ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

पुस्तक चर्चा
 

  • आतंकियों के जुल्म की कहानी भुक्तभोगी पत्रकार की जुबानी

    आतंकी संगठन आईएसआईएस की चुंगल से छूटे तुर्की के फोटोजर्नलिस्ट बुन्यामिन अयगुन के ऊपर आतंकवादियों द्वारा किए गए जुल्म की कहानी सुनकर आप कांप उठेंगे।    अयगुन ने बताया कि कैसे वे आईएस के चंगुल में फंसे, कैसे आतंकियों ने उनको रखा और कैसे वो रिहा हुए। आईएस की बर्बरता का खुलासा करते हुए उन्होंने […]

  • लोकेन्द्र सिंह के काव्य संग्रह ‘मैं भारत हूं’ का विमोचन

    भोपाल। युवा साहित्यकार लोकेन्द्र सिंह के काव्य संग्रह 'मैं भारत हूं' का विमोचन 4 अप्रैल को क्रांतिकारी कवि एवं पत्रकार पंडित माखनलाल चतुर्वेदी की जयंती के अवसर पर दोपहर 3 बजे माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के सभागार में किया जाएगा। मीडिया विमर्श पत्रिका के तत्वावधान में आयोजित इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि […]

  • पत्रकार सलमा जैदी का निधन

    बीबीसी से लंबे समय तक जुड़ी रहीं वरिष्ठ पत्रकार सलमा जैदी का रविवार को लंदन में निधन हो गया। वह कुछ समय से बीमार थीं और वहीं उनका इलाज चल रहा था। वह बीबीसी हिंदी रेडियो पर एक जानी-मानी आवाज थीं और हिंदी भाषा में डिजिटल दुनिया में काम कर रही चंद महिलाओं में शुमार […]

  • पागलपन और गतिविधियों का व्यंगात्मक नजरिया है ‘डेमोक्रेजी’ – द पाॅलीटिकल स्पूफ

    नई दिल्ली, मार्च 2015; जैको पब्लिशिंग हाउस ने हाल ही में इंडिया इंटरनेशनल सेंटर, नई दिल्ली में लेखक अतुल्या महाजन द्वारा लिखित पुस्तक ‘डेमोक्रेजी – द पाॅलीटिकल स्पूफ’ का विमोचन समारोह आयोजित किया, जहां जानी-मानी स्टेंडअप काॅमेडियन नीति पाल्टा ने पुस्तक का विमोचन किया और लेखक के साथ चर्चा भी की। पुस्तक का प्राक्कथन अभिनेत्री […]

  • चर्चों के गोरखधंधों का पर्दाफाश करती है फादर लोमियो की ये पुस्तक

    मदर टैरेसा पर उठा विवाद अभी थमा भी नही है कि एक ईसाई संगठन से जुड़े कैथोलिक विश्वासी पी.बी.लोमियों की हालही में आई पुस्तक ‘‘ ऊँटेश्वरी माता का महंत” ने ईसाई समाज के अंदर चर्च की कार्यशैली पर कई गंभीर सवाल उठा दिये है। “ऊँटेश्वरी माता का महंत”  र्शीषक से लिखी गई 300 रु. की […]

  • ह्रदय की गहराई और ध्येय की सच्चाई का दर्पण

    लौट कर आना नहीं होगा,‘जो कहूँगा सच कहूँगा,और अब तो बात फ़ैल गयी के रूप में रोचक, चित्‍ताकर्षक और ज़र्रा-ज़र्रा पठनीय संस्मरणों की त्रयी लिखने वाले प्राध्यापक कान्‍ति‍ कुमार जैन एक बार फिर अपनी उसी धार और उसी तेवर के साथ बैकुंठपुर में बचपन के जरिये उपस्थित हुए हैं। चित्रात्मक वर्णन शैली के मर्मस्पर्शी कलाकार […]

  • वीर संघवी ने लिखा, क्यों फ्लॉप हैं राहुल गाँधी!

    कांग्रेस में राहुल गांधी की भविष्य की भूमिका को लेकर हो रही चर्चा के बीच एक नई किताब में कहा गया है कि इस युवा नेता ने ‘उभरने में बहुत लंबा वक्त’ ले लिया। किताब में कांग्रेस के 2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार अभियान को ज्ञात स्मृति में ‘सबसे खराब’ बताया गया है। वरिष्ठ पत्रकार […]

  • उप राष्‍ट्रपति ने स्‍वर्गीय डॉ. नरेन्‍द्र दाभोलकर की पुस्‍तकों का हिंदी अनुवाद जारी किया

    उप राष्‍ट्रपति श्री एम. हामिद अंसारी ने आज यहां एक समारोह में स्‍वर्गीय डॉ. नरेन्‍द्र दाभोलकर की पुस्‍तकों के हिंदी अनुवाद का सैट ''अंधविश्‍वास उन्‍मूलन-आचार, खंड-1', 'विचार, खंड-2, एवं 'सिद्धांत' खंड-3'' जारी किया। इनका हिंदी अनुवाद डॉ. चन्‍दा गिरीश ने किया है तथा पुस्‍तकों के एडिटर सुनील लावाटे है। इस अवसर पर उप राष्‍ट्र‍पति ने […]

  • महुआ माजी, वीरेन्द्र सारंग व मलय जैन के उपन्यासों का लोकार्पण

    विश्व पुस्तक मेले का छठा दिन पुस्तक लोकार्पणों के नाम रहा। राजकमल प्रकाशन समूह के स्टॉल (237-56) में तीन किताबों महुआ माजी की ‘मरंग गोड़ा निलकंठ हुआ’, मलय जैन की ‘ढाक के तीन पात’  व वीरेन्द्र सारंग का उपन्यास ‘हाता रहीम’ का लोकार्पण किया गया। महुआ माजी की किताब ‘मरंग गोड़ा निलकंठ हुआ’ के लोकार्पण […]

  • ‘सार्थक’ की चौथी किताब ज़ेड प्लस हुई लोकार्पित

    युवाओं के बीच ‘लप्रेक’ के चढ़े सुरूर के बीच ‘सार्थक’ ने आज विश्व पुस्तक मेले में अपनी अगली किताब ज़ेड प्लस फिल्म की औपन्यासिक कथा का लोकार्पण कराया। ‘ज़ेड प्लस’ के बारे में बोलते हुए प्रसिद्ध कवि मंगलेश डबराल ने कहा कि, ‘यह सिनेमा और साहित्य की दूरियों को पाटने का काम करेगी। इसकी भाषा […]

  • Page 16 of 17
    1 14 15 16 17

ईमेल सबस्क्रिप्शन

PHOTOS

VIDEOS

Back to Top

Page 16 of 17
1 14 15 16 17