ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

चर्चा संगोष्ठी
 

  • प्रादेशिक कार्यशाला में नई शिक्षा नीति पर गंभीर चिंतन

    प्रादेशिक कार्यशाला में नई शिक्षा नीति पर गंभीर चिंतन

    देश की नई शिक्षा नीति के निर्माण में छत्तीसगढ़ की प्रभावी भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए राजधानी रायपुर में उच्च शिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय के मुख्य आतिथ्य तथा उच्च शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ.बी.एल.अग्रवाल के मार्गदर्शन में सम्पन्न राज्य स्तरीय कार्यशाला का सफल संचालन शाासकीय दिग्विजय स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय के हिन्दी विभाग के राष्ट्र्पति सम्मानित प्राध्यापक डॉ.चन्द्रकुमार जैन ने किया।

  • प्रभावी भाषण एक शक्ति, साधना और  जीवंत संपदा भी है – डॉ.चन्द्रकुमार जैन

    प्रभावी भाषण एक शक्ति, साधना और जीवंत संपदा भी है – डॉ.चन्द्रकुमार जैन

    जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में अच्छा बोलने की बढ़ती महत्ता को ध्यान में रखकर नागपुर में एक विशिष्ट प्रसंग में दिग्विजय कालेज के छत्तीसगढ़ राज्य अलंकरण से विभूषित तथा राष्ट्रपति सम्मानित प्राध्यापक डॉ.चन्द्रकुमार जैन ने यादगार मार्गदर्शन दिया। प्रभावी सम्भाषण से छवि निर्माण विषय पर एकाग्र प्रस्तुतीकरण में डॉ.जैन ने भाषण की अचूक कला का अनोखा परिचय दिया और खुद अपनी शैली के जीवंत प्रवाह की मिसाल पेश कर श्रोताओं को मन्त्र मुग्ध कर दिया।

  • ये मीडिया वाले भाषाई अपाहिज, आगे बौद्धिक अपाहिज होंगे : राहुल देव

    ये मीडिया वाले भाषाई अपाहिज, आगे बौद्धिक अपाहिज होंगे : राहुल देव

    देश के वरिष्ठ पत्रकार राहुल देव ने कहा कि वर्तमान में मीडिया में हिंदी की जो स्थिति है वह लंगड़ी, लूली और अपाहिज भाषा सी है। इसका असर यह होगा कि जो लोग भाषाई अपाहिज हैं, वे आगे चलकर बौद्धिक अपाहिज हो जाएंगे। यह हिन्दी की दैनिक हत्या जैसा है। कोई भी स्वाभिमान समाज ऐसा नहीं करता, जैसा हमारे यहां हो रहा है।

  • स्वीप कार्यक्रम की जिला स्तरीय परिचर्चा में शिवांगी और लाकेश कुमार ने जीती बाज़ी

    स्वीप कार्यक्रम की जिला स्तरीय परिचर्चा में शिवांगी और लाकेश कुमार ने जीती बाज़ी

    भारत निर्वाचन आयोग के लोकप्रिय कार्यक्रम सुव्यवस्थित मतदाता शिक्षा एवं निर्वाचक सहभागिता ( स्वीप ) के तहत शासकीय दिग्विजय स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय में जिला स्तरीय परिचर्चा प्रतियोगिता सफलतापूर्वक संपन्न हुई। निर्वाचक नामावली में पात्र मतदाताओं के नाम सही ढंग से उचित समय पर शामिल करने और नाम पंजीकरण की समस्याओं तथा उनके निदान पर एकाग्र इस परिचर्चा की अध्यक्षता प्राचार्य डॉ.आर.एन.सिंह ने की।

  • खेतान स्कूल के बच्चों के सवालों से हैरत में पड़ गए जम्मू कश्मीर विधान परिषद् के सदस्य सुरेंद्र अंबरदार

    खेतान स्कूल के बच्चों के सवालों से हैरत में पड़ गए जम्मू कश्मीर विधान परिषद् के सदस्य सुरेंद्र अंबरदार

