ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

एक साधक सुंदरी के सामने लाचार हुआ चीन

चीन में जन्मी अनास्तासिया लिन 13 वर्ष की आयु से कनाडा की नागरिक है। 2015 में, विश्व सुंदरी स्पर्धा के लिए कनाडा की प्रतिनिधि चुने जाने के बाद उसके पास विकल्प था कि वह ग्लैमर और प्रसिद्धि की राह चुने या मानवाधिकार और स्वतंत्रता की, और उसने दुसरे को चुना। पिछले कुछ वर्षों से अनास्तासिया चीन में हो रहे मानवाधिकार हनन के विरुद्ध आवाज उठा रही है और चीन के लिए सरदर्द बनी हुई है।

सन 2015 में विश्व सुंदरी प्रतियोगिता चीन में हुए थी, लेकिन, न्यू यॉर्क टाइम्स के अनुसार, लिन को चीनी अधिकारियों नें देश में प्रवेश करने से रोक दिया। 2016 में वाशिंगटन में होने वाली विश्व सुंदरी प्रतियोगिता में लिन फाइनल स्तर तक पहुँच गयी। किन्तु ‘द ब्लीडिंग एज’ नामक फिल्म में अभिनय करने के कारण, उसे अमरीका के प्रिमिअर में उपस्थित होने से रोका गया क्योंकि इस फिल्म में चीन में फालुन गोंग अभ्यासियों पर हो रहे मानवाधिकार हनन के मामलों को उजागर किया गया था।

फालुन गोंग (जिसे फालुन दाफा भी कहा जाता है) बुद्ध और ताओ विचारधारा पर आधारित साधना अभ्यास है जिसका चीन में दमन किया जा रहा है, जबकि यह भारत सहित दुनियाभर में 114 से अधिक देशों में लोकप्रिय है। जबकि लिन सभी के लिए मानवाधिकार और स्वतंत्रता की पक्षधर है , यह उसका फालुन गोंग का अध्ययन था जिसने सर्व प्रथम उसे सक्रियता के लिए प्रेरित किया। चीन में इस अभ्यास पर पाबंदी लगी है, और माना जाता है कि बहुत से अभ्यासियों को बिना सुनवाही के कैदी बना दिया गया और उनपर बर्बर अत्याचार किये गए।

चीन की हिचकिचाहट इस बात से है कि लिन फालुन गोंग की एक मुखर समर्थक और सहायक है। चीन में फालुन गोंग के दमन का खुलासा दुनिया भर के सामने हो जाने पर चीनी कम्युनिस्ट पार्टी असमंजस में है।

यह क्यों हो रहा है? 26 वर्षीय लिन, सौन्दर्य प्रतियोगी होने के अतिरिक्त एक अभिनेत्री और मानवाधिकार कार्यकर्ता है, और वह चीनी सरकार के मानवाधिकार हनन की मुखर आलोचक रही है।

अनास्तासिया को विश्व मीडिया तक पहुँचने से रोकने में चीनी सरकार ने कोई भी चाल नहीं छोड़ी। पर वे अनास्तासिया लिन को किसी भी प्रकार से चुप करने में असंभव रहे। अपने पक्ष रखने के लिए उसे अन्य मंच मिल गए, और जैसे जैसे उसपर सेंसरशिप के प्रयास आक्रमक होते जा रहे हैं वैसे ही उस पर लोगों का ध्यान और अधिक केन्द्रित होता जा रहा है। चीन इस सौन्दर्य प्रतियोगी के साहस के आगे लाचार दिखाई दे रहा है।

अनास्तासिया अपने साहस और विश्वास को कनाडा के पूर्व प्रधानमंत्री की इन प्रसिद्ध पंक्तियों से बयान करती है।

“मैं एक कैनेडियन हूँ,
एक स्वतंत्र कैनेडियन,
बिना डरे बोलने के लिए स्वतंत्र ,
अपने तरीके से पूजा करने के लिए स्वतंत्र ,
जो मुझे उचित लगता है उसके पक्ष में खड़े रहने के लिए स्वतंत्र ,
जो मुझे अनुचित लगता है उसके विरुद्ध खड़े रहने के लिए स्वतंत्र ,
मेरे देश पर कौन शासन करेगा उसको चुनने के लिए स्वतंत्र ,
इस स्वतंत्रता की विरासत को बनाये रखने की प्रतिज्ञा लेता हूँ
अपने लिए और सर्वत्र मानवजाति के लिए “
—जॉन दिएफ़ेन्बकेर
कनाडा के 13 वे प्रधानमंत्री

साभार: द एपोक टाइम्स http://www.theepochtimes.com

प्रेषक
Archana Thakeria
Coordinator FIC
9920093985

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top