आप यहाँ है :

बिहार दिवस समारोह मुंबई में शामिल हुए मुख्यमंत्री फडणवीस एवं उप मुख्य मंत्री सुशील मोदी

बिहार फाउंडेशन मुंबई के द्वारा मुंबई के षणमुखानंद हॉल में ११ अप्रैल को बिहार दिवस समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर मुख्य अतिथि के रूप में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में बिहार के उप- मुख्यमंत्री सुशील मोदी उपस्थित थे। कार्यक्रम की शुरुआत उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने की । बिहार फाउंडेशन मुंबई चैप्टर के उपाध्यक्ष अभय कुमार ने स्वागत भाषण दिया। मुंबई चैप्टर के अधयक्ष रवि शंकर श्रीवास्तव ने महाराष्ट्र एवं बिहार दोनों के मुख्यमंत्रियों से बिहार भवन के लिए जगह एवं बिहार से आनेवाले कैंसर मरीजों के लिए उचित व्यवस्था की मांग की। संस्था सचिव अहसान हुसैन एवं संयुक्त नलिन पांडेय , संयोजक रणवीर , ट्रेजरर निरंजन के अलावा बिहार स्पोर्ट्स एवं कल्चरल सोसाइटी के अध्यक्ष अनवर कमाल एवं सचिव सुखदेव शर्मा ने भी अतिथियों का स्वागत किया।

कार्यक्रम में अतिथि के रूप में पद्मश्री ब्रह्मदेव पंडित , बी ए आर सी के डायरेक्टर आर के सिन्हा, अभिनेता पंकज त्रिपाठी के आलावा अन्य कई गण्यमान्य अतिथि मंच पर उपस्थित थे। बिहार चैप्टर के संयुक्त प्रवक्ता मनोज सिंह राजपूत ने बताया कि प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी बिहार का मान रौशन करने वाले बिहारियों को बिहार ” फाउंडेशन सम्मान सम्मान ” एवं बिहारियों की मदद करकनाले गैर बिहारियों को ” बिहार – मित्र सम्मान ” दिया गया। इस कड़ी में अभिनेता पंकज त्रिपाठी को “बिहार फाउंडेशन सम्मान” तथा डॉ. अनिल मुरारका एवं सलीम खान को “बिहार मित्र सम्मान ” से महारष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के हांथो सम्मानित किया गया ।

कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि के रूप में आये सुशिल मोदी ने कहा कि अब बिहारियों को रोज़ी रोटी केलिए बहार जाने की जरूरत ही है। बिहार में ही काफी रोज़गार पैदा हो रहे है. . गली गली सड़के बन गई है। घर घर बिजली पहुंच चुकाहै। उन्होंने कहा “बिहारी जहा भी गए दूध में शक्कर की तरह घुल मिल गए। बहुत मेहनत किया। आपलोग जहा भी रहिये वह की सस्थानीय भाषा सीखिए इससे व्यापर में आसानी होती है। कार्यक्रमके मुख्य अतिथि ,महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने जी भर कर बिहार एवं बिहारियों की तरफ की ।

उन्होंने कहा “लोग कहतें हैं कि बिहार पिछड़ा है लेकिन मैं नहीं मानता । बिहार ने दुनियां को पहला लोकतंत्र दिया , पहला विश्व विद्यालय दिया। शांति का सन्देश दिया। बुद्ध , महावीर , चाणक्य , की धरती है ज्ञान की धरती है। उन्होंने बिहारियों को हिम्मत देते हुए कहा कि चाहे जो बजी काम करतें हो निश्चिन्त हो कर करिये हम आपके साथ है। आपने मुझे बिहार मित्र सम्मान नहीं दिया फिर भी है आपके सबसे बड़े बिहार मित्र हैं । मुंबई को ग्लोबल सिटी बनाने में आप सभी बिहारी भाइयों का भी काफी योगदान है । हम आपकी आस्था के कायल हैं , इसलिए छथि मैया की पूय के समय सभी समुद्र किनारों का साफसफाई सरकार करा देती है। हम आपके हर दुःख सुख में साथ हैं। और वादा करतें है कि अगले साल भी जरूर आएंगे । ” इस अवसर पर संस्रृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमे बिहार एवं महाराष्ट्र की संस्कृति का सनम देखने को मिला। बिहार की प्रसिद्ध लोक गायिका रंजना झा ने मैथिलि भोजपुरी मगही में गीत गाकर लोगो का मनोरंजन किया।

प्रेषक
मनोज सिंह राजपूत
सं. प्रवक्ता
बिहार फाउंडेशन मुंबई
9867311511



सम्बंधित लेख
 

Back to Top