आप यहाँ है :

सोशल मीडिया से
 

  • भारत की इन 4 रहस्यमयी लिपियों का रहस्य जानकर चौंक जाएंगे

    भारत की इन 4 रहस्यमयी लिपियों का रहस्य जानकर चौंक जाएंगे

    ग्लोबलाइजेशन और तकनीक के दौर में पूरी दुनिया कुछ बेहतर पाने के लिए अपनी कुछ अहम चीजों को पीछे छोड़ती जा रही है, उनमें से एक है भाषा। विज्ञान और सांस्कृतिक संघर्ष के कारण कुछ भाषाएं लुप्त हो रही है तो कुछ खुद को बदल रही है और कुछ खुद को विस्तार दे रही है। इसी संघर्ष क्रम में प्राचीन काल में ऐसी कई भाषाएं या उनकी लिपियां लुप्त होकर अब रहस्य का विषय

  • आईएएस की परीक्षा में 51 मुस्लिम छात्रों के चयन का सच और संघ के संस्थान ‘संकल्प’ की हकीकत

    आईएएस की परीक्षा में 51 मुस्लिम छात्रों के चयन का सच और संघ के संस्थान ‘संकल्प’ की हकीकत

    आपको क्या लगता है ये संघ लोक सेवा आयोग में 51 मुस्लिम छात्रों का चयन अचानक से हो गया. नहीं, ये उनकी सालों की ईमानदार मेहनत का नतीजा है, ये उनकी अपने कौम के प्रति वफादारी की खुशबू है जो अब जाकर चमन में बिखरी है. आप जरा एकबार इन्टरनेट पर "जकात फाउंडेशन की वेब साईट http://www.zakatindia.org/ सर्च करके देखिये. इस संस्था ने बड़ी-बड़ी

  • जूतों के ‘हस्पताल’ के दीवाने हुए आनंद  महिंद्रा

    जूतों के ‘हस्पताल’ के दीवाने हुए आनंद महिंद्रा

    बैनर पर सबसे नीचे लिखा है कि हमारी अमेरिका के सिवाय और कहीं शाखा नहीं है। नरसी राम ने अपने काम की गारंटी का भी जिक्र किया है। आनंद महिद्रा ने नरसी राम के तरीके से प्रभावित होकर इस तस्वीर को अपने ट्वीटर हैंडल पर अपलोड किया था।

  • किस्मत हो तो ढिल्लन शाह जैसी, उम्र 21 साल 20 गाड़ियाँ और 42 एकड़ में घर

    किस्मत हो तो ढिल्लन शाह जैसी, उम्र 21 साल 20 गाड़ियाँ और 42 एकड़ में घर

    ढिल्लन भारद्वाज का नाम इस समय हर कहीं छाया हुआ है। सोशल मीडिया से लेकर खबरों की दुनिया तक हर कोई ढिल्लन की ही बातें कर रहा है। और यह बेवजह भी नहीं है। ढिल्लन की उम्र 21 साल की है और वह करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं।

  • आसाराम को सींखचों में पहुंंचाने वाले वकील का दर्द कुछ यूं छलका

    " 15 मिनट में जज ने अपना फैसला सुना दिया था. वो 15 मिनट मेरी जिंदगी के सबसे भारी 15 मिनट थे. एक-एक पल जैसे पहाड़ की तरह बीत रहा था. पूरे समय मेरी आंखों के सामने पीड़िता और उसके पिता का चेहरा घूमता रहा.जज जब फैसला सुनाकर उठे तो लोग मुझे बधाइयां देने लगे. मेरा गला रुंध गया था. मुंह से आवाज नहीं निकल रही थी. मैं वकील हूं, मुकदमे लड़ना, कोर्ट में पेश होना मेरा पेशा है. लेकिन जिंदगी में आखिर कितने ऐसे मौके आते हैं, जब आपको लगे कि आपके होने का कोई अर्थ है. उस क्षण मुझे लगा था कि मेरे होने का कुछ अर्थ है. मेरा जीवन सार्थ

  • उप्र के डीजीपी का फर्जी एकाउंट बनाकर ठग से 40 हजार वापस लिए

    गोरखपुर: गोरखपुर के रहने वाले 10वीं क एक लड़के ने उत्तर प्रदेश के डीजीपी के नाम से फर्जी ट्विटर अकाउंट बना डाला. यही नहीं मामले को सुलझाने के लिए यूपी पुलिस को निर्देश भी दिए. लड़के के भाई से किसी ने 45 हजार रुपये ठग लिए थे, लेकिन पुलिस में श‍िकायत दर्ज होन के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई. इसी बात से परेशान होकर लड़के ने यह कदम उठाया.

  • मीडिया की घटिया रिपोर्टिंग पर पीटी ऊषा की लताड़, मगर इनको शर्म कब आएगी

    मीडिया की घटिया रिपोर्टिंग पर पीटी ऊषा की लताड़, मगर इनको शर्म कब आएगी

    21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत के शानदार प्रदर्शन को लेकर मीडिया में डिस घटिया तरीके से रिपोर्टिंग हो रही है उसे लेकर उड़नपरी पीटी ऊषा ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'रिपोर्टर- हरियाणा का लड़का जीता, दिल्ली की लड़की ने करके दिखाया...चेन्नई की लड़की, पंजाब का लड़का! क्या हम ऐसा बिना राज्य का नाम लिए नहीं कर सकते? क्या आपने कभी अमेरिका के रिपोर्टर से सुना है कि फ्लोरिडा के लड़के या टेक्सास की लड़की? या ऑस्ट्रेलिया में सुना है कि मेलबर्न की लड़की ने जीता?'

  • श्री मनोहर पर्रिकर का ‘झूठा पत्र’, जो ‘सही’ वजह से सुर्खियों में है!

    श्री मनोहर पर्रिकर का ‘झूठा पत्र’, जो ‘सही’ वजह से सुर्खियों में है!

    मनोहर परिकर जी कैंसर से जूझ रहे हैं, अस्पताल के विस्तर से उनका यह संदेश बहुत मार्मिक है, आप भी पढ़ें... इस संदेश के साथ गोआ के मुख्य मंत्री श्री मनोहर पर्रिकर का ये पत्र सोशल मीडिया में छाया हुआ है, जबकि हकीकत ये है कि श्री पर्रिकर ने ऐसा कोई पत्र नहीं लिखा, लेकिन इस पत्र का मजबून इस देश के नेताओँ की आँख खोलने वाला है.....प्रस्तुत है पर्रिकर जी का ये 'झूठा पत्र' जो उन्होंने कभी लिखा ही नहीं

  • खरीदी से लेकर बैंक के खाते का काम ऑनलाईन करने वाले ये जरुर पढ़ें

    एक बार मैं अपने अंकल के साथ एक बैंक में गया, क्यूँकि उन्हें कुछ पैसा कही ट्रान्सफ़र करना था।

  • हर एप आपकी जानकारी चुराता है, एप वालों के जाल में फँसने से ऐसे बचें

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ऐप 'नमो ऐप' को लेकर देश में बवाल मचा है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का आरोप है कि इस ऐप से डाटा चुराया जाता है और दुरुपयोग किया जाता है।

Back to Top