Tuesday, March 5, 2024
spot_img
Homeखबरेंजय मिनेश आदिवासी विश्वविद्यालय में दीपावली मिलन समारोह

जय मिनेश आदिवासी विश्वविद्यालय में दीपावली मिलन समारोह

कोटा। बदलते भारत में स्टार्टअप, इनोवेशन ,रोजगार उन्मुख शिक्षा की परिकल्पना को जय मिनेश आदिवासी विश्वविद्यालय साकार करेगा। समाज द्वारा आर्थिक एवं सामाजिक परिवर्तन के लिए शिक्षा के क्षेत्र में विश्व विद्यालय निर्माण के प्रति समाज का समर्पण सराहनीय है यह बात लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने रविवार को जय मिनेश आदिवासी विश्वविद्यालय रानपुर में आयोजित हुए स्टूडेंट ब्लॉक व खेल संकुल के शिलान्यास एवं दीपावली मिलन समारोह बतौर मुख्य अतिथि शामिल होकर कहीं।

स्पीकर बिरला ने अपने संबोधन में कहा कि आदिवासी समाज का देश की आजादी और विकास में महत्वपूर्ण योगदान रहा है उन्होंने स्वतंत्रता सनानी भेरूलाल काला बादल के संघर्ष की याद दिलाते हुए समाज द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किये गए विश्वविद्यालय निर्माण के महत्वपूर्ण कार्य के लिए सभी को शुभकामनाएं दी।

समारोह की अध्यक्षता कर रहे हैं राजस्थान सरकार के नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने इस मौके पर समाज की एकजुटता समर्पण एवं विश्वविद्यालय निर्माण के प्रति प्रतिबद्धता की तारीफ करते हुए कहा कि यह विश्वविद्यालय विश्व स्तर पर अपनी पहचान बनाएगा। मंत्री शांति धारीवाल ने अपने संबोधन में कहा कि जब जब भी समाज ने सहयोग की मांग की है सरकार ने समाज की प्रतिबद्धता एवं समर्पण के मध्य नजर हमेशा सहयोग किया है । रिकॉर्ड समय विश्वविद्यालय के निर्माण ने समाज की ताकत और विजन को साबित कर दिखाया हैं। उन्होंने समिति एवं समाज के लोगों को विश्व विद्यालय निर्माण पर शुभकामनाएं दी।

इससे पूर्व लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने विश्वविद्यालय के स्टूडेंट ब्लॉक एवं खेल संकुल का विधिवत पूजा अर्चना कर शिलान्यास कर विश्वविद्यालय परिसर का अवलोकन किया । समारोह के दौरान बड़ी संख्या में प्रदेशभर से आए समाज के बंधु मौजूद रहे विभिन्न प्रतिनिधि मंडलों की ओर से अतिथियों का स्वागत किया गया।

समिति के निर्देशक एवं कोटा नगर विकास न्यास के विशेष अधिकारी आर डी मीणा ने विश्ववद्यालय निर्माण के सफर एवं विस्तार के साथ सरकार और समाज द्वारा दिए गए शिक्षा के मंदिर में सहयोग पर आभार जताते हुए प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए कहा कि विश्वविद्यालय वर्ल्ड क्लास सुविधाओं के साथ विकसित हुआ है यह विश्वविद्यालय नालंदा तक्षशिला विश्वविद्यालय की तर्ज पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त करेगा जिस परिकल्पना के साथ हम आगे बढ़ रहे हैं यह विश्वविद्यालय सामान्य कोर्सेज के साथ प्रोफेशनल कोर्सेज एवं आदिवासी परंपरा एवं संस्कृति की शोध का भी बड़ा केंद्र बनेगा ।

कार्यक्रम में समिति के अध्यक्ष एवं विधायक लक्ष्मण मीणा ने विश्वविद्यालय निर्माण के विचार से लेकर विश्वविद्यालय निर्माण में महत्वपूर्ण सहयोग देने पर नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल का आभार जताते हुए समाज द्वारा दिए गए योगदान की सराहना करते हुए कहा कि इस सहयोग को पीढ़ियां याद रखेगी। समारोह को संबोधित करते हुए यूडीएच मुख्य एवं प्रभारी सचिव कुंजीलाल मीणा ने विश्वविद्यालय निर्माण में समाज के हर तबके के सहयोग,समर्पण की तारीफ करते हुए शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व कदम बताया।

समारोह के दौरान प्रदेशभर से आए समाज के बंधुओं एवं विभिन्न प्रतिनिधि मंडलों की ओर से अतिथियों का स्वागत सम्मान किया गया इस दौरान समाज के वरिष्ठ जनों का भी अतिथियों द्वारा स्मृति चिन्ह व शॉल ओढ़ाकर सम्मान किया गया। समारोह में समाज की महिलाओं ने भी अतिथियों का सम्मान किया और विश्वविद्यालय निर्माण के लिए सहयोग पर आभार व्यक्त किया। समारोह में लोकसभा स्पीकर ओम बिरला और यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल दोनों शख्सियतों को अपने बीच पाकर समाज बंधु खासे उत्साहित नजर आए। कार्यक्रम के दौरान उम्मीद अभी बाकी है नामक पुस्तक का विमोचन भी अतिथियों द्वारा किया गया।

इस मौके पर उपाध्यक्ष कमला मीणा कांग्रेस नेता अमित धारीवाल ,उप महापोर पवन मीणा, पूर्व जिला प्रमुख महावीर मीणा, भरत मारन, बूंदी जिला अध्यक्ष रामेश्वर मीणा, आनंदी लाल मीणा जिलाध्यक्ष रविन्द्र त्यागी, डॉ जफर मोहम्मद, बंसी लाल मीणा गिर्राज मीणा ,मुख्य अभियंता के एल मीणा, गणेश राम मीणा, आर पी मीणा , दीनदयाल मीणा पुष्प चंद मीणा मनोहर लाल मीणा सुरेश मीणा कमल मीणा, ललित कुमार मीणा सहित समिति के पदाधिकारी समाज के बंधु मौजूद रहे।
———–

image_print

एक निवेदन

ये साईट भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति को समर्पित है। हिंदी के विद्वान लेखक अपने शोधपूर्ण लेखों से इसे समृध्द करते हैं। जिन विषयों पर देश का मैन लाईन मीडिया मौन रहता है, हम उन मुद्दों को देश के सामने लाते हैं। इस साईट के संचालन में हमारा कोई आर्थिक व कारोबारी आधार नहीं है। ये साईट भारतीयता की सोच रखने वाले स्नेही जनों के सहयोग से चल रही है। यदि आप अपनी ओर से कोई सहयोग देना चाहें तो आपका स्वागत है। आपका छोटा सा सहयोग भी हमें इस साईट को और समृध्द करने और भारतीय जीवन मूल्यों को प्रचारित-प्रसारित करने के लिए प्रेरित करेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

लोकप्रिय

उपभोक्ता मंच

- Advertisment -spot_img

वार त्यौहार