आप यहाँ है :

मध्य रेल्वे ने इस साल डेढ़ लाख लोगों को बगैर टिकट पकड़ा

मुंबई। मध्य रेल ने बिना/अनुचित टिकट पर यात्रा करने वालों के खिलाफ व्यापक सघन टिकट चेकिंग अभियान चलाया। इस के परिणाम स्वरूप, 2015 के अगस्त माह में 1.50 लाख लोगों को बिना/अनुचित टिकट पर यात्रा करते हुए पकड़ा जबकि गत वर्ष के इसी माह के दौरान 1.35 लाख लोगों को पकड़ा था, जो कि तुलनात्मक दृष्टि से 10.96% अधिक है। । इन यात्रियों से रु. 6.23 करोड़ की राशि जुर्माने की रूप में वसूल की, जबकि गत वर्ष के इसी माह के दौरान बिना/अनुचित टिकट पर यात्रा करने वालों से रु.5.54 करोड़ राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी थी, जो कि तुलनात्मक दृष्टि से 12.39% अधिक है।

वर्ष 2015 के अगस्त माह में 269 व्यक्ति दूसरे के नाम पर आरक्षित टिकट पर यात्रा करते हुए पकड़े गए एवं रु.2.19 लाख जुर्माने के रूप में वसूल की गयी।

उल्लेखनीय है कि मध्य रेल द्वारा चलाए जा रहे इस सघन टिकट चेकिंग अभियान में अप्रैल– अगस्त 2015 में 11.47 लाख लोगों को बिना/अनुचित टिकट पर यात्रा करते हुए पकड़ा जब कि गत वर्ष के इसी अवधि के दौरान 9.10 लाख लोगों को पकड़ा जो कि तुलनात्मक दृष्टि से 26.22% अधिक है।। इन यात्रियों से रु.59.63 करोड़ राशि जुर्माने के रूप में वसूल की, जब कि गत वर्ष के इसी अवधि के दौरान बिना/अनुचित टिकट पर यात्रा करने वालों से रु.44.32 करोड़ राशि जुर्माने के रूप में वसूल की गयी थी, जो कि तुलनात्मक दृष्टि से 34.54% अधिक है।

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top