आप यहाँ है :

राजनीति
 

  • कांग्रेस अपनी दुर्गति पर सोचे !

    कांग्रेस अपनी दुर्गति पर सोचे !

    बिहार में कांग्रेस की दुखद, दर्दनाक और दारुण हालत देखकर अब कौनसा प्रादेशिक दल कांग्रेस को अपने साथ खड़ा करेगा, यह चिंतन और चिंता दोनों का विषय है।

  • कौन बनेगा राष्ट्रपति?

    कौन बनेगा राष्ट्रपति?

    इसके अलावा ध्यान देने लायक बात यह है कि ओबामा-प्रशासन में बाइडन उप-राष्ट्रपति की हैसियत में भारत के प्रति सदैव जागरुक रहे हैं। वे कई दशकों से अमेरिकी राजनीति में सक्रिय रहे

  • बिहार नहीं जानाः कोरोना है बढ़िया बहाना…

    बिहार नहीं जानाः कोरोना है बढ़िया बहाना…

    यहां यह भी जानना बहुत महत्वपूर्ण है कि शुरूआती तौर पर फडणवीस को जैसे ही बिहार चुनाव में सक्रिय करने की बात चली थी, तो उन्होंने इस जिम्मेदारी को आधे मन से इसे स्वीकारा था।

  • 56 साल के हुए अमित शाह पर बरसी शुभकामनाएँ

    56 साल के हुए अमित शाह पर बरसी शुभकामनाएँ

    1964 में जन्मे गृहमंत्री अमित शाह को राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने संगठन कौशल में निपुण बताया। उन्होंने कहा, राष्ट्रभक्ति, समर्पण, कर्मठता, संगठन कौशल में निपुण व करोड़ों भारतीयों के लिए

  • डाॅ. लोहिया और राजमाता सिंधिया

    डाॅ. लोहिया और राजमाता सिंधिया

    लगभग रोज उनसे मिलना होता था। गुना में मुझे देखकर राजमाताजी बहुत खुश हुईं। उसके बाद उनके साथ मेरे संबंध निरंतर बने रहे। वे मेरे पुराने घर (प्रेस एनक्लेव) और

  • सक्रिय राजनीति में मोदीजी के शानदार बीस साल

    सक्रिय राजनीति में मोदीजी के शानदार बीस साल

    अपने जन्म-दिवस को सेवा-सप्ताह के रूप में मनाने की प्रधानमंत्री की पहल एवं सोच भी अनूठी एवं अनुकरणीय है। पार्टी-कार्यकर्त्ताओं ने इसके अंतर्गत प्रत्येक जिले में कम-से-कम 70 स्थानों पर

  • दो नेताओं की सहज मुलाकात या राजनीतिक पाप ?

    दो नेताओं की सहज मुलाकात या राजनीतिक पाप ?

    इसीलिए बिहारी समुदाय के खलनायक के रूप में खड़ी शिवसेना के संजय राऊत से फडणवीस की इस मुलाकात के बारे में माना जा रहा है कि बिहार की प्रजा के भरोसे को तोड़ने का भाजपा ने

  • कांग्रेस में नई जान फूंकने की कोशिश में सोनिया

    कांग्रेस में नई जान फूंकने की कोशिश में सोनिया

    रणदीप सुरजेवाला को, जिन्हें राहुल गांधी का सबसे खास सिपहसालार माना जाता है। दोनों के बारे में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने जो निर्णय लिया है, वह संगठन के लिए ठीक माना जा रहा है। और रही बात पार्टी में राहुल गांधी के

  • दुआ कीजिये इस घटिया राजनीति का अंत हो

    दुआ कीजिये इस घटिया राजनीति का अंत हो

    साल 2005 का कोहिनूर मिल विवाद किससे छुपा है जिसमें शिवसेना मुख्यालय के ठीक पास की पाँच एकड़ ज़मीन राज और मनोहर जोशी के बेटे उन्मेष जोशी ने 421 करोड़ रुपये में मिलकर खरीदी थी।

  • काँग्रेस का वर्तमान संकट एवं वंशवाद

    काँग्रेस का वर्तमान संकट एवं वंशवाद

    यदि गंभीरता और गहनता से विचार करें तो यह वंशवाद, परिवारवाद एवं भाई-भतीजावाद ही भारतीय राजनीति में व्याप्त अनेकानेक बुराइयों की जननी है| लोकतांत्रिक एवं युवा भारत की प्रगति एवं समृद्धि के लिए यह आवश्यक है कि

Back to Top