आप यहाँ है :

श्रद्धांजलि
 

  • जाने माने अभिनेता शशि कपूर का सोमवार को लंबी बीमारी के बाद मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में निधन हो गया। वह 79 साल के थे। वह बॉलीवुड एक्टर पृथ्वीराज कपूर के सबसे छोटे बेटे थे। उनका असली नाम बलबीर राज कपूर था। उन्होंने बतौर चाइल्ड एक्टर अपने भाई राज कपूर की फिल्म आवारा और आग […]

  • आपनी ही शर्तों पर जीवन जिया रोमेश जोशी ने

    आपनी ही शर्तों पर जीवन जिया रोमेश जोशी ने

    स्वभाव से स्वाभिमानी कलमकार को जिंदगी भर दुश्वारियों का सामना करना पड़ता है।

  • किन हालात में जीता है एक फौजी का परिवार

    किन हालात में जीता है एक फौजी का परिवार

    सोमवार 20 नवंबर को सुबह 8 बजे ‘एनडीटीवी ग्रुप’ के कार्यकारी उपाध्यक्ष केवीएल नारायण राव का निधन हो गया, लेकिन उनके बारे में शायद यह बात बहुत ही कम लोगों को पता होगी कि वह पूर्व सेना प्रमुख जनरल केवी कृष्ण राव के बेटे थे। पूर्व सेना प्रमुख के अलावा जनरल केवी कृष्ण राव जम्‍मू-कश्‍मीर, मणिपुर, नागालैंड और त्रिपुरा के राज्‍यपाल भी रह चुके थे।

  • कुंवर नारायण और कविता की ज़रुरत

    बहुत कुछ दे सकती है कविता क्यों कि बहुत कुछ हो सकती है कविता जिंदगी में

  • नई कविता के सशक्त हस्ताक्षर कुँवर नारायण नहीं रहे

    नई कविता के सशक्त हस्ताक्षर कुँवर नारायण नहीं रहे

    नई कविता आंदोलन के सशक्त हस्ताक्षर कवि कुंवर नारायण का 90 साल की उम्र में बुधवार को निधन हो गया. मूलरूप से फैजाबाद के रहने वाले कुंवर तकरीबन 51 साल से साहित्य में सक्रिय थे.

  • नई कविता के सशक्त हस्ताक्षर कुँवर नारायण नहीं रहे

    नई कविता के सशक्त हस्ताक्षर कुँवर नारायण नहीं रहे

    नई कविता आंदोलन के सशक्त हस्ताक्षर कवि कुंवर नारायण का 90 साल की उम्र में बुधवार को निधन हो गया. मूलरूप से फैजाबाद के रहने वाले कुंवर तकरीबन 51 साल से साहित्य में सक्रिय थे.

  • ‘अपना खाका लगता हूँ, एक तमाशा लगता हूँ’ लिखने वाले जॉन एलिया को कितने लोग जानते हैं

    ‘अपना खाका लगता हूँ, एक तमाशा लगता हूँ’ लिखने वाले जॉन एलिया को कितने लोग जानते हैं

    जॉन एलिया ने अपने बारे में लिखा है, ‘अपना खाका लगता हूं, एक तमाशा लगता हूं.’ यह एक परिचय भले जॉन एलिया ने सिर्फ एक बार लिखा लेकिन आज की तारीख में यह सैकड़ों फेसबुक और ट्विटर यूजर्स के इंट्रो/बायो में बार-बार लिखा मिलेगा.

  • वरिष्ठ साहित्यकार मनु शर्मा का निधन

    वरिष्ठ साहित्यकार मनु शर्मा का निधन

    वरिष्ठ साहित्यकार और हिन्दी में सबसे बड़ा उपन्यास लिखने वाले मनु शर्मा का आज सुबह वाराणसी में 89 वर्ष की आयु में निधन हो गया। शर्मा का उपन्यास ‘‘कृष्ण की आत्मकथा’’ आठ खण्डों में आया है और इसे हिन्दी का सबसे बड़ा उपन्यास माना जाता है। इसके अलावा उन्होंने हिन्दी में तमाम उपन्यासों की रचनाएं की।

  • अगर सरदार पटेल न होते तो…..?

    अगर सरदार पटेल न होते तो…..?

    एक ब्रिटिश भारतीय लोक सेवक सर जॉन स्ट्रैचे अपने प्रशिक्षु लोक सेवकों को संबोधित करते हुए कहा करते थे कि “भारत के बारे में प्रथम और सबसे महत्वपूर्ण बात यह जानने की है कि वहां कोई भारतीय नहीं है और कभी कोई भारतीय नहीं था।

  • अलविदा लाेमियाें, अब चर्च के रूढ़िवाद पर प्रहार कौन करेगा?

    अलविदा लाेमियाें, अब चर्च के रूढ़िवाद पर प्रहार कौन करेगा?

    मशहूर लेखक, आलोचक और पुअर क्रिश्चियन लिबरेशन मूवमेंट के वरिष्ठ सहयाेगी पी बी लाेमियाें का झांसी के रेलवे असपताल में निधन हो गया। लाेमियाें ने देश के लिए अपने लेखों की स्मृतियां और सुन्दर यादें छोड़ी हैं । उन्होंने समाृट अशाेक के समारक पर खास कहानियां भी लिखी। लाेमियाें ने चर्च के रूढ़िवाद पर प्रहार […]

Back to Top