14