ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

वार त्यौहार
 

  • मांगलिक कार्य आरम्भ होने का दिन है ‘‘देवोत्थान एकादशी’’

    प्रबोधिनी एकादशी अथवा देवोत्थान एकादशी के दिन भीष्म पंचक व्रत भी शुरू होता है, जो कि देवोत्थान एकादशी से शुरू होकर पांचवें दिन पूर्णिमा तक चलता है। इसलिए इसे इसे भीष्म पंचक कहा जाता है।

  • धनतेरस और दिवाली की पूजा, मुहुर्त एवँ महत्व

    धनतेरस और दिवाली की पूजा, मुहुर्त एवँ महत्व

    आयु के बिना धन, यश, वैभव का कोई उपयोग ही नहीं है। अतः सर्वप्रथम आयु वृद्धि एवं आरोग्य प्राप्ति की कामना की जाती है। इसके पश्चात तेज, बल और पुष्टि की कामना की जाती है।

  • गणगौर- 8 अप्रैल पर विशेषः गणगौर है दाम्पत्य की खुशहाली का पर्व

    गणगौर- 8 अप्रैल पर विशेषः गणगौर है दाम्पत्य की खुशहाली का पर्व

    गणगौर शब्द का गौरव अंतहीन पवित्र दाम्पत्य जीवन की खुशहाली से जुड़ा है। कुंआरी कन्याएं अच्छा पति पाने के लिए और नवविवाहिताएं अखंड सौभाग्य की कामना के लिए यह त्यौहार हर्षोल्लास के साथ मनाती हैं,

  • उर्दू शायरी में होली

    उर्दू शायरी में होली

    होली पर मुस्लिम शायरों ने भी खूब कलम चलाई है, होली के अवसर पर पेश है उर्दू शायरी में होली पर लिखी गई शायरी….

  • होली आनंदोल्लास का पर्व

    पौराणिक मान्यताओं की रोशनी में होली के त्योहार का विराट् समायोजन बदलते परिवेश में विविधताओं का संगम बन गया है,

  • उर्दू शायरो ने भी खूब कलम चलाई है दिवाली पर

    दिवाली लिए आई उजालों की बहारें हर सिम्त है पुरनूर चिरागों की कतारें। सच्चाई हुई झूठ से जब बरसरे पैकार

  • दशहरा है शक्ति की साधना का पर्व

    दशहरा है शक्ति की साधना का पर्व

    भगवान राम ने इसी दिन रावण का वध किया था। इसे असत्य पर सत्य की विजय के रूप में मनाया जाता है।

  • 1 जनवरी से नहीं गुड़ी पड़वा से शुरु होता है हमारा नव वर्ष

    1 जनवरी से नहीं गुड़ी पड़वा से शुरु होता है हमारा नव वर्ष

    18 मार्च 2018 से चैत्र नवरात्रि के साथ ही हिंदू नववर्ष विक्रम संवत् 2075 प्रारंभ होगा। ऐसी मान्यता है कि इस दिन नक्षत्र शुभ स्थिति में आ जाते हैं और किसी भी नए काम को शुरू करने के लिए यह मुहूर्त शुभ होता है| यही नहीं शक्ति और भक्ति के नौ दिन यानी कि नवरात्रि स्थापना का पहला दिन भी यही है|

  • उर्दू शायरी में होली

    उर्दू शायरी में होली

    होली पर मुस्लिम शायरों ने भी खूब कलम चलाई है, होली के अवसर पर पेश है उर्दू शायरी में होली पर लिखी गई शायरी....

  • होली पर भांग से सावधान रहें

    होली पर भांग से सावधान रहें

    भांग की वजह से दिल की धड़कन, ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है जिससे मस्तिष्क को नुकसान हो सकता है. साथ ही गर्भवती महिलाओं में भ्रूण पर असर हो सकता है। हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉ. के के अग्रवाल के मुताबिक भांग से मनोवैज्ञानिक ओर कॉग्नीशन व सर्कुलेशन पर असर होता है। यूफोरिया, एंजाइटी से होने वाले बदलावों के चलते याददाश्त और साइकोमोटर परफार्मेंस पर भांग लेने के बाद सामान्य असर से तीन गुना ज्यादा बढ़ जाता है।

Back to Top