आप यहाँ है :

डोनाल्ड ट्रंप भारत लेकर आ रहे हैं दुनिया की सबसे खतरनाक रहस्यमयी ‘फुटबॉल’

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और पत्नी मेलानिया ट्रंप 24-25 फरवरी को भारत दौरे पर आ रहे हैं, जिसे लेकर यहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। अहमदाबाद, आगरा से लेकर दिल्ली तक अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सुरक्षा अभेद होगी। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जब अपनी पत्नी के साथ भारत दौरे पर आएंगे तब उनके साथ न सिर्फ उनकी सुरक्षा टीम होगी, बल्कि एक ‘न्यूक्लियर फुटबॉल’ भी होगा।

दरअसल, अमेरिकी राष्‍ट्रपति हमेशा अपने साथ ‘न्यूक्लियर फुटबॉल’ रखते हैं। इस फुटबॉल की अहमियत का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यह पल भर में दुनिया को तबाह कर सकता है। इस न्यूक्लियर फुटबॉल को सीक्रेट ब्रीफकेस भी कहा जाता है, जिसे उनके सुरक्षा में लगे टॉप जवान हाथ में लिए रहते हैं। अन्य जवान के हाथ में हथियारों से लैस एक ब्रीफकेस भी होता है ताकि जब भी कोई यह न्यूक्लियर फुटबॉल छीनने की कोशिश करे तो उससे बचाया जा सके।

परमाणु हमले के लिए सीक्रेट कोड और अलार्म से लैस इस ब्रीफकेस को न्यूक्लियर फुटबॉल के नाम से जाना जाता है। हालांकि, यह असल वाला फुटबॉल नहीं होता। काले रंग का यह टॉप सीक्रेट ब्रीफकेस दुनिया का सबसे शक्तिशाली ब्रीफकेस माना जाता है। इसे अमेरिका के राष्ट्रपति अपने पास हमेशा रखते हैं, जिसमें संचार उपकरण होते हैं जो उन्हें परमाणु हमले की इजाजत देता है।

डेलीमेल के मुताबिक, 1962 के बाद से अमेरिका के हर राष्ट्रपति के साथ यह न्यूक्लियर फुटबॉल साथ होता है। इसे इस उद्देश्य से तैयार किया गया ताकि अमेरिकी राष्ट्रपति के पास हमेशा परमाणु युद्ध के विकल्प मौजद रहें। कभी-कभी अमेरिकी राष्ट्रपति अपने हाथ में भी लेकर रखते हैं तो कभी उनके साथ रहने वाले सुरक्षाकर्मी।

न्यूक्लियर फुटबॉल तीन हैं। एक राष्ट्रपति के साथ होता है, एक उपराष्ट्रपति के साथ और एक व्हाइट हाउस में सुरक्षित रखा जाता है। न्यूक्लियर फुटबॉल कहने जाने वाले इस ब्रीफकेस के भीतर एक छोटा सा एंटिना लगा संचार उपकरण होता है जो सैटेलाइट फोन से हमेशा जुड़ा होता है। इसके जरिए अमेरिकी राष्‍ट्रपति दुनिया के किसी भी कोने से तुरंत बात कर सकते हैं और गाइड कर सकते हैं। इसमें 75 पेज की एक किताब भी होती है, जो राष्ट्रपति को परमाणु हमले से संबंधित सारे विकल्पों से सूचित करता है। इतना ही नहीं, इस किताब में इस बात की भी जानकारी है कि परमाणु हमले के वक्त राष्ट्रपति को कहां छिपाया जा सकता है। यानी इस किताब में अमेरिका के परमाणु हमले की पूरी योजना और टारगेट की पूरी जानकारी होती है।

दस पन्ने के फोल्डर में सैन्य नेताओं के कॉन्टैक्ट विवरण होते हैं। इसके अलावा, इसी ब्रीफकेस के अंदर एक ब्राडकॉस्‍ट सिस्‍टम होता है। इसमें पूरी तरह से सील किया और लेमिनेटेड कार्ड होता है, जिसे बिस्कुट कहा जाता है। यह बिस्कुट एक बड़े क्रेडिट कार्ड की तरह होता है, जिस पर परमाणु हमले की पुष्टि के लिए अक्षर और नंबर में गोल्ड कोड लिखे होते हैं।

परमाणु हमला करने की स्थिति में अमेरिकी राष्ट्रपति लॉन्च कोड के जरिए यह तय करेंगे कि कहां हमला करना है। इस बिस्किट यानी कार्ड में अलार्म लगे होते हैं। बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप जब भारत दौरे पर होंगे तो उनके साथ यह न्यूक्लियर फुटबॉल भी होगा, जिस पर सबकी नजरें होंगी।

साभार-https://www.livehin से

image_pdfimage_print


सम्बंधित लेख
 

Back to Top