    श्री सुरेंद्र अंबरदार के वक्तव्य के बाद छात्र-छात्राओं ने उनसे पीडीपी और भाजपा के गठबंधन, जम्मू कश्मीर के विस्थापित हिन्दुओं की वर्तमान दशा और उनके भविष्य, पाकिस्तान द्वारा लगातार की जा रही गोलीबारी, गिलगिट बाल्टिस्तान, भारत पाक युध्द, बांग्लादेश के निर्माण से लेकर कई तीखे राजनीतिक सवाल पूछे। श्री अंबरदार ने अपने तर्को, सहजता और विनम्रता से सब छात्र-छात्राओं को लाजवाब कर दिया।

  • दिग्विजय कालेज में एकांकी के प्रवाह और प्रभाव पर  डॉ.मृदुला शुक्ला का अतिथि व्याख्यान

    दिग्विजय कालेज में एकांकी के प्रवाह और प्रभाव पर डॉ.मृदुला शुक्ला का अतिथि व्याख्यान

    शासकीय दिग्विजय स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय के हिन्दी विभाग में अतिथि व्याख्यान आयोजित किया गया। इंदिरा कला संगीत विश्व विद्यालय खैरागढ़ की हिन्दी विभागाध्यक्ष और डीन डॉ.मृदुला शुक्ला अतिथि वक्ता थीं।

  • क्षेत्रीय पत्रकारों को आधुनिक तकनीक से  लैस होने की जरूरत-डॉ. सुरेन्द्र

    क्षेत्रीय पत्रकारों को आधुनिक तकनीक से लैस होने की जरूरत-डॉ. सुरेन्द्र

    भूमण्डलीकरण के इस दौर में पत्रकारिता के क्षेत्र में नए तरीकें की चुनौतियां सामने आई है। क्षेत्रीय पत्रकारों को इन चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार होने की जरूरत है। क्षेत्रीय पत्रकारों से आमजन की आवाज को राष्ट्रीय मंच मिलता है।

  • “नई सदी के हिंदी साहित्य की बदलती प्रवृत्तियाँ” पर बीजापुर में राष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न

    “नई सदी के हिंदी साहित्य की बदलती प्रवृत्तियाँ” पर बीजापुर में राष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न

    यहाँ अंजुमन कला, विज्ञान एवं वाणिज्य महाविद्यालय में ‘नई सदी के हिंदी साहित्य की बदलती प्रवृत्तियां’ विषय पर एकदिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न हुई. महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा से पधारे प्रो. देवराज ने संगोष्ठी का उद्घाटन किया तथा अपने बीज भाषण में कहा कि “बीजापुर में आज भी गंगा-जमुनी तहजीब मौजूद है.

  • कंचना की पुण्य तिथि पर व्य़ख्यानमाला

    कंचना की पुण्य तिथि पर व्य़ख्यानमाला

    दिवंगत पत्रकार और लेखिका कंचना की 12 वीं पुण्यतिथि पर आयोजित व्याख्यानमाला पिछले कई सालों से आप सबके सहयोग से राजधानी में मीडिया का सबसे बड़ा आयोजन बनता रहा है। इसमें मुख्यतया मीडिया और राजनीतिक मसलों पर गंभीर चर्चा होती थी लेकिन इसके स्वरूप में कुछ बदलाव किया गया है।

  • 10-11 अक्टूबर को ग्वालियर में आयोजित मीडिया चौपाल के कार्यक्रम

    10-11 अक्टूबर को ग्वालियर में आयोजित मीडिया चौपाल के कार्यक्रम

    इस चौपाल में अटलबिहारी वाजपेयी हिंदी विवि, जीवाजी विश्वविद्यालय का सहयोग मिल रहा है। इसमें वर्धा हिंदी विवि, इंदौर विवि, इंक मीडिया संस्थान, लखनऊ विवि, खालसा कालेज (दिल्ली विवि), माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विवि, अटल बिहारी हिंदी विवि, जीवाजी विवि के विद्यार्थी और प्राध्यापक भाग ले रहे हैं।

Back to Top