आप यहाँ है :

महिला पहलवान दिव्या ने 3 मिनट में पुरुष पहलवान को धूल चटाई

लखनऊ महोत्सव के तहत गुरुवार को हरीशचंद्र इंटर कॉलेज में हुए दंगल में दिल्ली की दिव्या का दम सब पहलवानों पर भारी पड़ा। अखाड़े में ताल ठोक रहे कई पुरुष पहलवानों के होश तब फाख्ता हो गए, जब दिव्या ने उन्हें कुश्ती की चुनौती दे डाली। कुश्ती लड़ने को तैयार हुए कौशल नाम के पहलवान को दिव्या ने महज तीन मिनट में ही धूल चटा दी। दिव्या के दांव के आगे पुरुष पहलवान का कौशल धरा रह गया। दिव्या ने इस प्रतियोगिता में 18 हजार रुपये का इनाम भी जीता।

विदेशों में भी पटखनी दे रही हैं दिव्या: दिव्या ने बताया कि उन्होंने मंगोलिया में हुई प्रतियोगिता में दूसरा तो यूरोप में हुई चैंपियनशिप में पांचवां स्थान हासिल किया। फिलहाल वह मिनी ओलिंपिक में जाने की तैयारी कर रही हैं।

हरीशचंद्र इंटर कॉलेज में रामचंद्र पहलवान अखाड़ा की ओर से हुई पुरुष और महिलाओं की कुश्ती प्रतियोगिता गुरुवार को आकर्षण का केंद्र बनी। अखाड़े में झांसी की बालजी ने दिल्ली के धीरज को हराकर 21 हजार रुपये पुरस्कार के रूप में जीते। प्रतियोगिता में कुल 35 मुकाबले हुए। ढोल की गूंज के बीज हनुमान जी की प्रतिमा के सामने हुई कुश्ती में दिल्ली के मनदीप ने मथुरा के जय सिंह को हराकर 11 हजार रुपये जीते।

इसी क्रम में विवेक यादव ने अजय को शिकस्त देकर 11 हजार, विनीत यादव ने राजीव को परास्त कर 5100, धीरेंद्र ने शिवा को पटखनी देकर 1100 रुपये जीते। उधर, कई मुकाबले बराबरी पर भी छूटे। इसमें नंदनी और शालू, गरिमा और सोनिका, मेघना और संतोष, चंदन और अशोक थे। वहीं, महिलाओं की कुश्ती में बनारस की पूजा यादव ने सोनिका को भांगड़ी पटखनी देकर 1100 रुपये जीते। सोनाली सरकार ने नीलम तोमर को पटखनी दी।

महिला कुश्ती के लिए रिश्तेदारों का विरोध: वाराणसी से आईं सोनाली सरकार राष्ट्रीय स्तर पर तीसरा स्थान हासिल कर चुकी हैं। उन्होंने बताया कि परिवारवाले महिला कुश्ती के लिए तैयार हो जाते हैं पर रिश्तेदार और पड़ोसी महिलाओं की इसमें साझेदारी को सही नहीं मानते। कई बार उन्होंने इसका विरोध भी किया। परिवार में उनकी बहन नंदिनी भी पहलवान हैं।

साभारः नवभारत टाईम्स से

.

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top