ताजा सामाचार

आप यहाँ है :

दिग्विजय महाविद्यालय में अभूतपूर्व उत्साह में दीक्षांत एवं पदक वितरण समारोह

राजनांदगांव: शासकीय दिग्विजय स्वशासी स्नातकोत्तर महाविद्यालय का 59वां दीक्षांत एवं वार्षिक पदक वितरण समारोह भव्यता पूूर्वक, गरिमामय वातारण में सम्पन्न हुआ। हजारों विद्यार्थियों की उत्साहपूर्ण उपस्थिति के बीच समारोह के मुख्य अतिथि विधायक एवं पीसीसी अध्यक्ष श्री भूपेश बघेल ने महाविद्यालय की दिव्य परंपरा और उपलब्धियों की मुक्तकंठ से सराहना की। उन्होंने हर क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन करने वाले संस्था के होनहारों को बधाई दी।

समारोह की अध्यक्षता कर रहे संस्कारधानी के महापौर श्री मधुसूदन यादव ने आयोजन के आकर्षक स्वरूप की सराहना करतेे हुए कहा कि महाविद्यालय के विकास के लिए निरंतर मदद की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस महाविद्याल के ऐतिहासिक महत्व के भूलन बाग को पुनः अस्तित्व में लाने के लिए रु.40.00 लाख का प्रावधान किया गया है। इसी प्रकार बूढा सागर के महाविद्यालय से लगे हिस्से का सौंदर्यीकरण करते हुए सुरक्षा के लिए दीवार का निर्माण किया जाएगा। महाविद्यालय में कम्प्यूटर के विस्तार के लिए विधायक निधि से मुख्यमंत्री जी द्वारा रु.5.00 लाख दिये जाऐंगे। महापौर श्री मधुसूदन यादव ने जोर देकर ने जोर देकर कहा कि महाविद्यालय के अधूरे आडिटोरियम का निर्माण हर हाल में फरवरी तक पूरा करवाया जाएगा। इसके अलावा महाविद्यालय के विकास की गति को तेज करने के हर संभव प्रयास किये जाएंगे।

प्रारंभ में संस्था के प्राचार्य डॉ. आर. एन. सिंह ने अपने उद्बोधन में महाविद्यालय गतिविधियों तथा उपलब्धियों के साथ-साथ इसकी तात्कालिक आवश्यकताओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने संकल्प के साथ कहा कि वर्तमान युग की मांग के अनुरूप महाविद्यालय को प्रदेश का सर्वश्रेष्ठ उच्च शिक्षा केन्द्र बनाने की दिशा में संस्था लगातार आगे बढ़ रही हैं। प्राचार्य डॉ. सिंह ने गर्वभाव के साथ कहा कि दिग्विजय कॉलेज को हर दौर में, हर मोड़ पर सबका सहयोग मिला है। यह सिलसिला जारी रहना चाहिए। इस अवसर पर सम्मानित मंच और महाविद्यालय परिवार द्वारा प्राचार्य डॉ आर. एन. सिंह का, नैक पीयर टीम का गौरवशाली सदस्य नियुक्त होने पर भावभीना सम्मान किया। छात्रसंघ अध्यक्ष ऋषि शास्त्री ने एकजुट होकर महाविद्यालय का नाम रोशन करने के लिए संकल्प दुहराते हुए आवाहन किया कि समाज के सभी वर्ग के लोग कॉलेज से ज्यादा जुड़ें और युवाओं को बेहतर प्रदर्शन के लिए मार्गदर्शन करें।

समारोह के विशिष्ट अतिथि भिालाई के महापौर श्री देवेन्द्र यादव, नगर निगम अध्यक्ष श्री शिव वर्मा, पूर्व महापौर श्री विजय पाण्डेय, समाजसेवी श्री श्रीकिशन खंडेलवाल, पूर्व नगर निगम अध्यक्ष श्री रमेश डाकलिया, समाजसेवी श्री दिनेश शर्मा, समाज सेवी श्री त्रिगुण टांक, समाजसेवी श्री निखिल द्विवेदी, समाजसेवी श्री मधुसूदन जोशी, समाजसेवी श्री पीयूष सिंह ठाकुर, श्री अलालीराम यादव, समाजसेवी श्री कुतुबुद्दीन सोलंकी, श्री जितेन्द्र मुदलियार, समाजसेवी श्रीमती हेमा देशमुख, समाजसेवी कमलजीत सिंह पिन्टू, श्री रशीद खान श्री रुबी गरचा,आदि मंचस्थ थे।

विशिष्ट अतिथियों में संस्था की प्रगति के लिए अपनी शुभकामनाएं दी। आगमन पर अतिथियों ने महंत राजा दिग्विजय दास की मूर्ति पर माल्यार्पण किया। अतिथियों के मंचस्थ होने से पूर्व संस्कृत विभाग के विद्यार्थियो द्वारा स्वस्ति वाचन कर स्वागत किया गया। उसके बाद सरस्वती पूजन के उपरांत छात्र-छात्राओं ने सरस्वती वंदना एवं स्वागत गान की सुमधुर प्रस्तुति दी। अतिथियों का स्वागत प्राचार्य डॉ सिंह, छात्रसंघ प्रभारी प्राध्यापक श्रीमती चन्द्रज्योति श्रीवास्तव के साथ छात्रसंघ के अध्यक्ष ऋषि शास्त्री, उपाध्यक्ष नागेश पठारी, सचिव सुमीत आजमानी, सह-सचिव कु. प्रीति वैष्णव व अन्य अनेक विद्यार्थियों ने किया। समारोह में डिप्लोमा और स्वर्ण मंडित पदक से पुरस्कृत शताधिक विद्यार्थियों के चेहरे खिल उठे। मंचस्थ श्री रमेश डाकलिया ने अपनी मातुश्री की स्मृति में स्वर्ण पदक देने के लिए रु. 10 हजार भेंट करने की घोषणा की।

दीक्षांत एवं पदक वितरण समारोह का प्रभावी एवं गरिमामय संचालन एवं आभार ज्ञापन प्राध्यापक डॉ चन्द्रकुमार जैन ने किया। इसके उपरांत विद्यार्थियो ने अभूतपूर्व उमंग व उल्लास के साथ आकर्षक व नयनाभिराम सांस्कृतिक प्रस्तुति से सभी का मन मोह लिया।
प्राचार्य

image_pdfimage_print


Get in Touch

Back to Top